दैनिक भास्कर हिंदी: भारत बंद : बिहार में कई जगह तोड़फोड़, आरा में फायरिंग, पंजाब में तलवारें चलीं

April 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली/भोपाल/लखनऊ। सोशल मीडिया पर 10 अप्रैल को बुलाए गए भारत बंद के मैसेज को सरकार ने गंभीरता से लिया है. गृह मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी कर सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखने को कहा है। 2 अप्रैल को देशभर में कुछ दलित संगठनों द्वारा भारत बंद का आयोजन किया गया, जिसमें व्यापक हिंसा हुई और एक दर्जन से भी ज्यादा लोगों की मौत हो गई। अब इसके जवाब में 10 अप्रैल को जनरल और ओबीसी संगठनों ने भारत बंद बुलाया है. भारत बंद को लेकर सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल हो रहे हैं।

                                                                       

- नागपुर बरडी पुलिस स्टेशन अंतर्गत RSS के भगवा झंडा लिए हुए आरक्षण के नाम पर धर्म के नाम पर आरक्षण बंद करो का नारा लगाते हुए बड़ी बाजार को बंद कराया जा रहा है।
- आरा में प्रदर्शनकारियों ने पटना पैसेंजर ट्रेन को भी रोक दिया। इस दौरान लोगों ने आरक्षण के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके साथ ही कई जगह पत्थरबाजी की भी खबरें हैं, जिसमें कई लोग घायल हुए हैं।
- बिहार में भारत बंद का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल रहा है। बताया जा रहा है कि आरा नगर थाने में आनंदनगर इलाके में भारत बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसक झड़पें भी हुई, जिसमें फायरिंग होने की भी खबर है। 
- बताया जा रहा है कि भारत बंद का असर उत्तर प्रदेश में देखने को ज्यादा मिल रहा है। जिसके बाद मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, हापुड़ समेत कई इलाकों में इंटरनेट को बंद कर दिया गया है। इसके सात ही स्कूलों को भी एहतियातन तौर पर मंगलवार को बंद ही रखने का आदेश दिया गया है।
- पंजाब के फिरोजपुर में भारत बंद के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई। दुकान बंद करवाने के दौरान लोगों ने मोटरसाइकिल पर पथराव किया। इस दौरान लोगों ने तलवारों से हमला किया, जिसमें दो घायल हुए हैं।
- मध्य प्रदेश के ग्वालियर में उपद्रवियों से निपटने के लिए 2000 से ज्यादा पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। भोपाल, रायसेन, टीकमगढ़ में धारा 144 को लागू किया गया है। वहीं सागर में किसी भी तरह के धरने, रैली और जुलूस पर प्रतिबंध लगाया गया है।
- राजस्थान में इस बार सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है। जयपुर में मोबाइल इंटरनेट सुविधा पर रोक लगा दी गई है और शहर में धारा 144 लागू की गई है।


गृह मंत्रालय ने जारीएडवाइजरी में कहा है कि अगर किसी भी इलाके में हिंसा या जान-माल का नुकसान हुआ तो इसके लिए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक जिम्मेदार होंगे. गृह मंत्रालय ने सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस को गश्त बढ़ाने को भी कहा है। होम मिनिस्ट्री के एक अधिकारी के मुताबिक मंत्रालय ने एक एडवाइजरी जारी की है कि कुछ समूहों द्वारा सोशल मीडिया पर 10 अप्रैल को बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर जरूरी एहतियाती कदम उठाए जाएं। इसके अलावा सभी राज्यों को किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिये सुरक्षा बढ़ाने और उचित इंतजाम करने को भी कहा गया है। 10 अप्रैल को भारत बंद की खबरों के बीच, हापुड़ में आज शाम से लेकर कल शाम 6 बजे तक शहर में इंटरनेट सेवा ठप रहेगी।

10 अप्रैल को बुलाए गए भारत बंद के मद्देनजर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल मे भी धारा 144 लागू रहेगी, लेकिन स्कूल खुले रहेंगे, जनजीवन समान्य रहेगा। इस दौरान 6000 पुलिस फोर्स मौजूद रहेंगे। जिनमें 4000 लोकल पुलिस, 1000 स्पेशल और 1000 आरएएफ रहेगी। पुलिस आईजी जयदीप प्रसाद ने कहा है कि शहर में अमन और शांति बनाए रखने के लिए लोगों से अपील की गई है साथ ही सोशल मीडिया पर पुलिस विभाग की टीम नजर रख रही है अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

  • भारत बंद को देखते हुए यूपी के कई जिलों में पुलिस और प्रशासन ने अलर्ट जारी कर धारा 144 लागू कर दी है।
  • पुलिस और प्रशासन ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयारियां पूरी कर ली हैं। 
  • प्रदेश भर में वाहनों की चेकिंग की जा रही है। सभी जगह भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है ताकि इस बार किसी भी प्रकार की हिंसा न हो।
  • मथुरा में सवर्णों के बाद रविवार को राजपूत सभा ने भारत बंद का ऐलान कर पुलिस की चिंता को बढ़ा दिया है। 
  • राजपूत सभा ने अभियान को सफल बनाने के लिए सभा के पदाधिकारियों को जिम्मेदारी भी सौंपी हैं।