comScore

आईसीसी के नियमों पर मोर्गन के सवाल, कहा-फाइनल में इस तरह निर्णय लेना गलत

आईसीसी के नियमों पर मोर्गन के सवाल, कहा-फाइनल में इस तरह निर्णय लेना गलत

हाईलाइट

  • वर्ल्ड कप फाइनल में बाउन्ड्री नियम से इंग्लैंड को किया गया था विजेता घोषित
  • मुझे नहीं लगता है कि दो टीमों का बीच खेले गये फाइनल मैच का नतीजा इस तरह से आए - इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मोर्गन
  • मैं केन विलियमसन को इस तरह मिली हार के लिए दुखी हूं - इयोन मोर्गन

डिजिटल डेस्क। विश्व कप की विजेता इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मोर्गन भी आईसीसी के बाउन्ड्री नियम से असहमत नजर आ रहे हैं। साथ ही उनका कहना है कि वर्ल्ड कप के फाइनल का निर्णय इस तरह नहीं लिया जाना चाहिए। बता दें कि, वर्ल्ड कप फाइनल में मुख्य पारी में निर्णय ना हो पाने की वजह से न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच सुपर ओवर खेला गया था। सुपर ओवर के टाई होने के बाद बाउन्ड्री नियम के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया था। इस निर्णय के बाद से ही आईसीसी का बाउन्ड्री नियम की वजह से खूब मजाक उड़ाया गया था और आलोचना भी हुई थी।

अब इस मुद्दे पर विजेता टीम के कप्तान इयोन मोर्गन का कहना है कि, मुझे नहीं लगता है कि दो टीमों का बीच खेले गये फाइनल मैच का नतीजा इस तरह से आए। मोर्गन ने कहा है कि, हम उस समय कुछ कहने की स्थिति में नहीं थे। क्योंकि उस समय मैच ऐसी स्थिति में था कि वह किसी भी तरफ जा सकता था। ऐसे में हम हार भी सकते थे और जीत भी सकते थे।

इंग्लैंड को विजेता घोषित किए जाने के निर्णय से कई क्रिकेट प्रशंसक असहमत हैं। साथ ही वो इसको वर्ल्ड कप का सही अंत नहीं मानते। वहीं दूसरी ओर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन की सहजता से हार स्वीकार करने की वजह से सराहना की जा रही है। 

मोर्गन ने आगे कहा कि, फाइनल मैच में एक भी ऐसा पल नहीं आया, जब हम कह सकें कि हां, हम इसके हकदार हैं। साथ ही मोर्गन ने कहा कि मैं केन विलियमसन को इस तरह मिली हार के लिए दुखी हूं। मैच के दौरान ऐसा कई बार हुआ जब मैच न्यूजीलैंड के पाले में गया, लेकिन यह वापस हमारे पाले में आ गया। फिर भी यह तर्कसंगत नहीं था। साथ ही मोर्गन ने कहा कि, यह विश्व कप इतिहास का सबसे महान फाइनल मैच था, जिसमें इंग्लैंड को जीत मिली और वह पहली बार चैंपियन बना।

कमेंट करें
uxQFA