comScore

पद्मावती पर बोले BJP सांसद- 'वे लोग क्या जाने 'जौहर', जिनकी स्त्रियां रोज बदलती हैं शौहर'

November 08th, 2017 11:26 IST
पद्मावती पर बोले BJP सांसद- 'वे लोग क्या जाने 'जौहर', जिनकी स्त्रियां रोज बदलती हैं शौहर'

डिजिटल डेस्क, मुबंई। संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' की रिलीज़ डेट जैसे-जैसे पास आती जा रही है, वैसे ही विवाद भी बढ़ते जा रहे हैं। पूर्व सीएम और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती के खुले खत के बाद अब उज्जैन के सांसद प्रो. चिन्तामणि मालवीय ने फेसबुक पर एक पोस्ट डाली है। प्रो. चिन्तामणि मालवीय ने 'पद्मावती' फ़िल्म के खिलाफ लिखा कि चन्द पैसों के लालच के लिए इतिहास से छेड़छाड़ कर फ़िल्म बनाना शर्मनाक और घृणित कार्य है और भंसाली जैसे लोग सिर्फ जूते की भाषा ही समझ आती है। 

प्रो. चिन्तामणि मालवीय ने फेसबुक पर लिखा कि 'वे 'पद्मावती' फ़िल्म का पुरजोर विरोध और बहिष्कार करते हैं और शुभचिंतकों से अनुरोध करते हैं कि इस फ़िल्म को बिल्कुल न देखें। फ़िल्म बनाकर चन्द पैसों के लालच के लिए इतिहास से छेड़छाड़ करना शर्मनाक और घृणित कार्य है। हर भारतीय नारी की आदर्श रानी पद्मावती जी पर भारतीयों को गर्व है। रानी पद्मावती ने अपने सतीत्व और देश औऱ समाज की आन बान शान के लिए हजारों नारियों के साथ स्वयं को आग में झोंक दिया था। उसे तोड़ मरोड़ कर दिखाना वास्तव में इस देश का अपमान है।'

प्रो. मालवीय ने लिखा कि 'भंसाली जैसे लोगों को कोई और भाषा समझ नहीं आती, इन जैसे लोगो को सिर्फ जूते की भाषा ही समझ आती है। यह देश रानी पद्मावती का अपमान नही सहेगा। हम गौरवशाली इतिहास के साथ छेड़खानी भी बर्दाश्त नही कर सकते। अलाउद्दीन खिलजी के दरबारी कवियों द्वारा लिखे गए गलत इतिहास पर संजय लीला भंसाली ने पद्मावती फ़िल्म बना दी है। यह न सिर्फ गलत है बल्कि निंदनीय है। जिन फिल्मकारों के घरों की स्त्रियां रोज अपने शौहर बदलती हैं उन्हें क्या पता जौहर क्या होता है? अभिव्यक्ति के नाम पर संजय भंसाली की मानसिक विकृति नही सहन की जाएगी

गौरतलब है कि 'पद्मावती' को लेकर सांसद और केंद्रीय जल और स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने भी खुला खत लिखा था। उन्होंने लिखा था कि सोचने की आजादी हमें किसी तथ्य को अच्छा या बुरा कहने का अधिकार तो देती है लेकिन हम तथ्यों को बदल नहीं सकते। उमा भारती ने अपने खत में आगे लिखा रानी पद्मावती की गाथा एक ऐतिहासिक तथ्य है और अलाउद्दीन खिलजी एक व्यवचारी हमलावार था औऱ उसकी बुरी नजर पद्मावती पर थी। उन्होंने लिखा कि मनचाहा जवाब न मिलने पर लड़कियों पर तेजाब फेकने वाले चाहे वे किसी धर्म के हों अलाउद्दीन के वंशज ही लगते हैं।

आपको बता दें जहां एक ओर फिल्म 'पद्मावती' का विरोध हो रहा है वहीं दूसरी ओर सूचना और प्रसारण मंत्री स्मृति इरानी ने कहा था कि फिल्म रिलीज को लेकर सरकार ध्यान रखेगी कि कोई समस्या न हो। गौरतलब है कि 'पद्मावती' फिल्म में रानी पद्मावती का किरदार दीपिका पादुकोण निभा रहीं है तो अलाउद्दीन का किरदार उनके बॉयफ्रेंड रणवीर सिंह निभा रहे हैं। कई क्षत्रिय संगठन फिल्म की शूटिंग शुरू होने से ही विरोध कर रहे हैं। क्षत्रिय संगठन का कहना है कि फिल्म में रानी पद्मावती की गाथा से छेड़छाड़ की गई है और वे इसे रिलीज नहीं होने देंगे। रिलीज रोकने के लिए वे कई मंत्रियों से भी मिल चुके हैं।

कमेंट करें
mqYVp