दैनिक भास्कर हिंदी: जियाउर रहमान, खालिदा ने हत्या की राजनीति का सहारा लिया : शेख हसीना

August 17th, 2020

हाईलाइट

  • जियाउर रहमान, खालिदा ने हत्या की राजनीति का सहारा लिया : शेख हसीना

ढाका, 17 अगस्त (आईएएनएस)। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रविवार को तत्कालीन सेना प्रमुख (और बाद में राष्ट्रपति बने) जियाउर्रहमान और उनकी पत्नी खालिदा जिया पर बंगबंधु की हत्या की राजनीति का सहारा लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने शेख मुजीबुर रहमान के हत्यारों को हर तरह का समर्थन दिया।

शेख मुजीब की शहादत की 45वीं बरसी पर मनाए गए राष्ट्रीय शोक दिवस पर अपने आधिकारिक गणभवन निवास से शेख हसीना ने वर्चुअल चर्चा में हिस्सा लेते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा, जिया ने बंगबंधु के हत्यारों को आकर्षक विदेशी नियुक्तियां भी दीं, जबकि जिया की पत्नी खालिदा ने बंगबंधु के स्वघोषित हत्यारे को वोटों की हेराफेरी करके संसद में जगह दिलाई।

प्रधानमंत्री ने जिया और उनकी पत्नी पर बंगबंधु और अवामी लीग के नेताओं और कार्यकर्ताओं के हत्यारों को बचाने के लिए क्षतिपूर्ति कानून बनाने का भी आरोप लगाया।

अवामी लीग ने ढाका के बंगबंधु एवेन्यू में अपने केंद्रीय कार्यालय में इस चर्चा का आयोजन किया।

हसीना ने कहा, 1 अक्टूबर 2001 के हास्यास्पद राष्ट्रीय चुनाव के माध्यम से पद संभालने के बाद खालिदा जिया ने अपने पति जियाउर्रहमान के नक्शेकदम पर चलते हुए अंधाधुंध हत्याएं शुरू कर दी थीं।

हसीना ने कहा कि तत्कालीन बीएनपी-जमात गठजोड़ ने उनकी पार्टी के अनुसंधान कार्यालय से कंप्यूटर, 300 फाइलों, किताबों और नकदी को लूटने के साथ तोड़फोड़ की थी।

उन्होंने यह भी कहा कि खालिदा जिया ने लोगों पर अनगिनत जुल्म ढाने वाले ऑपरेशन क्लीन हार्ट का संचालन करने वाले लोगों को न केवल जवाबदेही से बचने की अनुमति दी, बल्कि बंगबंधु के हत्यारे पाशा को भी बढ़ावा दिया और पाशा के परिवार को नौकरियों का लाभ भी दिया।

चर्चा की शुरुआत से पहले बंगबंधु रहमान और 15 अगस्त के संहार के अन्य शहीदों की याद में एक मिनट का मौन रखा गया।

एसएसए