comScore

एनकाउंटर : हिजबुल मुजाहिदीन के तीन मोस्ट वांटेड आतंकवादी त्राल में ढेर


हाईलाइट

  • सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन मोस्ट वांटेड आतंकवादी मारे गए
  • इसमें हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर हमाद खान भी शामिल है
  • मारे गए आतंकवादियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। पुलवामा जिले के त्राल में रविवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन मोस्ट वांटेड आतंकवादी मारे गए। इसमें कमांडर हमाद खान भी शामिल है। मारे गए आतंकवादियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर के बाद इस बात की जानकारी दी।

एनकाउंटर में तीनों आतंकी ढेर
पुलिस ने एक बयान में कहा, 'सीर गांव का उमर फैयाज लोन उर्फ ​​'हमाद खान', मंडोरा का फैज़ान हामिद और मोंगहामा का आदिल बशीर मीर उर्फ ​'अबु दुजाना' मोस्ट वांटेड आतंकवादी थे। ये तीनों आतंकवादी सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले में शामिल थे। पुलिस ने कहा कि तीनों का संबंध आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से था। आतंकवादियों ने एक सर्च पार्टी पर त्राल के गुज़र बस्ती गुलशनपोरा इलाके में गोलीबारी की। इसके बाद एनकाउंटर में ये तीनों मारे गए।

लोन के टेरर क्राइम का लंबा इतिहास
पुलिस के अनुसार, 'लोन का 2016 से टेरर क्राइम का एक लंबा इतिहास था और वह क्षेत्र में कई आतंकी हमलों की योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने में शामिल था। पुलिस ने कहा कि वह आतंकी हमलों की सीरीज और कई अन्य नागरिक अत्याचारों के लिए जिम्मेदार था। लोन ने गुटरू बांगड़ त्राल के पुलिसकर्मी हलीम कोहली और त्राल के एक नागरिक मेहराज दिन जरगर की हत्या की थी। इसके अलावा भी वह कई अन्य वारदातों में सामिल था।

एक सिविलियन की हत्या में भी थे तीनों शामिल
पुलिस ने कहा कि लोन त्राल पुलिस स्टेशन में दर्ज 16 मामलों और अवंतीपोरा पुलिस स्टेशन में दो मामलों में वांटेड था। इसी तरह, आदिल बशीर मीर और फैजान हामिद का भी आतंकी अपराधों का इतिहास था और इलाके में कई आतंकी हमलों को अंजाम देने में भी ये दोनों शामिल थे। पुलिस बयान में कहा गया है कि वे त्राल बस स्टैंड के पास नागरिक मेहराज दीन जर्गर की हत्या में शामिल समूह का हिस्सा थे और कई अन्य आतंकी अपराधों के लिए जिम्मेदार थे।

कमेंट करें
zcjUo