दैनिक भास्कर हिंदी: लोगों को ट्रैक पार न करने के लिए यमराज से जागरूक करा रहा वेस्टर्न रेलवे

November 8th, 2019

हाईलाइट

  • वेस्टर्न रेलवे ट्रैक पार न करने के लिए लोगों को कर रहा जागरूक
  • यमराज की वेशभूषा में लोगों को पटरियों पर चलने से रोका जा रहा
  • ट्रैक पर चलना भी दंडनीय अपराध है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। वेस्टर्न रेलवे, महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में लोगों को रेलवे लाइनों को पार न करने और पार करने के खतरों के बारे में रच्नात्मक तरीके से जागरूक कर रहा है। वेस्टर्न रेलवे लोगों में जागरूकता फैलाने का यह कार्य रेलवे सुरक्षा बल (RPF) के जवानों के साथ कर रहा है। इस दौरान एक व्यक्ति लोगों को यमराज की वेशभूषा में सुरक्षा के लिए सावधानी बरतने की जानकारी दे रहा है। साथ ही वह उन्हें पटरियों पर चलने से रोक भी रहा है।

 

 

दो साल में 50 हजार मौत

आए दिन रेलवे ट्रैक पर चलने या पार करते समय ट्रेन की चपेट में आने से लोगों की मौत की खबरें आती हैं। रेलवे द्वारा जागरूकता के लिए कई अभियान चलाए जाते हैं लेकिन फिर भी लोग बाज नहीं आते। भारतीय रेलवे के अंतिम आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक साल 2015 और 2017 के बीच रेलवे ट्रैक पर चलने और उसे पार करते दौरान ट्रेन की चपेट में आने से करीब 50 हजार लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। जिसमें सबसे ज्यादा मौतें उत्तर रेलवे जोन में हुई हैं। इसमें 7 हजार 908 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वहीं इसके बाद दक्षिणी रेलवे जोन में यह आंकड़ा 6 हजार 149 का और पूर्वी रेलवे जोन में 5 हजार 670 का है। इसके बाद अब तक रेलवे ने अपना ताजा आंकड़ा जारी नहीं किया है।

ट्रैक पर चलना भी अपराध

बता दें कि पटरियों पर चलना या उसे पार करना और रेलवे परिसरों पर नियमों का उल्लंघन करना दंडनीय अपराध है। रेलवे अधिनियम, 1989 की धारा 147 के तहत आपको गिरफ्तार कर आप पर मुकदमा भी चलाया जा सकता है। आंकड़ों के मुताबिक साल 2018 में 1 लाख 21 हजार से भी ज्यादा लोगों की RPF ने गिरफ्तारी कर उन पर मुकदमा चलाया था। इस दौरान रेलवे अदालतों द्वारा इन लोगों पर 2.94 करोड़ रुपए का कुल जुर्माना लगाया गया था।