comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

रेप पर गुस्से में दिल्ली, प्रदर्शनकारियों और पुलिस में भिड़ंत, कई लड़कियां हईं बेहोश


हाईलाइट

  • उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के निधन के बाद देश भर में आक्रोश
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक पूरी तरह जलने से हुई मौत
  • हर जगह पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग हुई तेज

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के निधन के बाद देश भर में आक्रोश बना हुआ है। दिल्ली से लेकर उन्नाव तक हर जगह पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग तेज हो गई है। लोगों का गुस्सा सड़कों से सोशल मीडिया तक सामने आने लगा है। इसी बीच पोस्टमार्टम की रिपोर्ट भी सामने आ गई है, जिसमें कहा गया है कि पीड़िता की मौ​त सिर्फ जलने के कारण हुई।

सफदरजंग के मेडिकल सुप्रिंटेंडेंट डॉक्टर सुनील गुप्लात ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार पीड़िता की मौत पूरी तरह जलने की वजह से हुई है। उन्होंने कहा कि पीड़िता के शरीर पर जहर और घुटन के कोई संकेत नहीं मिले हैं। उन्नाव रेप पीड़िता के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद सुरक्षा व्यवस्था के घेरे में उन्नाव ले जाया जा रहा है। यहां अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। 

आपको बता दें कि पीड़िता के पिता और भाई ने सरकार से न्याय की मांग की है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाया है। सीएम योगी ने कहा है कि इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। जल्द ही दोषियों को सख्त सजा सुनाई जाएगी। वहीं समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने बीजेपी को घेरना शुरू कर दिया है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे हैं। वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने के लिए उत्तर प्रदेश पहुंची। वहीं ​प्रियंका के बाद उप्र सरकार के 2 मंत्री उन्नाव के लिए रवाना हो गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और कमल रानी वरुण उन्नाव के लिए रवाना हुए हैं। 

दिल्ली

दिल्ली पुलिस पीआरओ एमएस रंधावा ने कहा कि प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मियों पर आग फेंक रहे थे, इसलिए हमें उन पर वॉटर केनन का इस्तेमाल करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों को अरुण जेटली स्टेडियम के पास से आगे जाने की अनुमति नहीं है। हम उन्हें विरोध स्थल पर वापस जाने के लिए मनाने की कोशिश कर रहे हैं। वहीं सूचना मिली है कि प्रदर्शन के दौरान कई लड़कियां बेहोश हो गईं हैं। 

महिला सुरक्षा को लेकर दिल्ली में विरोध प्रदर्शन ने उग्र रूप धारण कर लिया है। शनिवार शाम 5 बजे राजघाट से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च निकाला गया। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की लेकिन प्रदर्शनकारियों ने रोके जाने पर पुलिस बैरिकेड को तोड़ दिया। इसके बाद पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए पानी की बौछारों इस्तेमाल की।

राज घाट से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च निकाल रहे प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड्स कूदने की कोशिश की।

प्रदर्शन कर रहे लोगों को दिल्ली पुलिस ने इंडिया गेट जाने से रोका। वॉटर केनन का उपयोग कर प्रदर्शनकारियों को हटाया। प्रदर्शनकारी उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के लिए न्याय की मांग कर रहे हैं।

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद न्याय की मांग करते हुए शनिवार शाम पांच बजे दिल्ली में लोगों ने राजघाट से कैंडल मार्च निकाला। ये लोग इंडिया गेट के लिए रवाना हुए।

उन्नाव
शनिवार को जब यूपी सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, कमल रानी वरुण और उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज पीड़िता के घर पहुंचे, तो यहां उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा। भाजपा नेताओं के पीड़िता के घर पहुंचने पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंत्रीजी वापस जाओ के नारे लगाए। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। पुलिस ने NSUI के सदस्यों को हिरासत में लिया।

लखनऊ 

उन्नाव गैंगरेप मामले को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शनिवार को लखनऊ में प्रदर्शन किया।

सफदरजंग अस्पताल में ली अंतिम सांस
उन्नाव रेप पीड़िता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई। शुक्रवार रात 11:40 पर सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता ने आखिरी सांस ली। पीड़िता को एयरलिफ्ट करके लखनऊ से दिल्ली लाया गया था। पीड़िता का शरीर 95 फीसदी जल चुका था। सफदरजंग अस्पताल के प्रवक्ता ने उन्नाव रेप पीड़िता के निधन की पुष्टि की है। सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया था कि जब वो ज़िंदा थी, बात कर सकती थी तो यही बात वो कर रही थी। बड़े भाई से बात करते हुए पीड़ित ने कहा था- उसे छोड़ना नहीं है। बार-बार रिपीट कर रही थी, "क्या मैं बच जाऊंगी? मैं मरना नहीं चाहती."

सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने शुक्रवार सुबह 11 बजे बयान जारी कर कहा था कि पीड़िता के बचने के चांस बहुत कम हैं। उसकी बिगड़ती हालत को देखते हुए वेंटीलेटर पर रखा गया था। कहा जा रहा था कमर के नीचे के दो अंदरूनी अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता के शरीर में तेजी से संक्रमण फैला जिसे रोकना मुमकिन नहीं रहा। डॉक्टरों ने इस बात की जानकारी पहले ही दी थी कि यदि पीड़िता के शरीर में संक्रमण फैल गया तो फिर उसे कंट्रोल करना बहुत मुश्किल होगा। बताया जा रहा है कि बर्न केस में ज्यादातर मरीज की मौत संक्रमण फैलने के चलते हो जाती है।

यह भी पढ़ें: हैदराबाद में गैंगरेप पीड़िता के आरोपियों का पुलिस ने किया एनकाउंटर

सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया, हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका। शाम में ही उसकी हालत खराब होनी शुरू हो गई थी। रात करीब 11:10 पर पीड़िता के हृदय ने काम करना बंद कर दिया। उसे कार्डियक अरेस्‍ट आया। हमने इलाज शुरू किया और उसे बचाने की पूरी कोशिश की, लेकिन रात में 11.40 बजे उसकी मौत हो गई।

डॉ. शलभ ने बताया कि फिलहाल पीड़िता के शव को मोर्चरी में भेज दिया गया है। अस्पताल में मौजूद पीड़िता की मां, बहन और भाई को इसके बारे में बता दिया गया है। बता दें कि पीड़िता ने मरने से पहले अपने भाई से कहा था कि मैं जीना चाहती हूं। पीड़िता ने यह भी कहा था कि दोषियों को सख्त से सख्त सजा दी जानी चाहिए।

पोस्टमॉर्टम जारी
सफदरजंग में उन्नाव रेप पीड़िता के शव का पोस्टमॉर्टम जारी है। बताया जा रहा है कि पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी भी करवाई जा रही है।

हैदराबाद की तरह मेरी बेटी के गुनाहगारों का एनकाउंटर किया जाए- पीड़िता के पिता
पीड़िता के पिता ने कहा कि रूलिंग पार्टी या प्रशासन की तरफ से कोई वरिष्ठ व्यक्ति हमसे मिलने नहीं आया। उन्होंने अपना गुस्सा जताते हुए कहा, या तो हैदराबाद की तरह उनका एनकाउंटर किया जाए या फिर उनको फांसी की सजा हो। उन्होंने आगे यह भी बताया कि रेप आरोपी जमानत मिलने के बाद मेरी बेटी और मेरे साथ-साथ परिवार के अन्य सदस्यों को लगातार धमका रहे थे, लेकिन पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया।

बहन का शव दफनाएंगे-पीड़िता का भाई
पीड़िता के भाई का कहना है कि शव में जलाने लायक कुछ नहीं बचा। हम शव को अपने गांव ले जाएंगे और वहीं शव को दफना देंगे क्योंकि अब उसमें जलाने लायक कुछ भी बचा नहीं है।

बार-बार बोलती थी मैं जीना चाहती हूं- भाई
सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया था कि जब वो ज़िंदा थी, बात कर सकती थी तो यही बात वो कर रही थी। बड़े भाई से बात करते हुए पीड़ित ने कहा था- उसे छोड़ना नहीं है। बार-बार रिपीट कर रही थी, "क्या मैं बच जाऊंगी? मैं मरना नहीं चाहती."

सुबह 11 बजे होगा पीड़िता का पोस्टमॉर्टम
सफदरजंग अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक सुबह 10 बजे उन्नाव रेप विक्टिम के शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा। फोरेंसिक विभाग के प्रमुख डॉ. वाही पोस्टमॉर्टम का सुपरविजन करेंगे। इस दौरान बर्न्स और प्लास्टिक यूनिट के तीन वरिष्ठ डॉक्टरों की एक पैनल भी मौजूद रहेगी। इसके साथ ही इस पैनल में यूपी पुलिस के एक जांच अधिकारी और दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी भी शामिल रहेंगे। पोस्टमॉर्टम में करीब एक से डेढ़ घंटे लग सकते हैं। 

फॉरेंसिक जांच के लिए पीड़िता के शरीर से कुछ सैंपल लिए जाएंगे
फॉरेंसिक जांच के लिए रखे जाएंगे सैंपल सफदरजंग अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक फॉरेंसिक जांच के लिए उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के शरीर से कुछ सैंपल भी लिए जाएंगे।

उन्नाव गैंगरेप के आरोपी जेल भेज गए
उन्नाव गैंगरेप मामले के 5 आरोपी  शिवम त्रिवेदी, उसके पिता रामकिशोर, शुभम त्रिवेदी, हरिशंकर और उमेश बाजपेयी शामिल हैं। सभी को कल रात अदालत से जेल ले जाया गया। उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

उन्नाव की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण - मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 
जल्द से जल्द सजा दिलवाएंगे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्नाव की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है, अत्यंत दुखद है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वह परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। सभी आरोपी पकड़े जा चुके हैं. सरकार उन्हें जल्द से जल्द सजा दिलवाएगी।

उन्नाव केस को लेकर प्रियंका गांधी पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंची है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में जल्दी ही न्याय दिलाने की मांग की है। 

उन्नाव मामले को लेकर विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

जेल में बंद सभी बलात्कारियों को फांसी होना चाहिए- कांग्रेस नेता रंजीत रंजन बोलीं

एक महीने के भीतर हो बलात्कारियों की फांसी- स्वाति मालीवाल

मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे - प्रियंका गांधी

उन्नाव की पीड़िता के निधन से दुखी हूं- चिराग पासवान 
उन्नाव की पीड़िता के निधन से दुखी हूँ। अगर न्याय प्रणाली में जल्द न्याय देना का क़ानून होता तो आरोपी इनके साथ जघन्य अपराध नहीं कर पाता। @PMOIndia से यह आग्रह करता हूँ की क़ानून में सुधार कर कड़े और जल्द न्याय दिलाने का प्रावधान किये जाए ताकि भविष्य में कोई भी ऐसी अप्रिय घटना ना घटे।

इस दुःख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ- मायावती
जिस उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई उसकी कलरात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक। इस दुःख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ है। यूपी सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे, यही इंसाफ का तकाजा व जनता की मांग है।

एनसीपी नेता सुप्रिया सुले बोलीं- सभी बलात्कार पीड़ितों को न्याय मिले

रेखा शर्मा ने पीड़िता के परिवार से की मुलाकात
महिला आयोग की प्रमुख रेखा शर्मा सफदरजंग अस्पताल पहुंचीं। पीड़िता के परिजनों से की बातचीत।

कमेंट करें
SAbzP
कमेंट पढ़े
SK Gandhi December 07th, 2019 12:39 IST

In such cases, one member of every such family should be readied to shoot down the culprits and be ready to face the gallows. When the system is failing to deliver results, the family should save the honour of their sisters and daughters, if not their lives...- SK Gandhi

MORDHWAJ YEDE December 07th, 2019 10:46 IST

unnao gang rape ke sabhi doshio ko Hyderabad jaise goli Mar Dena chahiye....

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।