comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

शिवसेना नेता संजय राउत बोलें,  कांग्रेस का इस तरह से पतन होना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं, केजरीवाल 26 को सूरत जाएंगे   

शिवसेना नेता संजय राउत बोलें,  कांग्रेस का इस तरह से पतन होना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं, केजरीवाल 26 को सूरत जाएंगे   

हाईलाइट

  • अमित शाह ने कहा कि गुजरात भारतीय जनता पार्टी का गढ़ के रूप में खुद को प्रस्थापित करता है।
  • रविंद केजरीवाल ने कहा, मैं 26 फरवरी को सूरत आ रहा हूं आपका शुक्रिया करने।
  • शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि, सूरत में AAP को चुन गया तो अब कांग्रेस को सोचना पड़ेगा

डिजिटल डेस्क (भोपाल)। गुजरात नगर निगम के चुनावों में बीजेपी की जीत पर अन्य पार्टियों की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है। सभी 6 नगर निगम में भाजपा ने विजय हासिल की है। कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि, इसकी वजह आम आदमी पार्टी का शानदार प्रदर्शन और बीजेपी की बी टीम कही जाने वाली असदुद्दीन ओवैस की AIMIM पार्टी ने कांग्रेस के वोट काटने का काम किया। इसलिए बीजेपी की जीत आसान होती चली गई। बिहार में भी बीजेपी की बी टीम AIMIM ने सत्ता पक्ष को अच्छा खासा लाभ पहुंचाया है। 

इधर, जीत के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि गुजरात में म्युनिसिपल कॉरपोरेशन चुनाव के नतीजे दिखाते हैं कि गुजरात भारतीय जनता पार्टी का गढ़ के रूप में खुद को प्रस्थापित करता है। भाजपा ने  85% सीटें जीती हैं। उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात के नगर निगम चुनाव में AAP का शानदार प्रदर्शन हुआ है। मैं गुजरात के लोगों का तहे दिल से शुक्रिया करना चाहता हूं। मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं हमारा एक-एक उम्मीदवार अपनी जिम्मेदारी पूरी इमानदारी से निभायेगा। उन्होंने कहा कि गुजरात ने एक नई राजनीति की शुरूआत की है-इमानदार राजनीति, काम की राजनीति, अच्छे स्कूलों की राजनीति, सस्ती और 24 घंटों की बिजली की राजनीति, अच्छे अस्पतालों की राजनीति। हम सब मिलकर गुजरात को संवारेंगे । मैं 26 फरवरी को सूरत आ रहा हूं आपका शुक्रिया करने। 

वहीं, शिवसेना नेता संजय राउत  ने कहा कि, सूरत में AAP को चुन गया तो अब कांग्रेस को सोचना पड़ेगा और हम सबको भी सोचना पड़ेगा। कांग्रेस जैसे पार्टी को गुजरात और अन्य राज्यों ने नकारा है, कांग्रेस का इस तरह से पतन होना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। पुडुचेरी और मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार चली गई। 

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने इस चुनाव में 489 यानी 85% और कांग्रेस ने 46 यानी 8% सीटें जीतीं, लेकिन चौंकाने वाले नतीजे अहमदाबाद और सूरत से आए। अहमदाबाद में ओवैसी की पार्टी AIMIM के 7 पार्षद चुने गए। वहीं, सूरत में पहली बार आम आदमी पार्टी के 27 पार्षद जीतकर आए।

कमेंट करें
XnOJj
कमेंट पढ़े
राहुल शर्मा February 24th, 2021 15:52 IST

दैनिक भास्कर के नाम पर आप लोग कचरा कर रहे हैं। वेबसाइट का लुक देखें एक दम टट्टी है। वह सब ठीक चलों पर खबरों में व्याकारण की इतनी गलतियां। शर्म की बात है।