दैनिक भास्कर हिंदी: #BoycottTwitter: चीन के खिलाफ एड के बाद अमूल का अकाउंट सस्पेंड, ट्विटर ने सफाई दीं

June 6th, 2020

हाईलाइट

  • चीन के खिलाफ अमूल के एड के बाद कंपनी का सोशल मीडिया अकाउंट सस्पेंड
  • ट्विटर ने अकाउंट सस्पेंड किए जाने को लेकर सफाई पेश की
  • ट्विटर पर #BoycottTwitter ट्रेंड कर रहा है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन के खिलाफ अमूल के एक क्रिएटिव एड के बाद कंपनी का सोशल मीडिया अकाउंट सस्पेंड होने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले पर अब ट्विटर ने सफाई पेश की है। ट्विटर ने कहा, अमूल का अकाउंट स्पैम फिल्टर में पकड़ा गया था। यह एक रूटीन एक्सरसाइज है। अमूल को अकाउंट को दोबारा एक्टिवेट करने के लिए एक रीकैप्चा (reCAPTCHA) प्रोसेस को पूरा करना होगा। हालांकि अब अमूल का सस्पेंडेड अकाउंट दोबारा एक्टिवेट हो चुका है। इस पूरे मामले के बाद ट्विटर पर #BoycottTwitter ट्रेंड कर रहा है।

क्या है अमूल के नए एड में?
अमूल ने मेड इन चाइना प्रोडेक्ट को बायकॉट करने की कैंपन को सपोर्ट करते हुए जो एड पोस्ट किया था उसके कैप्शन में लिखा, 'अबाउट द बायकॉट ऑफ चाइनीज प्रोडक्ट्स'...। इस एड में आइकॉनिक अमूल गर्ल को एक ड्रैगन को भारत से दूर भगाते दिखाया गया है। इसके पीछे चीनी वीडियो-शेयरिंग मोबाइल एप टिकटॉक का लोगो भी देखा जा सकता है। वहीं एड में ऊपर की तरफ लिखा है एक्जिट द ड्रैगन? और नीचे की तरफ अमूल मेड इन इंडिया लिखा हुआ है।  इस एड का पूरा फोकस पीएम नरेंद्र मोदी की 'आत्मनिर्भर' मुहिम पर है।

twitter blocks amul after  exit the dragon   topical about china  restores later  amul twitter accou

#BoycottTwitter कर रहा ट्रेंड
अद्वैत काला नाम के ट्वीटर यूजर ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'ट्वीटर ने इस तरह की वफादारी उस देश के प्रति दिखाई है जिसने उसके ऊपर बैन लगा रखा है। अमूल भारतीय है और उस पर गर्व है। जबकि एक अन्य ट्वीटर यूजर ने लिखा है कि अमूल को ट्वीटर ने कुछ मिनट के लिए ऐसा करने पर ब्लॉक कर दिया जबकि चीन ने उसे अपने देश में इजाजत नहीं दी है।

आदर्श वाजपेयी नाम के एक ट्वीटर यूजर ने लिखा है- इस सुंदर पोस्टर के लिए अमूल आपका धन्यवाद। भारत से जल्द ड्रैगन जाने के ले तैयार हो जाए। एग्जिट द ड्रैगन, चीनी कम करो... पूरे राष्ट्र के लिए एक मजबूत संदेश है। एक अन्य ट्वीटर यूजर दीपक उप्पल ने लिखा है- डियर ट्वीटर, आप इसमें कोई पार्टी नहीं है, फिर क्यों अनावश्यक पक्ष ले रहे हैं। अगर भारतीय ड्रैगन के खिलाफ एग्जिट मूवमेंट चल सकते हैं तो ट्वीटर के खिलाफ भी चला सकते हैं। 

खबरें और भी हैं...