comScore

नागपुर : विधानभवन में घुसा पानी, हवाई-रेल और बस सेवा भी प्रभावित

September 25th, 2018 14:35 IST

हाईलाइट

  • बारिश से महाराष्ट्र विधानमंडल की बिजली सप्लाई ठप हो गई है।
  • बिजली न होने से विधानमंडल का कामकाज दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया।
  • विधानभवन के कई हिस्से पानी में डूब गए हैं जिससे अब सोमवार को विधानसभा और विधानपरिषद का कामकाज होगा।

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतरानगरी में झमाझम बारिश से लोग बेहाल हो गए हैं। बारिश का असर विधानमंडल के मानसून सत्र पर भी पड़ा है। बारिश से महाराष्ट्र विधानमंडल की बिजली सप्लाई ठप हो गई है। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब अधिवेशन के दौरान विधानमंडल की बिजली आपूर्ति खंडित हुई है। बिजली न होने से विधानमंडल का कामकाज दिन भर के लिए स्थगित कर दिया गया। विधानभवन के कई हिस्से पानी में डूब गए हैं जिससे अब सोमवार को विधानसभा और विधानपरिषद का कामकाज होगा। 

हवाई, रेल और बस सेवा भी प्रभावित
बारिश के चलते नागपुर की हवाई सेवा, रेल सेवा और बस सेवा भी प्रभावित होने की जानकारी है। नागपुर एयरपोर्ट से कई फ्लाइटें एक से डेढ़ घंटा देरी से रवाना हुई जबकि रेलवे ट्रैक पर पानी भरने से कई ट्रेनें आउटर पर ही रुकी रहीं। जलभराव के चलते सिटी बसें भी प्रभावित रही। मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटे के अंदर मूसलाधार बारिश की संभावना है।

विधानभवन के सामने घुटने भर पानी
बीती रात से हो रही बारिश के चलते विधानभवन के सामने घुटने भर पानी जमा हो गया है। विधानभवन का काफी हिस्सा पानी में डूब गया है। इस बीच कुछ नेता और मंत्रियों को छोड़ विधानभवन परिसर खाली-खाली नजर आ रहा है। तेज बारिश से बचने के लिए यहां कहीं जगह नहीं होने से विधानभवन में अपनी मांगों को लेकर आए संगठन के कार्यकर्ता इधर-उधर नजर आए। हालांकि शुक्रवार के दिन कामकाज होने की उम्मीद थी लेकिन बारिश ने सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। शनिवार और रविवार को अवकाश है यानी अब सोमवार को ही कामकाज होने की संभावना है।

13 संगठनों के लगे पंडाल उधर-उधर उड़े
कुल 13 संगठनों के अनशनकारी अपनी मांगों को लेकर यहां पहुंचे हैं। मेट्रो का काम चलने से इन्हें इस बार यशवंत स्टेडियम में जगह दी गई है। 50 के करीब पंडाल का वहां निर्माण किया गया है।  इनसे एक पंडाल के बदले 4 हजार रुपए तक लिए गए हैं, लेकिन सुविधा के नाम पर कुछ नहीं दिया जा रहा है। पंडालों में लाइटें नहीं। कुछ पंडाल घास के बीच ही डाल दिए गए हैं। कीचड़ के कारण पंडालों तक पहुंचना भी मुश्किल हो रहा है। तेज बारिश से पंडाल भी उड़कर उधर-उधर हो गए हैं। 

शहर की निचली बस्तियों में घुसा पानी
गुरुवार की रात से शुरू हुई बारिश शुक्रवार को भी जारी है। रात भर कभी हल्की तो कभी तेज बारिश होने से शहर की कई निचली बस्तियों में पानी घुस गया है। बारिश से सड़कें लबालब होने से सुबह कामकाज के लिए निकलने वाले लोगों को अच्छी-खासी परेशानी हो रही है। शहर में जगह-जगह मेट्रो और सड़कों का काम चल रहा है जिससे सड़कों पर पड़े गड्ढे पानी में डूब गए हैं । कई लोग इन गड्ढों में गिरकर हादसे का शिकार भी हुए हैं।

नागपुर में हुई ज़ोरदार बारिश से जगह-जगह रास्ते जाम हो गए हैं। अस्पतालों और घरों में पानी भर गया है। रेलवे स्टेशन का बुरा हाल है। वर्धा रोड को फिलहाल बंद कर दिया गया है।

कमेंट करें
yx1nc