comScore

'अमेरिका ने पाक को सुधरने का एक मौका दिया है, उसे यह बात समझनी चाहिए'

January 08th, 2018 20:54 IST
'अमेरिका ने पाक को सुधरने का एक मौका दिया है, उसे यह बात समझनी चाहिए'

डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा पाकिस्तान को दी जाने वाली सैन्य सहायता रोकने और आतंक के मुद्दे पर ढेर सारे आरोप लगाने के बाद अब CIA चीफ ने पाक सरकार को लताड़ लगाई है। CIA चीफ माइक पॉम्पियो ने कहा है कि अमेरिका द्वारा सैन्य मदद रोकना पाकिस्तान के लिए एक चेतावनी है, जिसे उसे समझने की जरुरत है। उन्होंने कहा, 'सैन्य मदद रोककर हमने पाकिस्तानियों को एक मौका दिया है कि वे अपने यहां पनप रहे आतंकियों पर कार्रवाई करे। अगर अभी भी पाक नहीं संभलता है तो यह उसके लिए नुकसानदायक साबित होगा।'

CIA चीफ ने कहा, 'पाकिस्तान का पहले जैसा बर्ताव अब बर्दाश्त नहीं होगा। पाकिस्तान को अब अपनी सरजमीं पर पनप रहे आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।' उन्होंने कहा, 'हमने सशर्त सहायता के लिए पाक को एक मौका दिया है। अगर वह समस्या का समाधान निकाल लेते हैं तो हमें उनके साथ मिलकर काम करने में खुशी होगी। अगर ऐसा नहीं होता है तो हम भविष्य में पाक और अमेरिका की राहें अलग-अलग होंगी।' पॉम्पियों ने यह भी कहा कि अगर पाकिस्तान आतंकियों के खिलाफ कड़े ऐक्शन लेता है तो मदद बहाल की जा सकती है।

गौरतलब है कि आतंक के मुद्दे पर पाकिस्तान के झूठ से परेशान होकर अमेरिका ने पाक को बड़ा झटका देते हुए उसे दी जाने वाली 1624 करोड़ की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी है। इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगार देने के लिए इस्लामाबाद को लताड़ लगाई थी। उन्होंने पाकिस्तानी सरकार को झूठ और धोखा देने वाली सरकार बताया था। उन्होंने कहा था कि आतंकवादियों को पनाह देकर पाकिस्तान हमेशा से अमेरिकी नेताओं को मूर्ख बनाता रहा है।

ट्रंप की टिप्पणियों के बाद लगातार दोनों देशों की ओर से विवाद बढ़ाने वाले बयान सामने आ रहे हैं। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हेली ने पाकिस्तान को वॉशिंगटन के साथ डबल गेम खेलने वाला देश बताया था। वहीं पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री अहसान इकबाल ने पाकिस्तान में पनप रहे आतंक को अमेरिका की ही देन बताया था। उन्होंने कहा था, सोवियत के साथ युद्ध जीतने के लिए अमेरिका ने चरमपंथ को बढ़ावा दिया जो आगे जाकर आतंकवादी संगठनों में बदल गया और अब अमेरिका द्वारा बोए गए बीज की कीमत पाकिस्तान चुका रहा है।

पाक विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इस मुद्दे पर कहा था कि अफगानिस्तान में अपनी असफलता के लिए अमेरिका पाकिस्तान को बलि का बकरा बना रहा है। उन्होंने इससे पहले इस मामले में अमेरिका को ही झूठा करार दे दिया था। 

कमेंट करें
RYdmM