दैनिक भास्कर हिंदी: अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरा, सुरक्षा एजंसियों को मिले इनपुट

June 16th, 2018

हाईलाइट

  • अमरनाथ यात्रा पर आतंकवादी हमले का खतरा।
  • सुरक्षा एजेंसियों को मिले उनपुट।
  • आतंकी श्रद्धालुओं या सुरक्षाकर्मियों पर हमले के लिए IED का इस्तेमाल कर सकते हैं।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को हुई एक सैनिक और पत्रकार की हत्या के बाद सुरक्षा एजेंसियों को इनपुट मिले है कि पाकिस्तानी आतंकी अमरनाथ यात्रा में खलल डालने के लिए बड़ा हमला कर सकते हैं। अमरनाथ यात्रा पर हमले के खतरे को देखते हुए सीएम महबूबा मुफ्ती ने भी केंद्र से 22 हजार अतिरिक्त जवान मांगे हैं। आपको बता दें कि अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू हो रही है जो 21 दिनों तक चलेगी।

IED का इस्तेमाल कर सकते हैं आतंकवादी
गुरुवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में रमजान के दौरान आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन को स्थगित करने के असर की समीक्षा के लिए उच्चस्तरीय बैठक हुई। इस बैठक में यात्रा के सुरक्षा इंतजामों की चर्चा की गई। हालांकि बैठक में इस बात पर फैसला नहीं लिया गया रमजान के बाद कश्मीर घाटी में आंतिकयों के खिलाफ ऑपरेशन का स्थगन जारी रहेगा या नहीं। शुक्रवार शाम 7 बजे पीएम मोदी के साथ होने वाली बैठक में इस बात पर फैसला लिया जाएगा। गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा के दौरान दहशत फैलाने के लिए आतंकी श्रद्धालुओं या सुरक्षाकर्मियों पर हमले के लिए IED का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए सेना, पुलिस, सीआरपीएफ और बीएसएफ के करीब 40 हजार जवानों को अलग-अलग स्तरों पर तैनात किया जाएगा। खतरे को देखते हुए जैमर, सीसीटीवी कैमरों, बुलेटप्रूफ बंकर, डॉग स्क्वॉड और क्विक रिएक्शन टीम का इस्तेमाल किया जाएगा। 3 लाख यात्रियों पर नजर रखने के लिए सैटेलाइट का भी सहारा लिया जा सकता है। बता दें कि पिछले साल 10 जुलाई को अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों की बस पर आतंकवादी हमला हुआ था। इस हमले में नौ यात्रियों की मौत हो गई थी और 19 अन्य घायल हो गए थे।