दैनिक भास्कर हिंदी: अखिलेश बंगला मामला: राज्यपाल राम नाइक ने सीएम योगी को लिखा उचित कार्रवाई करने के लिए पत्र

June 12th, 2018

हाईलाइट

  • उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है।
  • पत्र में कहा गया है कि यह एक अनुचित और गंभीर मामला है।
  • राज्य संपत्ति को क्षति पहुंचाए जाने के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा कानून के अनुसार, समुचित कार्रवाई की जानी चाहिए।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के सरकारी बंगला खाली करने से पहले की गई तोड़फोड़ को लेकर राज्यपाल राम नाईक ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है। इस पत्र में कहा गया है कि यह एक अनुचित और गंभीर मामला है। इस मामले में उचित कार्रवाई की जानी चाहिए।  बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पूर्व सीएम को सरकारी बंगला खाली करने के आदेश दिए गए थे।

 



राज्यपाल ने शासन को लिखे पत्र में कहा है कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आवंटित किए गए शासकीय आवास राज्य संपत्ति के कोटे में आते हैं, जिनका निर्माण और रख-रखाव सामान्य नागरिकों द्वारा दिए जानेवाले विभिन्न प्रकार के टैक्स से होता है। राज्य संपत्ति को क्षति पहुंचाए जाने के खिलाफ राज्य सरकार द्वारा कानून के अनुसार, समुचित कार्रवाई की जानी चाहिए।

वहीं राज्यपाल ने राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारियों को बुलाकर पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगलों के आवंटन और रखरखाव की जानकारी ली, अधिकारियों ने बताया कि तमाम पूर्व मुख्यमंत्रियों के बंगलों की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई है। 4 विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी आवास में तोड़फोड़ होने की बात भी सामने आई है।

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कुछ दिन पहले ही अखिलेश यादव ने समान शिफ्ट कर लखनऊ स्थित सरकारी बंगले को राज्य संपति विभाग को हैंडओवर कर दिया था। अखिलेश ने इसे अपने सीएम के पद पर रहते हुए बनवाया था। बंगले को भव्य रूप देने और साज सज्जा में सरकार के करीब 42 करोड़ रुपए भी खर्च किए गए थे।

 



लेकिन बाद जो तस्वीरें सामने आई हैं, उनमें बंगला खडंहर की तरह नजर आ रहा था। स्वीमिंग पूल को कंक्रीट और सीमेंट से भर दिया गया था, किचन में लगे टाइल्स उखाड़ दिए गए थे और बाथरूम की फिटिंग्स भी उखड़ी हुई थी। बंगले में लगे विदेशी टाइल्स, जिम और विदेशी पौधों को सरकारी खर्च पर लगाया गया था उन्हें भी उजाड़ दिया गया।