दैनिक भास्कर हिंदी: Weather Update: दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई हिस्सों में हुई बारिश, ऐसे रहे देश के हालात

January 5th, 2021

हाईलाइट

  • हिमाचल के कुछ हिस्सों में बारिश और बर्फबारी
  • बर्फबारी के चलते कश्मीर में फंसे 4500 वाहन
  • राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश का अनुमान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। उत्तर भारत के कई हिस्सों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते सोमवार को हल्की बारिश हुई और तापमान समान्य से अधिक रहा। मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के जाने के बाद तापमान में गिरावट आने का अनुमान है। उधर, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन हल्की बारिश हुई। शहर में बादल छाए रहने के चलते न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस रहा। मंगलवार को भी मध्यम स्तर की बारिश और बिजली गरजने का अनुमान है।

मौसम विभाग जनवरी और फरवरी को सर्दियों का महीना मानता है। दक्षिणी प्रायद्वीपीय क्षेत्रों को छोड़कर देश के सभी हिस्सों में मध्य दिसंबर के आसपास से ठंड शुरू हो जाती है। इस साल सीजन की पहली शीतलहर ने दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, चंडीगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख समेत उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, पूर्वी मध्यप्रदेश और क्रिसमस के सम ओडिशा को अपनी गिरफ्त में लिया। साल  खत्म होते-होते इसमें तेजी आई। इनमें से अधिकांश स्थानों पर पारा पांच डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया।

कैसी रही शीतलहर और ठंडे दिन की स्थिति
भारतीय मौसम विभाग के अनुसार मैदानी इलाकों में ठंडे दिन की घोषणा तब की जाती है जब अधिकतम तापमान 16 डिग्री से नीचे दर्ज किया जाता है। वहीं, कोल्ड वेव यानी शीतलहर तह कही जाती है जब न्यूनतम तापमान सामान्य से 5-6 डिग्री कम हो। उत्तर भारत में मौसम में बदलाव 20 दिसंबर के बाद शुरू हुआ। 24-29 दिसंबर के बीच कई हिस्सों में जबरदस्त ठंड पड़ी। 

ऐसा रहेगा आने वाले दिनों में मौसम 
दो जनवरी से उत्तर भारत के खई स्थानों पर न्यूनतम तापमान में वृद्धि देखी गई है। दिल्ली समेत कई स्थानों पर बारिश भी हो रही है। अत्यधिक ठंडे मौसम के बरसात वाले मौसम में बदलना मुख्त: दक्षिण-पश्चिमी हवाओं और पश्चिमी विक्षोभ की वजह से आया है। जम्मू-कश्मीर समेत हिमालयी इलाकों में छह जनवरी तक बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। 

पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़, उत्तरी राजस्थान, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तर-पूर्वी मध्यप्रदेश में मंगलवार तक बिजली के साथ बारिश होने का अनुमान है। अगले 48 घंटों में इन इलाकों में बारिश के साथ-साथ ओले भी गिर सकते हैं। पश्चिमी विक्षोक्ष के गुजरने के बाद आसमान फिर से साफ होगा और तापमान भी सामान्य की ओर बढ़ेगा।

खबरें और भी हैं...