comScore

नहीं रहे जेटली, PM मोदी, राष्ट्रपति कोविंद समेत दिग्गजों ने जताया दुख

नहीं रहे जेटली, PM मोदी, राष्ट्रपति कोविंद समेत दिग्गजों ने जताया दुख

हाईलाइट

  • 66 साल के अरुण जेटली ने शनिवार दोपहर 12.07 बजे अंतिम सांस ली

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार दोपहर 12.07 बजे निधन हो गया। जेटली के निधन से देश में शोक की लहर है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत राजनीतिक दलों के दिग्गजों ने शोक व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने जेटली के परिवार से बात कर दुख जताया और उन्हें सांत्वना दी।

अरुण जेटली के निधन पर पीएम मोदी ने दुख जताते हुए कहा, वह बड़ी राजनीतिक हस्ती, बुद्धिजीवी और कानूनी प्रकाशपुंज थे। मैंने उनकी पत्नी संगीता, बेटे रोहन से बात कर उन्हें सांत्वना दी है। पीएम ने कहा, जेटली के निधन से मैंने एक ऐसे मूल्यवान दोस्त को खो दिया, जिसे मैं दशकों से जानता था। मुद्दों पर उनकी गहरी पहुंच और समझ के सामानांतर बहुत कम लोग थे। वह अच्छी तरह जिए और हमें काफी खुशनुमा यादों के साथ छोड़ गए। हम लोग उनकी कमी महसूस करेंगे।

वहीं अरुण जेटली के परिवार की ओर से किए गए आग्रह के बाद पीएम मोदी के विदेश दौरे में अभी तत्काल कोई बदलाव नहीं किया गया है। परिवार ने उनसे दौरा जारी रखने का आग्रह किया था। पीएम मोदी तीन देशों फ्रांस, यूएई और बहरीन की यात्रा पर हैं। पीएम 26 अगस्त को देश लौटेंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जेटली के निधन पर शोक जताते हुए कहा, बीमारी से लंबी लड़ाई के बाद अरुण जेटली के निधन से काफी दुखी हूं। उन्होंने देश के निर्माण में काफी योगदान दिया।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शोक जताते हुए कहा, जेटली का निधन देश और मेरे लिए एक अपूर्णीय क्षति है। मेरे पास अपना दुख व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं। वह एक बुद्धिजीवी और कुशल प्रशासक थे, वह सत्यनिष्ठा से परिपूर्ण शख्सियत थे।

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, अरुण जेटली के निधन से अत्यंत दुःखी हूं, जेटली जी का जाना मेरे लिए एक व्यक्तिगत क्षति है। उनके रूप में मैंने न सिर्फ संगठन का एक वरिष्ठ नेता खोया है, बल्कि परिवार का एक ऐसा अभिन्न सदस्य भी खोया है, जिनका साथ और मार्गदर्शन मुझे वर्षो तक प्राप्त होता रहा। शाह ने जेटली को याद करते हुए लिखा, शमिजाज व्यक्तित्व वाले जेटली जी से मिलना और उनसे विचार विमर्श करना सभी के लिए एक सुखद अनुभव होता था। आज उनके जाने से देश की राजनीति और भारतीय जनता पार्टी में एक ऐसी रिक्तता आयी है जिसकी भरपाई होना जल्दी संभव नहीं है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अरुण जेटली के असामयिक निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, जेटली ने एक सार्वजनिक व्यक्ति, सांसद और मंत्री के रूप में एक लंबी पारी खेली। सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शोक व्यक्त करते हुए कहा, बीजेपी को हमेशा जेटली की मौजूदगी खलेगी।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जेटली को श्रद्धांजलि दी।

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जेटली के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा, हम में से कई लोगों के लिए एक मार्गदर्शक, नैतिक समर्थन और हिम्मत, उससे बहुत कुछ सीखा है। एक उम्दा बड़े दिल वाला इंसान। हमेशा किसी की भी मदद करने के लिए तैयार। उनकी बुद्धिमत्ता, शिथिलता, कसैलेपन का कोई मेल नहीं है। 

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने जेटली को श्रद्धांजलि दी।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर दुख जताते हुए कहा, मेरा और जेटली का सदैव करीबी संबंध रहा,उनका निधन राजनैतिक क्षेत्र की एक अपूर्णिय क्षति है,परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने जेटली के निधन पर दुख जताते हुए कहा, पूर्व वित्त मंत्री का असामयिक निधन देश के लिए बड़ी क्षति है। वह एक कानूनी प्रकाशपुंज और अनुभवी राजनेता थे। उनकी गवर्नेंस स्किल की कमी देश महसूस करेगा। उनके परिवार के साथ हमारी संवेदनाएं हैं।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी जेटली के निधन पर गहरा दुख जताया। उन्होंने लिखा, देश के प्रख्यात विधिवेत्ता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन की खबर से स्तब्ध हूं। जेटली जी छात्र जीवन में ही भाजपा से जुड़े, आपातकाल के खिलाफ आवाज मुखर की एवं आजीवन सकारात्मक राजनीति के साथ मां भारती की सेवा करते रहे।

जेटली के निधन पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त करते हुए कहा, भाजपा के वरिष्ठ नेता का निधन दुःखद। उन्होंने उच्च राजनीतिक मूल्यों एवं आदर्शों की बदौलत सार्वजनिक जीवन में उच्च शिखर को प्राप्त किया। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने अपने शोक संदेश में जेटली द्वारा राष्ट्र को दी गई सेवाओं को याद किया और प्रार्थना की कि पूर्व वित्त मंत्री की आत्मा को शांति मिले। राव ने शोक में डूबे उनके परिवार के सदस्यों के प्रति भी संवेदना व्यक्त की।

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस. जगन मोहन रेड्डी ने भी भाजपा नेता के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की। रेड्डी ने कहा, जेटली कानूनी रूप से एक प्रखर सांसद थे, जिन्होंने मोदी सरकार के दौरान राजनीतिक परिदृश्य पर अपनी अमिट छाप छोड़ी। 

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने व्यक्त किया शोक।

झारखंड के सीएम रघुबर दास बोले- जेटली के योगदान को देश हमेशा याद करेगा।

जेटली के निधन पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने दुख जताते हुए कहा, मेरे मित्र और दिल्ली यूनिवर्सिटी के सीनियर अरुण जेटली के निधन से दुखी हूं। मैं स्टीफंस कॉलेज यूनियन का प्रेजिडेंट था, तब हमारी पहली मुलाकात हुई थी। राजनीतिक मत भिन्नताओं के बावजूद हम एक दूसरे का सम्मान करते थे। उनके बजट पर बहस भी होती थी। देश के लिए बड़ी क्षति।

भारत में चीनी की एंबेसी ने जेटली के निधन पर शोक जताया। उन्होंने कहा, अरुण जेटली के निधन पर हम बेहद दुखी हैं। उनके परिवार के प्रति हम संवेदनाएं प्रकट करते हैं।

कमेंट करें
Ye5fi