comScore

सोनभद्र: सीएम योगी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात, मदद का आश्वासन

सोनभद्र: सीएम योगी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात, मदद का आश्वासन

हाईलाइट

  • सोनभद्र में जमीन के विवाद को लेकर खूनी संघर्ष में 10 लोगों की मौत हो गई थी

डिजिटल डेस्क, सोनभद्र। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज (21 जुलाई) सोनभद्र पहुंचे और नरसंहार के पीड़ित परिवार से मुलाकात की। सीएम ने उभ्भा में पीड़ितों से मुलाकात की। करीब एक घंटे तक वह पीड़ित परिवार के साथ रहे और सरकार की तरफ से हर तरह की मदद का आश्वासन दिया। इसके बाद उन्होंने पीड़ित परिजनों को मुआवजे का चेक भी सौंपा। हत्याकांड में घायल हुए लोगों के परिजनों को सीएम योगी ने 50-50 हजार रुपए का चेक दिया।

मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिवारवालों की सहायता राशि में वृद्धि की है। मुआवजे के तौर पर मृतक के परिजनों को अब 18.5 लाख रुपये दिए जाएंगे। जबकि घायलों के परिवारजनों को ढाई लाख रुपये की सहायता देंगे।पीड़ितो से मिलने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान सीएम योगी ने कहा, जिन लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है उनके खिलाफ सरकार ने सख्त कार्रवाई की है। सरकार ने तुरंत कार्रवाई करते हुए न केवल प्रधान और उनके सभी लोगों को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही सिंगल बैरल की एक बंदूक, डबल बैरल की तीन बंदूकें, एक रायफल और ट्रैक्टर जब्त करने के साथ 29 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। 

सीएम ने दस आदिवासियों की जमीन के लिए हुई हत्या को राजनीतिक साजिश करार देते हुए कहा, इसकी विस्तृत रिपोर्ट दस दिन के अंदर शासन को मिलेगी। सोनभद्र में आदिवासियों की जमीन कांग्रेस के तत्कालीन एमएलसी के ट्रस्ट के नाम पर कैसे हुई इसका परीक्षण जांच कमेटी करेगी। कांग्रेस के पापों के चलते यह घटना हुई है। जिन लोगों ने गलत तरीके से गरीबों की जमीन को कब्जाया है, उन्हें सरकार बख्शेगी नहीं।

बता दें कि, बीते बुधवार को यूपी के सोनभद्र जिले के एक गांव में करीब 100 बीघा विवादित जमीन को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया था। इस दौरान फायरिंग के साथ जमकर लाठी-डंडे और फावड़े चले थे। इस घटना में 10 लोगों की मौत हो गई थी। हादसे के बाद से तमाम राजनीतिक दल योगी सरकार पर हमलावर हैं। 

दरअसल सोनभद्र नरसंहार घटना को लेकर देशभर में राजनीति शुरू हो गई है। 26 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शनिवार को पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी। प्रियंका शुक्रवार को ही पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची थी लेकिन उन्हें सोनभद्र से 25 किलोमीटर पहले ही हिरासत में ले लिया गया था। प्रियंका ने शुक्रवार की रात मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में गुजारी थी। पीड़ित परिवार से मिलने के लिए प्रियंका धरने पर बैठी थीं। शनिवार दोपहर प्रियंका ने पीड़ित परिवारों की सात महिलाओं सहित कुल 15 लोगों से मुलाकात की थी। इसके बाद कांग्रेस महासचिव वाराणसी के लिए रवाना हो गई थीं। 

नरसंहार के पीड़ित परिजन प्रियंका गांधी से मिलने सोनभद्र से चुनार गेस्ट हाउस पहुंचे थे। पीड़ित परिवार की महिलाएं अपना दर्द बयां करते हुए रोने लगीं तो प्रियंका भी भावुक हो गईं,  पीड़ितों के आंसू पोंछते हुए गले लगा लिया। प्रियंका ने उनकी हिम्मत बढ़ाई और इंसाफ दिलाने का वादा किया।

प्रियंका के बाद यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पीड़ित परिजनों से मिलने पहुंते। इससे पहले इस मुद्दे पर बोलते हुए योगी ने कहा था, यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने सीधे-सीधे इस घटना के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था, इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी, जब कांग्रेस की सरकार थी। 

कमेंट करें
6faFD