दैनिक भास्कर हिंदी: बेबस होकर देखती रही UP पुलिस, साध्वी प्राची ने कासगंज में निकाली तिरंगा यात्रा

January 27th, 2019

हाईलाइट

  • चंदन के परिवार से मिलीं साध्वी
  • 300 मीटर लंबी यात्रा निकाली
  • 26 जनवरी 2016 में हुई थी हिंसा

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) नेता साध्वी प्राची ने उत्तर प्रदेश के कासगंज में गणतंत्र दिवस पर तिरंगा रैली निकाली। काफी देर तक पुलिस के मना करने के बावजूद साध्वी प्राची ने न सिर्फ रैली निकाली, बल्कि काफी देर तक पुलिस से बहस भी की।

इससे पहले सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने 25 जनवरी को कासगंज में मार्च निकाला था। मामला संवेदनशील होने के कारण पुलिस काफी सावधानी बरतकर चल रही थी, लेकिन साध्वी प्राची 26 जनवरी को उपद्रवियों की गोली का शिकार हुए चंदन गुप्ता के घर पहुंची और शहर में तिरंगा यात्रा निकालने की जिद पर अड़ गईं।  
 
पुलिस सके मना करने के बाद साध्वी प्राची ने शहर में 300 मीटर की तिरंगा यात्रा निकाली। इसके बाद उन्होंने पुलिस को भी जमकर कोसा। साध्वी ने कहा कि तिरंगा यात्रा पर प्रतिबंध लगाना गलत है। उन्होंने कहा कि तिरंगा यात्रा कासगंज में नहीं तो क्या पाकिस्तान में निकाली जाएगी।

बता दें कि किसी घटना से निपटने के लिए इस बार कासगंज में काफी इंतजाम किए गए थे। शहर में भारी तादाद में पुलिस तैनात थी। साध्वी प्राची रैली निकालने पर अड़ गईं थी, जिससे माहौल खराब हो सकता था, लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं होने दिया। कासगंज एसपी अशोक कुमार के मुताबिक 85 पॉइंट को चिन्हित किया गया था। तकरीबन 250 जवानों की फोर्स को दूसरे जनपद से भी बुलाया गया था।

चंदन गुप्ता के नाम पर कासगंज में बनेगा चौक
26 जनवरी 2018 को निकाली गई तिरंगा यात्रा के दौरान हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता के नाम पर एक चौक का नाम रखा जाएगा। चौक का नाम चंदन चौक होगा। प्रशासन ने चंदन के परिवार के किसी एक शख्स को नौकरी देने का ऐलान किया है। बता दें कि इस मामले में 121 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया था और 8 मुकदमे दर्ज हुए थे। हिंसा के बाद पुलिस ने दो कारतूस के साथ एक डीबीएल बंदूक  और 8 खोखा कारतूस के साथ एसबीबीएल देशी कारतूस बरामद किए थे।
 

 

 

खबरें और भी हैं...