दैनिक भास्कर हिंदी: J&K: पुलवामा में बीजेपी नेता अनवर खान पर आतंकी हमला, सुरक्षाकर्मी घायल

March 15th, 2018

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। कश्मीर में बीजेपी नेता अनवर खान पर बुधवार को आतंकी हमला हुआ। पुलवामा जिले के खानमोह इलाके में आतंकियों ने उन्हें अपना निशाना बनाया। आतंकियों की फायरिंग में अनवर खान तो बच गए, लेकिन उनका एक निजी सुरक्षाकर्मी बिलाल अहमद घायल हो गया। बिलाल को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हमले के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को पूरी तरह से घेर लिया है और आतंकियों की तलाश की जा रही है।

सुरक्षा बलों की राइफल छीनने की ताक में थे आतंकी
पुलिस के वरिष्ठ अफसर ने इस बारे में कहा, “नेता के साथ उस दौरान उनके दो निजी सुरक्षा अधिकारी (पीएसओ) भी थे। अराश मेडिकल कॉलेज के पास आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी थी। आतंकी तब सुरक्षा अधिकारी से राइफलें छीनने की ताक में थे। मगर सुरक्षा अधिकारी ने उनके नापाक मंसूबों को पूरा न होने दिया और उनके खिलाफ जवाबी कार्रवाई की। इसके बाद आतंकी वहां से भाग निकले। आतंकियों की फायरिंग में कॉन्सटेबल बिलाब अहमद जख्मी हो गए। उनका इलाज नजदीकि अस्पताल में चल रहा है।

सर्च ऑपरेशन चला रही सेना
आतंकियों को पकड़ने के लिए अब सेना, सीआरपीएफ और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप संयुक्त रूप से सर्च ऑपरेशन चला रही है। सुरक्षाबलों ने हमले का बाद पूरे इलाके को घेर लिया। वहीं राज्य पुलिस ने भी संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया है। फिलहाल किसी भी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। 

राष्ट्र विरोधियों की उड़ी नींद
हमले के बाद बीजेपी के स्टेट मीडिया सेक्रेटरी अल्ताफ ठाकुर ने कहा, "आतंकियों को यह याद रखना होगा कि वो घाटी के युवाओं को अच्छे भविष्य को चुनने से रोक नहीं सकते। भाजपा जिस तेजी से घाटी में बढ़ रही है, उससे राष्ट्र विरोधियों की नींद उड़ गई है। ये कश्मीरियों की बुलंद आवाज को दबाना चाहते हैं, लेकिन इन हमलों से हम डरने वाले नहीं हैं।'

पीडीपी MLA पर भी हुआ था हमला
इससे पहले आतंकियों ने रविवार शाम पूर्व मंत्री और पीडीपी एमएलए अब्दुल मजीद पाडर के आवास पर ग्रेनेड से हमला किया था। आतंकियों ने अब्दुल मजीद के कुलगाम जिले में मौजूद आवास को अपना निशाना बनाया था। हालांकि, जिस वक्त ये हमला किया गया उस वक्त अब्दुल मजीद घर में मौजूद नहीं थे। इस हमले में किसी प्रकार के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ था। 

बतां दें कि ये पहला मौका नहीं है जब आतंकियों ने अब्दुल मजीद के आवास पर हमला किया हो, इससे पहले 2017 में भी आतंकियों ने अब्दुल मजीद के सुरक्षा काफीले पर हमला किया था।