comScore

अजित पवार का दावा, पृथक विदर्भ राज्य बनाने वाले थे मुख्यमंत्री

अजित पवार का दावा, पृथक विदर्भ राज्य बनाने वाले थे मुख्यमंत्री

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अपने साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद पृथक विदर्भ राज्य बनाने वाले थे। शुक्रवार को एक न्यूज चैनल से बातचीत में अजित ने कहा कि फडणवीस ने मुख्यमंत्री बनने के बाद मुझसे निजी बातचीत में कहा था कि मेरे साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने के बाद मैं तेलंगाना के तर्ज पर अलग विदर्भ राज्य बनाने का प्रस्ताव सदन में पेश करूंगा। अजित ने कहा कि फडणवीस का अलग विदर्भ राज्य बनाने का पक्का मत था लेकिन जैसे-जैसे उनका मुख्यमंत्री पद का एक-एक महीना बितता गया वैसे उनके मन में आने लगा कि वे विदर्भ सहित महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बने रहे और उन्होंने अपना पद मुख्यमंत्री ठिकाए रखा। 

बालासाहब ठाकरे को गिरफ्तार करना चूक 

अजित ने अपने ही पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व गृहमंत्री छगन भुजबल को मुश्किलों में डाल दिया है। अजित ने कहा कि साल 2000 में तत्कालीन शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे को गिरफ्तार करने का फैसला चूक थी ऐसा किसी के साथ नहीं होना चाहिए। लेकिन कुछ लोगों की जिद के कारण ठाकरे को गिरफ्तार किया गया। इससे पहले शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी के दशहरा सम्मेलन में कहा था कि राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार के खिलाफ ईडी की कार्रवाई बदले की भावना से की गई है तो साल 2000 में ठाकरे को जब गिरफ्तार किया गया तो उस समय बदले की राजनीति नहीं थी क्या। 

कांग्रेस के कारण मनसे को महागठबंधन में नहीं ले पाए 

अजित ने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए मनसे को महागठबंधन में शामिल करने की हमारी इच्छा थी। लेकिन कांग्रेस के कारण हम मनसे को महागठबंधन में शामिल नहीं कर पाए जिसका हमें दुख है।


 

कमेंट करें
IkFlj