comScore

कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष होंगे शिंदे ! कभी बीजेपी ने दिया था ऑफर

कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष होंगे शिंदे ! कभी बीजेपी ने दिया था ऑफर

हाईलाइट

  • वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे होंगे कांग्रेस ने नए अध्यक्ष !
  • शिंदे के नाम पर पार्टी हाईकमान समेत कई नेताओं ने दी सहमति
  • जल्द ही शिंदे के नाम पर हो सकती है अधिकारिक घोषणा

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष पद की तलाश अब लगभग खत्म हो चुकी है। वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे को पार्टी की कमान सौंपा जाना लगभग तय माना जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक शिंदे के नाम पर पार्टी हाईकमान और कई वरिष्ठ नेता मुहर लगा चुके हैं। हालांकि अभी इसका अधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है। शिंदे का नाम सबसे आगे होने के पीछे प्रमुख वजह आने वाले महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव, दलित चेहरा, मुंबई से मिलने वाला पार्टी फंड और एनसीपी को फिर से कांग्रेस में विलय कराने की संभावनाएं हैं। 

सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने लगभग सुशील कुमार शिंदे को अगला अध्यक्ष बनाने का मन बना लिया है। इससे पहले तक इस दौड़ में शामिल मल्लिकार्जुन खड़गे, गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत, जनार्दन द्विवेदी से लेकर एके एंटनी और मुकुल वासनिक के नाम पर भी चर्चा की गई थी। बता दें कि सुशील कुमार शिंदे महाराष्ट्र के जाने माने दलित नेता हैं। हालांकि, वह भी इस बार लोकसभा चुनाव हार गए थे। शिंदे से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम की सबसे ज्यादा चर्चा थी, लेकिन राहुल गांधी इस वक्त राजस्‍थान में कोई रिस्क नहीं चाहते हैं।क्योंकि राजस्‍थान में सत्ताधारी कांग्रेस और विपक्ष बीजेपी के बीच बहुत ज्यादा अंतर नहीं है। ऐसे में अगर अनुभवी अशोक गहलोत वहां से निकल जाते हैं तो कांग्रेस के लिए खतरे बढ़ जाते हैं। राहुल गांधी ये नहीं चाहते हैं।

बता दें कि शिंदे दशकों से वे गांधी परिवार के विश्वस्त बने हुए हैं। उन्हें राजनीति में लाने का श्रेय शरद पवार को जाता है, लेकिन बात जब कांग्रेस और अपने गुरु के बीच चुनने की आई, तो उन्होंने कांग्रेस को चुना। यही नहीं, जब वे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के सबसे प्रबल दावेदार ‌थे उस वक्त उन्हें आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बना दिया, लेकिन उन्होंने इसका रत्तीभर विरोध नहीं किया। शिंदे और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रिश्ते मधुर आज भी पहले की तरह मधुर हैं।

दरअसल यूपीए 2 की सरकार में जब सुशील कुमार शिंदे केंद्रीय गृहमंत्री थे, तब नरेंद्र मोदी गुजरात मुख्यमंत्री हुआ करते थे। उस वक्त कई बार मोदी को सुशील कुमार शिंदे से बातचीत करने की जरूरत पड़ी थी। बताया जाता है कि उसी दौर में इन दोनों नेताओं के रिश्ते काफी अच्छे हो गए थे। इस बात का खुलासा खुद सुशील कुमार शिंदे ने किया था। शिंदे ने कहा था कि सुशील कुमार शिंदे की बेटी प्रणिती शिंदे महाराष्ट्र की सोलापुर सीट से विधायक हैं। सुशील शिंदे ने कहा था कि बीजेपी लंबे समय से प्रणिती शिंदे को बीजेपी में शामिल होने का ऑफर दे रही है, लेकिन अब बीजेपी मुझे भी यही ऑफर कर रही है। हालांकि बाद में बीजेपी नेता विनोद तावड़े ने इसे नकार दिया था।
 

कमेंट करें
tquZl