comScore

बयान: RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले- राष्ट्रवाद शब्द का इस्तेमाल न करें

बयान: RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले- राष्ट्रवाद शब्द का इस्तेमाल न करें

हाईलाइट

  • भारत ही कर सकता है दुनिया की अगुवाई- मोहन भागवत
  • राष्ट्रवाद शब्द में हिटलर की झलक- भागवत

डिजिटल डेस्क, रांची। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने एक बड़ा बयान दिया है। भागवत ने कहा कि राष्ट्रवाद (Nationalism) जैसे शब्द में हिटलर (Hitler) और नाजी (Nazi) की झलक मिलती है। आरएसएस प्रमुख (RSS Chief) रांची के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि आरएसएस का विस्तार देश के लिए है क्योंकि हमारा लक्ष्य भारत को विश्वगुरु बनाना है। 

भागवत ने कहा, 'राष्ट्रवाद जैसे शब्द का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इसका मतलब नाजी या हिटलर से निकाला जा सकता है। ऐसे में राष्ट्र या राष्ट्रीय जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।' उन्होंने कहा कि दुनिया के सामने इस समय कट्टरपंथ, आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दे बड़ी चुनौती हैं। 

 राहुल गांधी के करीबी नेता जा सकते हैं राज्यसभा, जानें लिस्ट में हैं किस-किस के नाम

उन्होंने कहा कि दुनिया के सामने जो बड़ी दिक्कत हैं, उनका हल सिर्फ भारत कर सकता है। ऐसे में हमें दुनिया का नेतृत्व करने की सोचना चाहिए। देश की एकता ही असली ताकत है। इसका आधार अलग हो सकता है, लेकिन मकसद नहीं। हिंदुत्व के मुद्दे पर भागवत ने कहा, हिंदू ही एक ऐसा शब्द है जो भारत को दुनिया के सामने सही तरीके से पेश करता है। भले ही देश में कई धर्म हों, हालांकि हर शख्स एक शब्द से जुड़ा है जो हिंदू है। ये शब्द देश की संस्कृति को दुनिया के सामने दर्शाता है। 

आरएसएस प्रमुख ने कहा, संघ देश में विस्तार के साथ हिंदुत्व के एजेंडे पर आगे बढ़गा। जो देश को जोड़ने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि हम सभी को मानवता के साथ जीना सीखना चाहिए। इसके लिए देश से प्यार करना होगा। 

कमेंट करें
pS0Nn