comScore

Coronavirus: कोरोना के खौफ से मौत को गले लगा रहे लोग, यूपी में दो ने की आत्महत्या

March 23rd, 2020 12:54 IST
Coronavirus: कोरोना के खौफ से मौत को गले लगा रहे लोग, यूपी में दो ने की आत्महत्या

हाईलाइट

  • कोरोना वायरस के संदेह में दो लोगों ने की आत्महत्या
  • मामलों में पुलिस ने कुछ भी कहने से किया इनकार

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश में दो लोगों ने वायरस के संदेह में आत्महत्या कर ली है। हालांकि दोंनों घटनाओं पर पुलिस ने कुछ भी कहने से इंकार किया है। पहली घटना हापुड़ जिले की पिलखुआ की है और दूसरी बरेली से सामने आयी है। दोनों ही मामलों में पता लगा है कि, पीड़ित कोरोना वायरस को लेकर काफी तनाव में थे और इसी वजह से उन्होंने मौत को गले लगा लिया।

सुसाइड नोट से हुआ खुलासा
जानकारी के अनुसार पिलखुवा में एक युवक ने गर्दन रेतकर आत्महत्या कर ली। स्थानीय लोगों ने बताया, पिलखुवा निवासी सुशील को कई दिन पहले बुखार थी। जो मोदीनगर में इलाज करा रहा था, लेकिन बुखार न उतरने और गले में इंफेक्शन होने पर उसको शक हो गया। जिसके बाद वह सरकारी अस्पताल भी गया था जिससे युवक डिप्रेशन में पहुंच गया। इसी कारण उसने अपने दोनों बच्चों और पत्नी को अलग कमरे में सुला दिया। युवक ने रात को कमरे में गर्दन काटकर आत्महत्या कर ली। जिसके पास सुसाइड नोट रखा हुआ था। जिसमे लिखा था कि कोरोना के कारण उसने मौत को गले लगा लिया। युवक का शव पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक के परिवार को आइशोलेट करते हुए घर को सेनेटाईज कराया जा रहा है।

बरेली से सामने आई दूसरी घटना
दूसरी घटना बरेली में सामने आई जहां एक युवक ने मालगाड़ी से कटकर जान दे दी। युवक को कई दिनों से बुखार था। एक रेलवे कर्मचारी के अनुसार युवक जंक्शन पर आया उसने कहा भी कि मुझे कोरोना है। मुझे बचा लो। जब तक उस पर किसी का ध्यान पहुंचता तब तक युवक ट्रैक पर लेट गया, इसी बीच मालगाड़ी आ गई। जब तक लोग उसे बचाने दौड़े। उसके ऊपर से मालगाड़ी गुजर गई। जिससे उसकी मौत हो गई। मृत युवक की पहचान नहीं हो पाई है। वहीं पुलिस ने दोनों घटनाओं पर कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया है।

डॉक्टर्स की सलाह- तनाव न लें लोग
हालांकि कोरोना वायरस को लेकर लोगों को तनाव लेने के लिए चिकित्सकों ने मना किया है। केजीएमयू के एक डॉक्टर ने कहा कि सरकार को इस बात को ज्यादा प्रचारित करने जरूत है इससे लोग ठीक होकर घर भी जा रहे हैं।

Coronavirus: PM इमरान ने कहा- पाकिस्तान में 25% आबादी गरीबी रेखा के नीचे, नहीं कर सकते लॉकडाउन

कमेंट करें
BpYIZ