comScore

नागपुर का ट्रैफिक सुधारने अहम कदम : बनेंगे दो और नए जोन, नए दमखम के साथ उतरेंगी टीम 

March 09th, 2019 17:51 IST
नागपुर का ट्रैफिक सुधारने अहम कदम : बनेंगे दो और नए जोन, नए दमखम के साथ उतरेंगी टीम 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। यातायात व्यवस्था को और सुगम बनाने के लिए दो और नए जोन बनाए जाएंगे। शहर पुलिस आयुक्त डॉ. भूषणकुमार उपाध्याय ने यह निर्णय लिया है। ये दोनों नए जोन होंगे कामठी और नंदनवन (पुराना सक्करदरा)।  इन दोनों जोन के शुरू होने पर शहर में 10 ट्रैफिक पुलिस जोन हो जाएंगे। तीसरा जोन भी प्रस्तावित है, इसे भी जल्द शुरू करने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इसका उद्देश्य यह है कि किसी भी घटनास्थल पर ट्रैफिक पुलिस जल्द पहुंचकर मदद कर सके और  ट्रैफिक जाम को तत्काल सुचारू कर सके। 

वर्कलोड भी कम हाेगा

कामठी और नंदनवन जोन शुरू होने से इंदोरा और अजनी यातायात पुलिस विभाग के अधिकारियों- कर्मचारियों का वर्कलोड भी कम हाे जाएगा। इससे यातायात व्यवस्था में सुधार लाने में मदद मिल सकेगी। अजनी ट्रैफिक जोन के अंतर्गत आने वाले सक्करदरा, इमामवाड़ा और नंदनवन थाना अब नंदनवन ट्रैफिक जोन से जुड़ जाएंगे। इसी तरह इंदोरा ट्रैफिक जोन के अंतर्गत कलमना क्षेत्र कामठी ट्रैफिक जोन से जुड़ जाएगा। कामठी ट्रैफिक जोन में नया कामठी, पुराना कामठी और कलमना थाना शामिल हो जाएगा। 

हर जोन के पास 3 थाने

इधर, ट्रैफिक जोन का विभाजन होने से अजनी का नंदनवन ट्रैफिक जोन और इंदोरा का कामठी ट्रैफिक जोन हो जाएगा। हुडकेश्वर, बेलतरोड़ी थाना अजनी ट्रैफिक जोन के अंतर्गत आ जाएंगे। हालांकि नंदनवन ट्रैफिक जोन का नाम सक्करदरा के नाम से ही चलता रहेगा। अजनी, इंदोरा, नंदनवन और कामठी ट्रैफिक जोन का अब तीन-तीन थानों में विभाजित हो जाएंगे। इसमें से हर ट्रैफिक जोन के पास 3 थाने होंगे। शहर में 5 पुलिस परिमंडल के अंतर्गत मौजूदा समय में 8 ट्रैफिक जोन कार्यरत हैं, जिसमें सीताबर्डी ट्रैफिक जोन, एमआईडीसी, सोनेगांव, सदर, कॉटन मार्केट, लकड़गंज, अजनी और इंदोरा ट्रैफिक जोन शामिल हैं।

पुलिस आयुक्त का मानना है कि शहर का दायरा बढ़ने के साथ ट्रैफिक भी बढ़ गया है। इसलिए ट्रैफिक जोन के विभाजन की आवश्यकता है। मौजूदा समय में शहर पुलिस परिमंडल के 5 जोन हैं। इस जोन के अंतर्गत आने वाले ट्रैफिक जोन  में पुलिस निरीक्षक स्तर का अधिकारी ट्रैफिक जोन का मुखिया होता है। उसकी निगरानी में उस क्षेत्र की यातायात व्यवस्था संचालित होती है। सूत्रों के अनुसार, नागपुर शहर की जनसंख्या 28 लाख के पार और वाहनों की संख्या 15 लाख के आस-पास हो चुकी है। ऐसे में शहर में ट्रैफिक जाम होने पर दायरा बड़ा होने से ट्रैफिक पुलिस मदद करने जल्दी नहीं पहुंच पाती है और नागरिकों में सूत्र बताते हैं कि यातायात पुलिस विभाग में 609 पुलिस कर्मी कार्यरत हैं, जिनमें एक पुलिस उपायुक्त, 10 पुलिस निरीक्षक, 8 एपीआई, आठ पीएसआई, 68 एएसआई शामिल हैं। कर्मचारियों में 133 हेड कांस्टेबल, 290 पुरुष और 94 महिला कांस्टेबल का समावेश है। 

सामने आ रही कई बातें

इस बीच, नंदनवन और कामठी ट्रैफिक जोन की जिम्मेदारी पर कई तरह की बातें सामने आ रहीं हैं। संभवत: कामठी और नंदनवन ट्रैफिक जोन में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शैलेश शंखे और महेश चव्हाण को जिम्मेदारी पुलिस आयुक्त दे सकते हैं। साथ ही खुशाल तिजारे और रोशन यादव के नाम पर भी विचार किया जा सकता है। पुलिस निरीक्षक शैलेश शंखे इसके पहले काफी चर्चा में रह चुके हैं। उन्हें ट्रैफिक जोन मिलने पर दूसरे वरिष्ठ पुलिस निरीक्षकों के मन में मनमुटाव आ सकता है। सूत्र बताते हैं कि जोन-1 का क्षेत्राधिकार सबसे बड़ा है और यह सोनेगांव, बजाज नगर, प्रताप नगर, वाडी, एमआईडीसी से लेकर हिंगना तक फैला हुआ है। जोन-2 में सीताबर्डी, सदर, मानकापुर, गिट्टीखदान, धंतोली, अंबाझरी और अन्य भीड़भाड़ वाले इलाके आते हैं। 

पुलिस आयुक्त डा. भूषणकुमार उपाध्याय के मुताबिक शहर में दिन यातायात की परेशानी बढ़ती जा रही है। कई बार ट्रैफिक पुलिस के जवान दूरी अधिक होने के कारण समय रहते घटनास्थल पर नहीं पहुंच पाते हैं। इसका कारण यह है कि वह खुद ट्रैफिक जाम में फंस जाते हैं। इसलिए ट्रैफिक जोन का विभाजन किए जाने पर यातायात पुलिस कर्मियों को किसी भी घटनास्थल पर जल्द से पहुंचकर मदद करने में सुविधा होगी। इसलिए शहर में दो और नए ट्रैफिक जोन बनाने का निर्णय लिया गया है। यह ट्रैफिक जोन नंदनवन और कामठी होंगे। 

कमेंट करें
56LxK