दैनिक भास्कर हिंदी: अनंत हेगड़े के बयान पर शशि थरूर बोले- वो 'हिंदू पाकिस्तान' बनाना चाहते हैं

December 28th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े के 'संविधान दबलने' वाले बयान पर अब सियासत भी गर्मा गई है। बुधवार को जहां राज्यसभा में अनंत हेगड़े के बयान पर जमकर हंगामा हुआ वहीं इस बीच कांग्रेस के सीनियर लीडर और सांसद शशि थरूर ने भी एक बयान दिया है। शशि थरूर ने ट्वीट कर अनंत हेगड़े पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि 'हिंदुत्ववादी लोग हिंदू पाकिस्तान बनाना चाहते हैं।' बता दें कि सोमवार (25 दिसंबर) को अनंत हेगड़े ने एक कार्यक्रम में कहा था कि बीजेपी यहां संविधान बदलने के लिए ही आई है। वहीं बीजेपी ने हेगड़े के बयान से किनारा कर लिया है।

 

 


क्या कहा शशि थरूर ने? 

कांग्रेस के सीनियर लीडर शशि थरूर ने गुरुवार को अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है, जिसमें लिखा है 'कई लोगों का कहना है कि संविधान में 100 से ज्यादा बार अमेंडमेंट किया गया है। सरकार के पास अमेंडमेंट करने का पूरा अधिकार है। हिंदुत्ववादियों ने इस विचार को मानने से इनकार कर दिया है कि हमारा देश एक राज्य है और यहां सभी विचार के लोग रहते हैं। वो चाहते हैं हिंदू राष्ट्र: हिंदू पाकिस्तान।'

 



शेखर गुप्ता के ट्वीट का दिया जवाब

दरअसल, शशि थरूर ने ये ट्वीट सीनियर जर्नलिस्ट शेखर गुप्ता का जवाब है। मंगलवार को शेखर गुप्ता ने भी अनंत हेगड़े के दिए बयान में एक ट्वीट किया था। इस ट्वीट में उन्होंने लिखा था कि 'बीजेपी सरकार के मंत्री अनंत कुमार हेगड़े का संविधान बदलने का दावा हिंदुत्व की जड़ों में ही है। उन्होंने सिर्फ वही कहा जो आरएसएस चाहता है।'

हेगड़े के जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम

वहीं ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन के नेता गुरुशांत पट्टेदार ने अनंत हेगड़े की जुबान काटने पर 1 करोड़ का इनाम देने का ऐलान किया। बुधवार को मीडिया से बातचीत के दौरान AIMIM नेता गुरुशांत पट्टेदार ने कहा कि 'अनंत कुमार हेगड़े ने पिछड़ी जाति और अल्पसंख्यकों के लिए बहुत अपमानजनक बातें कही हैं। इसलिए आज मैं ऐलान करता हूं कि जो कोई भी दिन खत्म होने से पहले हेगड़े की जुबान काट कर लाएगा उसे मैं 1 करोड़ रुपए का इनाम दूंगा।'

अनंत हेगड़े के बयान पर राज्यसभा में हंगामा

इसके अलावा राज्यसभा में अनंत हेगड़े के बयान पर बुधवार को हंगामा भी हुआ। राज्यसभा में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि 'अगर किसी व्यक्ति को संविधान पर भरोसा नहीं है, तो उसे सांसद बने रहने का अधिकार नहीं है।' इसके बाद विपक्षी सांसद राज्यसभा स्पीकर के पास तक आ गए और 'मंत्री को बर्खास्त करो' के नारे लगाने लगे। जिसके बाद हंगामा बढ़ते देख राज्यसभा की कार्यवाही को भी स्थगित कर दिया।

क्या कहा था अनंत हेगड़े ने? 

दरअसल, सोमवार को एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने संविधान बदलने की बात कही थी। उत्तर कन्नड़ से 5 बार लोकसभा सांसद रहे अनंत हेगड़े ने सोमवार को कहा था कि 'मुझे खुशी होगी कि अगर कोई गर्व के साथ ये दावा करे कि वो मुस्लिम, ईसाई, ब्राह्मण या हिंदू है, क्योंकि वो अपनी रगों में बह रहे खून के बारे में जानता है।' उन्होंने आगे कहा कि 'लेकिन मुझे ये नहीं पता कि उन्हें क्या कहकर बुलाया जाए, जो खुद को धर्मनिरपेक्ष बताते हैं।' उन्होंने आगे कहा था कि 'हम संविधान का सम्मान करते हैं, लेकिन ये आने वाले दिनों में बदलेगा। हम उसी के लिए यहां आए हैं।'