दैनिक भास्कर हिंदी: राष्ट्रीय राइफल्स के 3 जवान सेना की हिरासत में, औरंगजेब की हत्या में शामिल होने का शक

February 6th, 2019

हाईलाइट

  • तीनों सैनिकों पर जानकारी लीकर करने का शक
  • जांच के बाद तीनों आए शक के घेरे में
  • ईद पर घर जाते समय आतंकियों ने की हत्या

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। आतंकियों के हाथों जून 2018 में मारे गए जवान औरंगजेब की हत्या और अपहरण में शामिल होने के शक में 44 राष्ट्रीय राइफल्स के 3 जवानों को हिरासत में लिया गया है। फिलहाल तीनों से पूछताछ की जा रही है।सेना के तीनों कर्मचारियों पर आरोप है कि उन्होंने औरंगजेब के आने-जाने की जानकारी आतंकियों के साथ साझा की थी। इस जानकारी के आधार पर ही आतंकवादियों ने आर्मी कैंप से निकलकर अपने घर पुंछ जा रहे औरंगजेब का अपहरण कर लिया था।

एक मीडिया रिपोर्ट में तीनों की पहचान तज्जमुल अहमद, आबिद वाणी और आदिल वाणी के रूप में हुई है। इनमें से दो सैन्यकर्मियों का घर पुलवामा में है, जबकि एक कुलगाम का रहने वाला है। औरंगजेब की हत्या होने के बाद शुरू की गई जांच में तीनों शक के घेरे में आए थे। 

दरअसल, ईद के मौके पर 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब पुंछ स्थित अपने घर जा रहे थे। इस दौरान आतंकियों ने उन्हें किडनैप कर उनकी हत्या कर दी थी। औरंगजेब मेजर रोहित शुक्ला की टीम में शामिल थे, जिन्होंने हिज्बुल के आतंकी समीर टाइगर का एनकाउंटर किया था।

पिछले साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मरणोपरांत औरंगजेब को उनकी बहादुरी के लिए शौर्य चक्र दिया गया था। औरंगजेब के पिता ने पीएम मोदी की रैली के दौरान 2 दिन पहले ही भाजपा की सदस्यता ली है।