comScore

आंध्र प्रदेश : गोदावरी नदी में डूबी नाव, 12 लोगों की मौत, 24 को बचाया गया

September 16th, 2019 13:02 IST

हाईलाइट

  • आंध्र प्रदेश की गोदावरी नदी में पर्यटक नाव डूबने से 12 लोगों की मौत हो गई
  • नाव डूबने की सूचना मिलते ही राहत और बचाव दल मौके पर पहुंच गया
  • अब तक करीब 24 यात्रियों को बचा लिया गया है जबकि अन्य की तलाश की जा रही है

डिजिटल डेस्क, हैदराबाद। आंध्र प्रदेश की गोदावरी नदी में रविवार को एक पर्यटक नाव के डूबने से 12 लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि नाव के चट्टान से टकराने के चलते ये हादसा हुआ। इसमें 9 क्रू मेंबर और 51 पर्यटक सवार थे। नाव डूबने की सूचना मिलते ही राहत और बचाव दल मौके पर पहुंच गया। अब तक करीब 24 यात्रियों को बचा लिया गया है जबकि अन्य की तलाश की जा रही है। मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने मृतकों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है।

राहत और पुनर्वास विभाग के अधिकारियों के अनुसार, 30-30 सदस्यों वाली एनडीआरएफ की दो टीमों को मौके पर भेजा गया है। बोट पर सवार अधिकांश लोग राजमुंदरी के पास प्रसिद्ध पर्यटक स्थल पापिकोंडालु जा रहे थे।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर घटना पर शोक व्यक्त किया है। आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी में एक नाव के डूबने से बहुत दुख हुआ। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। हादसे की जगह पर फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

नाव के मालिक वेंकट रमण ने दावा किया कि नाव में 150 लाइफ जैकेट मौजूद थे। 

मुख्यमंत्री रेड्डी ने गोदावरी नदी में ऑपरेट की जा रही सभी नौकाओं के लाइसेंस रद्द करने का आदेश दिया है। उन्होंने अधिकारियों से सभी नौकाओं का इंस्पेक्शन करने को भी कहा है। मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गौतम सावांग और मुख्य सचिव एल.वी. सुब्रमण्यम को बचाव कार्यों की बारीकी से निगरानी करने और समय-समय पर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।

उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों को पर्यटकों को बचाने के लिए NDRF, SDRF से अतिरिक्त बल तैनात करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद, पुलिस प्रमुख ने भारतीय नौसेना अधिकारियों से नाव दुर्घटना स्थल पर एक हेलिकॉप्टर तैनात करने के लिए सहायता मांगी है।

पर्यटन मंत्री श्रीनिवास राव ने कहा कि कैपसलाइज्ड बोट के पास पर्यटन विभाग का लाइसेंस नहीं है, लेकिन काकीनाडा पोर्ट अथॉरिटी की अनुमति थी।

राज्य के गृह मंत्री एम सुचारिता ने कहा कि नाव के लिए अनुमति देने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और जन सेना पार्टी के प्रमुख पवन कल्याण ने नाव हादसे पर दुख जताया है। नेताओं ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को बचाव कार्यों में शामिल होने के लिए कहा है। 

कमेंट करें
8Nrnp