दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली: कांग्रेस की शर्मनाक हार, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा बोली- हम क्या कर रहे हैं?

February 12th, 2020

हाईलाइट

  • दिल्ली चुनाव में कांग्रेस का नहीं खुला खाता
  • शर्मिष्ठा मुखर्जी ने उठाए पार्टी निर्णय पर सवाल
  • कहा- आत्ममंथन बहुत हुआ अब कार्रवाई करने का समय है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने जबरदस्त प्रदर्शन को दोहराते हुए 62 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं भाजपा (BJP) के खाते में 8 सीटें आई। 2015 की तरह कांग्रेस(Congress) का सूपड़ा साफ रहा। पार्टी के 63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई है। कांग्रेस की इस शर्मनाक हार पर कई दिग्गज नेताओं ने पार्टी की रणनीति पर सवाल खड़े कर दिए है। कांग्रेस वरिष्ठ नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी (Sharmistha Mukherjee) ने कहा कि हम दिल्ली फिर हाए गए। आत्ममंथन बहुत हुआ अब कार्रवाई करने का समय है। शीर्ष स्तर पर निर्णय लेने में देरी, राज्य स्तर पर रणनीति और एकजुटता का अभाव के कारण हारे है। मैं अपने हिस्से की जिम्मेदारी स्वीकार करती हूं।

केजरीवाल स्मार्ट पॉलिटिक्स कर रहे हैं
उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) स्मार्ट पॉलिटिक्स और भाजपा विभाजकारी राजनीति कर रहे हैं, हम क्या कर रहे हैं? शर्मिष्ठा ने कहा, क्या हम ईमानदारी से कह सकते हैं कि हमने घर को व्यवस्थित रखने के लिए पूरा प्रयास किया। बता दें कांग्रेस का वोट प्रतिशत 2015 के 9.7 से घटकर 4.2 रह गया है। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को 24.55 फीसदी वोट मिले थे। 

AAP Winning Delhi: अरविंद केजरीवाल के फ्री स्कीम का चल गया जादू, BJP के दिग्गज नेता हुए फेल

63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त
दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सबसे खराब प्रदर्शन रहा। पार्टी को पांच फीसदी से कम वोट मिले हैं। कांग्रेस के 63 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई। पूर्व मुख्यमंत्री और दिवंगत शीला दीक्षित के नेतृत्व में दिल्ली में कांग्रेस ने 15 साल शासन किया, लेकिन लगातार दूसरी बार चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई। सिर्फ तीन उम्मीदवार अरविंदर सिंह लवली, देवेंद्र यादव और अभिषेक दत्त ही अपनी जमानत बचा पाए।