दैनिक भास्कर हिंदी: संभल जाइये: अनलॉक में लापरवाह हुए लोग, AIIMS डायरेक्टर गुलेरिया बोले- अगले 56 से 60 दिन में आएगी कोरोना की तीसरी लहर

June 19th, 2021

हाईलाइट

  • अगले 56 से 60 दिन में आएगी कोरोना की तीसरी लहर
  • एम्स डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने जारी की चेतावनी
  • इस बार बच्चों पर इसका बड़ा असर देखने को मिलेगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का असर कम होने लगा है। देश के ज्यादातर राज्यों को अनलॉक कर दिया गया है। बाजारों में पहले जैसी चहल-पहल नजर आ रही है। लेकिन, कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने चेतावनी जारी की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर अगले 7 से 8 हफ्तों के बीच देश में दस्तक देगी। इस बार बच्चों पर इसका बड़ा असर देखने को मिलेगा। 

डॉ गलेरिया ने कहा कि अगर लोगों ने कोरोना गाइड लाइन का ठीक से पालन नहीं किया और बाजारों या टूरिस्ट स्पॉट पर लगने वाली भीड़ को नहीं रोका गया तो परिणाम बुरे होंगे। डॉ. गुलेरिया ने कहा कि अभी तक की रिसर्च में ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं कि कोरोना की तीसरी लहर बड़ों से ज्यादा बच्चों को प्रभावित करेगी। इससे पहले भारत के महामारी विशेषज्ञों ने पहले सितंबर-अक्टूबर तक कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका जताई थी।

डॉ गलेरिया ने कहा, ऐसा नहीं लग रहा कि हमने पहली और दूसरी लहर के बीच क्या हुआ, इससे कुछ सीखा है। फिर से भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। लोग एक साथ मिल रहे हैं। लेकिन, ऐसा अगले 6 से 8 हफ्तों में हो सकता है। या शायद इसमें थोड़ा और समय भी लग सकता है। उन्होंने कहा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम कैसे कोविड संबंधी व्यवहार को निभा रहे हैं और भीड़ से बच रहे हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट में रायटर्स के सर्वे के हवाले से बताया गया है कि देश में तीसरी लहर अक्टूबर तक आ सकती है। इस सर्वे में दुनियाभर से 40 एक्सपर्ट्स, डॉक्टर्स, साइंटिस्ट्स, वायरोलॉजिस्ट्स, एपेडेमियोलॉजिस्ट्स और प्रोफेसर से जानकारी हासिल की गई थी। स्टडी में कहा गया था कि तब तक ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाकर लहर को नियंत्रित किया जा सकेगा। साथ ही दूसरी लहर की तुलना में संभावित तीसरी लहर में मामले कम होने की बात कही गई है।

कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए भारत की ज्यादा से ज्यादा आबादी का वैक्सीनेशन करना होगा। इसके साथ ही लोगों को कोविड गाइडलाइंस का पालन करना होगा। ऐसे इलाकों की मॉनिटरिंग करनी होगी, जहां कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं। जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज 5% से ज्यादा है, वहां कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करें।

भारत में कोरोनावायरस की स्थिति

अब तक कुल मरीजों की संख्या     

2 करोड़ 98 लाख 23 हजार 546

ठीक हुए मरीजों की संख्या     

2 करोड़ 86 लाख 78 हजार 390

कोरोना से मरने वालों की संख्या     

3 लाख 85 हजार 137

कुल एक्टिव मामलों की संख्या    

7 लाख 60 हजार 019

देश में कुल वैक्सीनेशन    

27 करोड़ 23 लाख 88 हजार 783

 

खबरें और भी हैं...