comScore

हॉस्टल की 50 छात्राओं को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल में किया भर्ती

हॉस्टल की 50 छात्राओं को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल में किया भर्ती

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नर्सिंग प्रशिक्षणार्थी छात्रावास की 50 छात्राओं को भोजन से फूड प्वाइजनिंग हो गई। फूड प्वाइजनिंग छात्राओं को शासकीय मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया। सभी की हालत खतरे से बाहर बताई गई है। प्वाइजनिंग  से बीमार छात्राएं उमरेड रोड स्थित पांडव कॉलेज के छात्रावास में रहती हैं। 

200 से अधिक छात्राएं रहती हैं हॉस्टल में
केंद्र सरकार के पंडित दीनदायल उपाध्याय स्किल इंडिया कार्यक्रम अंतर्गत उमरेड रोड स्थित बहादुर परिसर के पांडव इंजीनियरिंग कॉलेज में 3 महीने का नर्सिंग प्रशिक्षण चल रहा है। नागपुर तथा पड़ोस के जिलों की छात्राएं पांडव कॉलेज के छात्रावास में रहकर नर्सिंग का प्रशिक्षण ले रही हैं। छात्रावास में 200 से अधिक छात्राएं रहती हैं। रविवार की सुबह 11 बजे के दौरान छात्राओं ने भोजन किया। थोड़ी देर बाद 50 से अधिक छात्राओं को मिचली, उल्टी, चक्कर आने लगा।

होस्टल में उन्हें प्रथमोपचार दिया गया। इसका कोई असर नहीं हुआ, तो कुछ छात्राओं काे निजी अस्पताल ले जाया गया। 25 छात्राओं को रात 11 बजे महिला केयर-टेकर शासकीय मेडिकल अस्पताल ले आई। उनकी जांच करने पर डॉक्टर को फूड प्वाइजनिंग का संदेह हुआ। 11 छात्राओं काे प्रथमोपचार देकर छुट्टी दे दी गई। 14 छात्राओं की तबीयत ज्यादा खराब होने से उन्हें भर्ती कराया गया। डॉ. दीप्ति चांद के नियंत्रण में वार्ड क्रमांक 49 में उनका उपचार चल रहा है। फिलहाल सभी का स्वास्थ्य खतरे से बाहर है।

फूड प्वाइजनिंग का सस्पेंस बरकरार
छात्राओं को मेडिकल में लाने पर भोजन से विषबाधा होने का निदान कर औषधोपचार शुरू किया गया, परंतु छात्राओं को अस्पताल ले आई महिला केयर-टेकर ने डॉक्टर को बताया कि  फूड प्वाइजनिंग  भोजन से नहीं, पानी से हुई है। फूड प्वाइजनिंग  भोजन से हुई या पानी से यह सस्पेंस बरकरार है। बहरहाल अस्पताल प्रशासन ने जांच के लिए नमूने लेकर प्रयोगशाला भेज दिए हैं। इस बीच अन्न व औषधि प्रशासन से छात्रावास, भोजन व पानी की जांच करने की मांग की गई है।

कमेंट करें
W0O5D