comScore

सोनिया गांधी, राहुल और मनमोहन ने दी अरुण जेटली को श्रद्धांजलि

August 25th, 2019 15:46 IST

हाईलाइट

  • अरुण जेटली 9 अगस्त से दिल्ली AIIMS में भर्ती थे

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया। दिल्ली के AIIMS अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। जेटली लंबे समय से बीमार थे। 9 अगस्त से वह दिल्ली AIIMS में भर्ती थे। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। जेटली के निधन की खबर से पूरे देश में शोक की लहर है। 

LIVE UPDATES

9.10 PM : उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने जेटली को दी श्रद्धांजलि।

9.00 PM : यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जेटली को श्रद्धांजलि दी।

8.45 PM : गृहमंत्री अमित शाह ने किया पूर्व वित्तमंत्री जेटली को याद।

3.00 PM : अरुण जेटली का पार्थिव शरीर एम्स से उनके आवास पर लाया गया है।

2.30 PM : अमित शाह ने जेटली को दी श्रद्धांजलि।

एम्स ने बयान जारी कर कहा, बेहद दुख के साथ सूचित कर रहे हैं कि 24 अगस्त को 12 बजकर 7 मिनट पर अरुण जेटली अब हमारे बीच नहीं रहे। अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था। एम्स के वरिष्ठ डॉक्टर उनका इलाज कर रहे थे।

आपको बता दें कि सांस लेने में तकलीफ और बेचैनी की शिकायत के बाद अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती किया गया था। यहां पर उन्हें आईसीयू में रखा गया था। पिछले सप्ताह पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला अरुण जेटली को देखने एम्स पहुंचे थे। 

इसी साल मई में भी जेटली को इलाज के लिये एम्स में भर्ती कराया गया था। मई महीने में अरुण जेटली की किडनी ट्रांसप्लांट की गई थी। जेटली कैंसर का इलाज करवाने अमेरिका भी गए थे। जेटली पेशे से एक वकील थे और भाजपा सरकार के पहले कार्यकाल में पीएम मोदी के मंत्रिमंडल का अहम हिस्सा रहे। उन्होंने वित्त एवं रक्षा दोनों मंत्रालयों का कार्यभार संभाला था।

सेहत खराब रहने के कारण अरुण जेटली ने इस बार का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था। मई में जेटली ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर कहा था, स्वास्थ्य कारणों से वो नई सरकार में कोई ज़िम्मेदारी नहीं लेना चाहते हैं। जेटली ने कहा था, 18 महीनों से वे सेहत संबंधी समस्याओं से जूझ रहे हैं जिस कारण से वह नई सरकार में कोई पद नहीं लेना चाहते हैं।

अरुण जेटली का जन्म 28 दिसंबर 1952 को हुआ था। अरुण जेटली अटल बिहारी वाजपेयी कैबिनेट में साल 2000 में कैबिनेट मंत्री बने थे। राज्यसभा में साल 2009 में नेता विपक्ष बने। 2014 में मोदी सरकार आई तब उन्हें वित्त मंत्री बनाया गया।

कमेंट करें
Ni0eM