comScore

एक हफ्ते निगरानी में रहेंगे चोटिल धवन, फिलहाल रिप्लेसमेंट नहीं, पंत स्टैंड बाय पर

एक हफ्ते निगरानी में रहेंगे चोटिल धवन, फिलहाल रिप्लेसमेंट नहीं, पंत स्टैंड बाय पर

हाईलाइट

  • चोटिल भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन, इंग्लैंड में एक सप्ताह तक निगरानी में रहेंगे
  • टीम प्रबंधन ने किसी भी रिप्लेसमेंट की घोषणा नहीं करने का फैसला किया है
  • चोट के फाइनल एसेसमेंट तक बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज का रिप्लेसमेंट नहीं होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय बल्लेबाज शिखर धवन, जिनके बाएं अंगूठे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विश्व कप मैच के दौरान चोट लग गई थी, इंग्लैंड में एक सप्ताह तक निगरानी में रहेंगे। टीम प्रबंधन ने चोट के फाइनल एसेसमेंट तक बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज के लिए किसी भी रिप्लेसमेंट की घोषणा नहीं करने का फैसला किया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने ट्वीट कर कहा, 'टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन इन दिनों बीसीसीआई की मेडिकल टीम के निरीक्षण में हैं। टीम प्रबंधन ने फैसला किया है कि धवन इंग्लैंड में बने रहेंगे और उनकी प्रोग्रेस की निगरानी की जाएगी।'

टीम प्रबंधन के अनुसार, टीम का उद्देश्य धवन को पूरी फिटनेस हासिल करने का मौका देना है। अगर धवन एक हफ्ते के भीतर सुधार के संकेत देते हैं तो पूरी तरह फिट होने पर उन्हें टीम में वापस रखा जाएगा। यदि नहीं, तो ऋषभ पंत को उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया जा सकता है। मंगलवार को धवन के अंगूठे का स्कैन किया गया, जिसमें पता चला कि उनके अंगूठे में फ्रैक्चर है।

रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में बल्लेबाजी करते वक्त नाथन कुल्टर नाइल की गेंद पर धवन के बाएं हाथ के अंगूठे में चोट लगी थी। चोट के बाद भी धवन ने मैच में 109 गेंदों में 117 रनों की शानदार शतकीय पारी खेली। इस पारी के दौरान उन्होंने 16 चौके लगाए थे। शिखर के शतक की वजह से भारत ऑस्ट्रेलिया के सामने 352 रनों का विशाल लक्ष्य रख पाया था। यह मैच भारत ने 36 रनों से जीता था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धवन की जगह रविंद्र जडेजा ने पूरे 50 ओवर फील्डिंग की थी।

धवन गुरुवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ और रविवार को पाकिस्तान के खिलाफ मैच नहीं खेल पाएंगे। वह 22 जून को अफगानिस्तान के खिलाफ मैच के लिए फिटनेस हासिल कर पाते हैं या नहीं ये देखना होगा। आईसीसी के आयोजनों में शिखर धवन का प्रदर्शन शानदार रहा है। अगर चोट के कारण वह टूर्नामेंट से बाहर होते हैं तो फिर यह भारत के लिए बड़ा झटका होगा।

कमेंट करें
NXVjz