दैनिक भास्कर हिंदी: केंद्रीय मंत्री निशंक छात्रों से ऑनलाइन मिले, समस्याएं जानीं

May 5th, 2020

हाईलाइट

  • केंद्रीय मंत्री निशंक छात्रों से ऑनलाइन मिले, समस्याएं जानीं

नई दिल्ली, 5 मई आईएएनएस। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को देशभर के छात्रों से ऑनलाइन मुलाकात की। इस दौरान निशंक ने छात्रों की समस्याएं जानीं और उनके प्रश्नों के उत्तर दिए।

मंत्री ने इस संकटकाल में छात्रों द्वारा दिखाए गए धैर्य की सराहना करते हुए कहा, आप सब इस देश का भविष्य हैं और इस संकट काल में जिस तरह से आप सभी ने धैर्य का परिचय दिया है उससे यह साबित होता है कि हम कोरोना के साथ जंग में मजबूती से खड़े हैं और बहुत जल्द इससे ये जंग जीत भी जाएंगे। आप सब को इस समय किसी भी चीज से परेशान होने की बजाय सिर्फ अपनी पढ़ाई पर, अपने कौशल विकास पर और अपनी रचनात्मकता को बढ़ाने में ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने कहा, मैं आप सभी को यह विश्वास दिलाता हूं कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय आपकी पढ़ाई और भविष्य के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। आप सभी मंत्रालय द्वारा चलाए जा रहे दीक्षा, ई-पाठशाला, मुक्त शैक्षिक संसाधनों का राष्ट्रीय भंडार (एनआरओईआर), स्वयं, डीटीएच चैनल स्वयंप्रभा इत्यादि द्वारा अपनी पढ़ाई जारी रखें।

निशंक ने कहा, पोस्ट ग्रेजुएशन छात्रों खासतौर पर क्रिमिनोलॉजी मैथमेटिक्स और स्टेटस टैक्स सांख्यिकी के छात्रों के लिए ऑनलाइन शिक्षक चैनल की शुरुआत की गई है।

इस संवाद के दौरान निशंक ने विद्यार्थियों के सवालों के जवाब भी दिए एवं उनको प्रोत्साहित भी किया।

कुछ छात्रों ने अपने भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की। इस पर केंद्रीय मंत्री ने उसको प्रेरित किया और कहा कि यह संकटकाल बहुत जल्द खत्म हो जाएगा और इस बीच आप लोगों को सिर्फ मजबूती से देश के साथ खड़े रहना है।

उन्होंने छात्रों से कहा, आप सिर्फ अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें और किसी भी प्रकार की चिंता न करें। सरकार आप सबकी पढ़ाई की, पाठ्यसामग्री की एवं अन्य जरूरी चीजों की व्यवस्था कराने के लिए तत्पर है और विभिन्न माध्यमों से सभी चीजें आप तक पहुंचाई जा रही हैं।

उन्होंने छात्रों को अवगत कराया कि मंत्रालय के दीक्षा प्लेटफार्म पर 80,000 से ज्यादा पाठ्य-सामग्री उपलब्ध है, जिसका लाभ 33 करोड़ छात्र कहीं से भी और कभी भी उठा सकते हैं।

इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने छात्रों को उनके करियर संबंधी, परीक्षा संबंधी और अन्य कई सवालों के जवाब दिए एवं उनको प्रेरणा दी। छात्रों से कहा गया कि वे कभी भी केंद्रीय मंत्री से उनके ट्विटर अकाउंट पर सीधे संपर्क कर सकते हैं और किसी भी तरह की सलाह ले सकते हैं।

मंत्रालय ने कोराना संकटकाल में स्कूल, कॉलेज बंद होने के कारण पढ़ाई के नुकसान की भरपाई के लिए ऑनलाइन शिक्षा के विभिन्न अभियानों को शुरू किया है। मंत्रालय के मुताबिक, इससे छात्र न सिर्फ अपना पाठ्यक्रम पूरा पढ़ सकेंगे, बल्कि उसके अलावा और भी ज्ञान अर्जित कर सकेंगे।