comScore

इंदिरा से मोदी की तुलना पर भड़के कांग्रेस नेता अधीर रंजन, बाद में मांग ली माफी

इंदिरा से मोदी की तुलना पर भड़के कांग्रेस नेता अधीर रंजन, बाद में मांग ली माफी

हाईलाइट

  • कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर दिया विवादित बयान
  • प्रधानमंत्री मोदी की गंदी नाली से की तुलना
  • अधीर रंजन की टिप्पण के बाद सदन में हुआ जमकर हंगामा

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। लोकसभा में सोमवार को कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर विवादित बयान दे दिया, हालांकि असंसदीय शब्द होने के कारण लोकसभा की कार्रवाी से इसे हटा दिया गया। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि राष्ट्रपति के अभिभाषण का कंटेंट सत्ताधारी दल ने तैयार करवाया। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद से प्रधानमंत्री की तुलना गलत है क्योंकि सिर्फ नाम नरेंद्र होने से समानता नहीं की जा सकती, हालांकि चौधरी ने बाद में अपने बयान के लिए माफी मांग ली।

अधीर रंजन ने कहा, मैं प्रधानमंत्री का सम्मान करता हूं वे दो बार प्रधानमंत्री बनकर आए हैं। अधीर की बात पूरी होने के साथ ही बीजेपी सांसद प्रतापचंद साड़ंगी ने पीएम मोदी की तुलना इंदिरा गांधी से कर डाली। इस पर अधीर रंजन ने विवादि बयान दे दिया। उन्होंने कहा साधु (इंदिरा गांधी) और शैतान (नरेन्द्र मोदी) की तुलना नहीं करना चाहिए। अधीर रंजन के इस बयान के बाद सदन में हंगामा मच गया। 

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि मैं मोदी जी से पूछना चाहता हूं कि अगर कांग्रेस स्पेस और मिसाइल मिशन न चलाती तो क्या आज चंद्रयान को अंतरिक्ष में भेजने की बात सोची जा सकती थी। देश में टेलीकॉम क्रांति लाने का काम कांग्रेस के शासन में हुआ है और जब टेलीकॉम की बात आती है तो राजीव गांधी का नाम आता है। अगर राजीव जी नहीं होते तो भारत टेलीकॉम क्षेत्र में इतना मजबूत हो पाता।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कोयला और टूजी में आज तक किसी को पकड़ कर रख पाए आप लोग, अब तक तो 6 साल हो गए आपकी सरकार को। चौधरी ने कहा कि आज तक क्यों सोनिया गांधी और राहुल गांधी बाहर हैं, क्यों नहीं इन्हें जेल में नहीं डाल देते, हम तो चाहते हैं कि देश का कानून मजबूत हो और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई हो।

माफी भी मांगी

चौधरी ने पीएम मोदी पर विवादित टिप्पणी करने के बाद माफी भी मांग ली। उन्होंने कहा कि ऐसा गलतफहमी में हुआ है, चौधरी ने कहा कि उन्होंने पीएम मोदी के लिए 'नाली' शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था, यदि प्रधानमंत्री इससे नाराज हैं तो वे माफी मांगते हैं, अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि उनकी मंशा प्रधानमंत्री को चोट पहुंचाने की नहीं थी, यदि उनके बयान से मोदी को चोट पहुंची है तो वे व्यक्तिगत रूप से उनसे माफी मांगते हैं। चौधरी ने कहा कि उनकी हिंदी अच्छी है, नाली कहने का उनका मतलब वाटर चैनल से था।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि पीएम मोदी बड़े सेल्स मैन हैं और हम अपना प्रोडक्ट बेचने में नाकाम रहे और बीजेपी ने अपना अच्छा हो या बुरा प्रोडक्ट अच्छी से बेचने में सफल रही।विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को लेकर अधीर रंजन ने कहा, विंग कमांडर को सम्मानित किया जाना चाहिए और उनकी मूंछों को 'राष्ट्रीय मूंछ' बनाया जाना चाहिए।

कमेंट करें
EI6Rn