दैनिक भास्कर हिंदी: ऐसा रहा 2017 का मन की बात, पीएम मोदी ने इन मुद्दों पर किया संवाद

September 4th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 के विधानसभा चुनाव में नायक बनकर उभरे जिन्होंने अपने 3 साल के कार्यकाल में कई बड़े और महत्वपूर्ण फैसले लिये। पीएम मोदी हमेशा लोगों के बीच रहते हैं और उनसे खुद संवाद करना पसंद करते हैं, ऐसे में वो 2014 के आखिरी महीनों में मोदी जी ने रेडियो प्रोग्राम की शुरुआत की जिसके जरिए वो सीधे जनसंवाद करते हैं। साल 2017 मोदी जी के लिए बेहद खास रहा और भारतीय अवाम के लिए भी। 'मन की बात' के जरिए पीएम मोदी ऐसे समसामायिक मुद्दों पर बात की जिस पर हर नागरिक देश के पीएम का 'मत' जानना चाहता है। आज हम 2017 के मन की बात के सफर पर चर्चा करेंगे। हर महीने के आखिरी रविवार को मोदी मन की बात के जरिए लोगों से जुड़ते हैं-

#जनवरी 2017

नकल कभी फायदा नहीं करती (To Cheat Is To Be Cheap)  

पीएम मोदी ने दिया 'स्माइल मोर, स्कोर मोर' का मंत्र

साल की शुरुआत का 'मन की बात' बच्चों की शिक्षा, अभिभावक और परिवार जनों को समर्पित रहा। इस चर्चा की शरुआत पीएम मोदी ने 1 फरवरी को कोस्ट गार्ड के 40 साल पूरे होने से की और राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा के लिए धन्यवाद व्यक्त किया। इस चर्चा में मोदी जी सीधे जनता से भी जुड़े और उनके प्रश्नों पर अपने विचार रखे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सचिन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए कहा कि कैसे अनुस्पर्द्धा आपको सफल बनाती है। 'मेरा आपसे आग्रह है - खुद से स्पर्द्धा करें। पहले क्या किया था, आगे कैसे करूंगा, अच्छा कैसे करूंगा। बस इस पर ध्यान केंद्रित करें'। साथ ही उन्होंने कहा कि 'नकल कभी फायदा नहीं करती, To Cheat Is To Be Cheap'  तो उससे ऊपर उठकर सोचें।

#फरवरी 2017

'ना ज्यादा में, ना कम में, वह सबमें बराबर की अधिकारी हैं

यह मन की बात का 29वां एडिशन था। 26 फरवरी 2017 को मन की बात में मोदी ने सबसे पहले बदलते मौसम का जिक्र किया। मोदी ने ISRO का जिक्र किया और इसरो द्वारा छोड़ी गई 104 सेटेलाइट का भी जिक्र किया। मोदी ने इसरो की कामयाबी में महिलाओं और युवाओं के योगदान की भी बात की। मोदी ने डिजिधन योजनाओं का जिक्र किया। ब्लाइंड टी-20 में भारतीय टीम के जीतने पर मोदी ने उन लोगों समेत देशवासियों को बधाई दी। मोदी ने 8 मार्च को मनाए जाने वाले ‘महिला दिवस’ का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा, ‘महिला, वो शक्ति है, सशक्त है, वो भारत की नारी है, ना ज्यादा में, ना कम में, वह सब में बराबर की अधिकारी है।’

#मार्च 2017

'देशवासियों के विजन से ही बनेगा न्यू इंडिया, खाने की बर्बादी पर लगाएं लगाम'

'125 करोड़ देशवासी संकल्प करें तो कुछ नामुमकिन नहीं'

पीएम ने मार्च 2017 मन की बात में रविंद्रनाथ टैगोर और गांधी जी को याद किया और स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को श्रद्धांजलि दी, जिन्हें 23 मार्च, 1931 को फांसी पर लटका दिया गया था। इसके साथ ही उन्होंने जलियांवाला बाग का जिक्र किया। साथ ही उन्होंने कहा युवाओं के संकल्प से ही न्यू इंडिया का सपना पूरा होगा। साथ ही उन्होंने 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस पर संयुक्त राष्ट्र अवसाद की समस्या पर बात की। उन्होंने कहा कि परिवार और दोस्त ही आपको डिप्रेशन से बाहर ला सकते हैं। साथ ही उन्होंने तनाव मुक्ति के लिए योग का रास्ता बताया। वहीं उन्होंने यह भी कहा कि अब कामकाजी महिलाओं को 26 हफ्तों की मैटरनिटी लीव मिलेगी, जिससे आने वाले शिशु की देखभाल का उन्हें ज्यादा वक्त मिलेगा।

#अप्रैल 2017

'दिमाग से भी लाल बत्ती जानी चाहिए'

कुछ नया करें, नया ही जीवन हैं खुद को और बेहतर बनाएं

अप्रैल 2017 की मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं की छुट्टियों से रिलेटिड बहुत से टिप्स दिये और कहा कि ये छुट्टियां घर पर टीवी के सामने न बिता कर कहीं घूमने जाएं, बिना प्लान बनाए टिकट लेकर कहीं निकल जाएं और एक्सप्लोर करें, भारत बहुत खूबसूरत है इसकी खूबसूरती से आपको प्यार हो जाएगा, साथ ही उन्होंने उन सामाजिक संगठनों की बात की जो बदलते मौसम और गर्म दिनों में पशु पक्षियों की सेवा करते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने लालबत्ती हटाने के निर्णय का स्वागत किया है, पीएम मोदी ने कहा कि मन से भी इसे हटाना है। यह सफाई अभियान का हिस्सा भी है। पीएम ने कहा कि न्यू इंडिया का मतलब EPI है, इसका अर्थ है एवरी पर्सन इज इम्पोर्टेंट। 

#मई 2017 

'लोकतंत्र में सरकार जवाबदेह, 3 साल के कार्यकाल को हर कसौटी में कसा गया'

'मन की बात' में पीएम मोदी ने दिया 'Waste को वेल्थ' मानने का मंत्र'

'मन की बात' में मोदी जी का मेन अटेंशन युवा रहते हैं। इस बार भी मोदी ने युवाओं को कहा कि वो कंफर्ट जोन से बाहर निकलें। उनको नई चीजें सीखने के लिए ललक होनी चाहिए। पर्यावरण पर पीएम ने कहा कि 5 जून को महीने को पहला सोमवार है, 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। महात्मा गांधी कहते थे कि हम जो दुनिया नहीं देखेंगे हमें उसकी चिंता भी करनी चाहिए। मोदी ने कहा कि स्वच्छता के लिए हर बार हमें नए कदम उठाना है तभी हम गांधी जी का सपना पूरा कर पाएंगे, यहां उन्होंने मुम्बई के वर्सोवा बीच का उदारण भी दिया। इस दौरान उन्होंने उनके कार्यकाल के तीन साल पूरा होने पर भी कहा कि हर कसौटी पर इस 3 साल के कार्यकाल को कसा गया है। समाज के हर तबके के लोगों ने उसका विश्लेषण किया है ।

#जून 2017

'पीएम मोदी ने 1975 की इमरजेंसी को बताया काला दिन'

'लोगों से बुके की जगह बुक देने की आदत डालने को कहा'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 33वीं बार देशवासियों के साथ 'मन की बात' की। पीएम मोदी ने इमरजेंसी के दिनों को याद किया। पीएम ने कहा कि 1975 की इमरजेंसी को कोई भूल नहीं सकता, पूरा देश जेल बन गया था। साथ ही उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के प्रति नित्य जागरूकता जरूरी है। लोकतंत्र को आघात पहुंचाने वाली चीजों को ध्यान रखते हुए सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ना है। पीएम ने मोदी सिक्किम, हिमाचल, केरल, उत्तराखंड और हरियाणा के खुले में शौच से मुक्त होने पर बधाई भी दी।

#जुलाई 2017

'गरीबी, भुखमरी, गंदगी, संप्रदायवाद, जातिवाद भारत छोड़ो'

'बाढ़ के कहर से लेकर बेटियों के करिश्मे तक हर मुद्दे पर बात'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2017 में असम और गुजरात में आई भयंकर बाढ़ का जिक्र करते हुए कहा, ‘वर्षाकाल हर जीवित के लिए बहुत जरूरी होती है, लेकिन जब ये विकराल रूप लेती है तो पता चलता है कि ये विनाशकारी रूप भी ले सकती है। मोदी ने जीएसटी पर भी बात की और कहा कि जीएसटी लागू होने के एक ही महीने के भीतर ही बहुत से फायदे मिले हैं। वहीं भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं सालगिरह पर पीएम मोदी ने कहा हम इसी महीने भारत छोड़ो और असहयोग आंदोलन की 75वीं सालगिरह मनाने जा रहे हैं। साथ ही उन्होंने 15 अगस्त को संकल्प दिवस के रूप में मनाने की बात की और कहा हर भारतवासी देश के लिए कुछ करने का संकल्प करें।

#अगस्त 2017

'2-4 रुपये के लिए गरीबों से मोल-भाव ठीक नहीं'

'आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं होगी'

अपने नियमित रेडियो संबोधन 'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने कहा, "भारत महात्मा गांधी और भगवान बुद्ध का देश है, देश में हिंसा किसी भी तरह से स्वीकार नहीं की जाएगी। कानून हाथ में लेने वाले व्यक्ति या समूह को न तो ये देश और न ही कोई सरकार बर्दाश्त करेगी। हरियाणा और पंजाब की हिंसा के अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने कई और मुद्दों पर 'मन की बात' कही। इनमें पर्यटन, स्वच्छता, शिक्षक दिवस जैसे विषयों का जिक्र हुआ।

#सिंतबर 2017 

'विविधता में एकता सिर्फ नारा नहीं, विदेश घूमें, पर देश को न भूलें'

रेडियो प्रोग्राम मन की बात के तीन साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 36वें प्रसारण में कार्यक्रम की सार्थकता पर बात की। उन्होंने कहा कि ये मेरे नहीं, देशवासियों के मन की बात है, देश भर से लोग सुझाव भेजते हैं और इसी का परिणाम है कि सरकार का ध्यान समस्याओं की ओर गया है। इस दौरान पीएम ने स्वच्छता अभियान की बात पर जोर दिया और सभी को उससे जुड़ने की अपील की, साथ ही पीएम ने देश के टूरिज्म सेक्टर को बढ़ावा देने पर जोर दिया।

#अक्टूबर 2017 

'मोदी ने किया पटेल का गुणगान, नेहरू-इंदिरा को भी किया याद'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' रेडियो कार्यक्रम में इस बार सरदार वल्लभ भाई पटेल छाए रहे। गुजरात के इस महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के बारे में मोदी ने कहा कि पटेल न्यू इंडिया के लिए विजन हैं। वे आधुनिक भारत की नींव रखने वाले थे, जिसके पास हर समस्या का व्यावहारिक हल होता था, उनके प्रयासों की वजह से ही आधुनिक भारत का स्वरूप साकार हो सका। 14 नवंबर को में विश्व डायबिटीज डे मनाया जाता है। इसपर उन्होंने कहा कि डायबिटीज कंट्रोल करने में योग बहुत प्रभावी है। 

#26 नवंबर 2017

'पिछले 40 साल से आतंकवाद के कारण बहुत कुछ झेला'

'26/11 की वो काली रात हमेशा याद रहेगी'

नवंबर 2017 को अपनी मन की बात में पीएम मोदी ने कहा की शिक्षा के क्षेत्र में विकास जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा कि 26 नवंबर हमारा संविधान दिवस है। आज ही के दिन हमारे देश में संविधान लागू हुआ। सभी के प्रति समानता हमारे संविधान की खासियत है। साथ ही उन्होंने कहा कि दिन देश ये कैसे भूल सकता है। आतंकियों ने 26/11 के दिन भारत के मुंबई शहर पर हमला किया था। हम पिछले 40 वर्षों से आतंकवाद के कारण बहुत कुछ झेल रहे हैं।

#दिसंबर 2017

'पॉजिटिव इंडिया से प्रोग्रेसिव इंडिया की ओर चलें'

'दिल्ली में हो युवाओं की 'मॉक पार्लियामेंट'

नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2017 को 39वीं बार लोगों से मन की बात की। इसमें मोदी नए साल में पॉजिटिविटी, नए संकल्प, न्यू इंडिया और सरकार के विजन पर बात की। मोदी ने कहा कि साल तो खत्म हो रहा है, लेकिन हम नए विषयों पर बात करते रहेंगे। उन्होंने 2018 में वोटर लिस्ट में जुड़ने वाले यूथ्स का स्वागत किया। कहा कि वोट से ही 'न्यू इंडिया' का सपना साकार होगा।