दैनिक भास्कर हिंदी: चुनावी कदम: राजस्थान में सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, वसुंधरा सरकार ने घटाया 4% वैट

September 10th, 2018

हाईलाइट

  • राजस्थान सरकार ने इन दोनों पर चार फीसदी वैट कम करने का निर्णय लिया है।
  • राजस्थान में पेट्रोल और डीजल के दामों में दो से ढाई रुपए की कमी हो सकती है।
  • कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद का ऐलान किया है।

डिजिटल डेस्क, जयपुर। पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों पर एक्शन लेते हुए राजस्थान सरकार ने दोनों पर चार फीसदी वैट कम करने का निर्णय लिया है। वसुंधरा सरकार के इस फैसले से राजस्थान में पेट्रोल और डीजल के दामों में दो से ढाई रुपए की कमी हो सकती है। बता दें यह फैसला उस वक्त लिया गया है, जब कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद का ऐलान किया है। इस बंद का सभी विपक्षी पार्टियों ने समर्थन किया है।  

CM वसुंधरा राजे ने रविवार को 'गौरव यात्रा' के दौरान हनुमानगढ़ के रावतसर में यह घोषणा की। उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार आज से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2 रुपये से 2.5 रुपये प्रति लीटर की कटौती कर रही है। CM ने कहा कि ईंधनों की बढ़ती कीमतों से सरकार और राजकोष पर 2,000 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ आएगा, लेकिन इसके बावजूद सरकार अपने फैसले को लेकर प्रतिबद्ध है। 

पेट्रोल-डीजल पर कांग्रेस के 'भारत बंद' की याद दिलाने पर राजे ने कहा, 'विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और तमाम विपक्ष के पास कोई काम नहीं है। कांग्रेस बस गंदी राजनीति करना जानती है। वह देश की मासूम जनता को झूठी बातें बताकर गुमराह कर रही है। उनके पास और कोई मुद्दा नहीं है। इनमें से कोई भी विपक्षी दल का सदस्य विधानसभा में हमसे इस बारे में बात करने का माद्दा नहीं रखता है।'

राजस्थान के फाइनेंस सेक्रेटरी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि फिलहाल प्रदेश में पेट्रोल 30 प्रतिशत और डीजल पर 22 प्रतिशत वैट है। जयपुर में पेट्रोल की कीमत 83.54 प्रति लीटर है, वहीं डीजल की कीमत 77.43 प्रति लीटर है। गुप्ता ने कहा कि कम हुए वैट को आज रात 12 बजे के बाद लगा दिया जाएगा, जिसके बाद नई कीमतें लागू हो जाएंगी।

वसुंधरा के इस निर्णय के बाद महाराष्ट्र सरकार भी इस बारे में विचार कर रही है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फडणविस भी राज्य में पेट्रोल और डीजल पर वैट कम करने पर निर्णय ले सकते हैं। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस सरकार भी अपने शासित राज्यों में इसपर विचार कर रही है। भारत बंद पर केंद्र सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस पंजाब और कर्नाटक में तेल के दामों में कमी कर सकती है।

बता दें कि इस साल चार राज्यों में विधानसभा सभा चुनाव होने हैं। इसमें से छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में भाजपा की सरकार है। वहीं मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है। विपक्ष तेल के दामों के बहाने लगातार केंद्र सरकार पर हमला कर रही है। ऐसे में राजस्थान सरकार का यह कदम विपक्ष के हमलों का बड़ा जवाब माना जा रहा है। राजनीतिक जानकार यह भी कह रहे हैं कि आने वाले दिनों में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ सरकार भी वैट में कटौती कर सकती है।

खबरें और भी हैं...