comScore

ह्यूस्टन: PM मोदी के सामने बोले ट्रंप- इस्लामिक आतंकवाद से लड़ेंगे भारत-अमेरिका


हाईलाइट

  • ट्रंप ने कहा- भारत और अमेरिका के बीच संबंध पहले से ज्यादा मजबूत हुए हैं
  • भारत-अमेरिका मजबूत रक्षा साझेदारी स्थापित कर रहे हैं और जल्द ही नए रक्षा सौदों को अंतिम रूप देने के लिए तैयार हैं

डिजिटल डेस्क, ह्यूस्टन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को हाउडी मोदी कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान कहा कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध पहले से ज्यादा मजबूत हुए हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने इस्लामिक आतंकवाद से लड़ने के लिए आवाज उठाई और भारत के साथ मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की बात कही।

ट्रंप ने कहा, भारत-अमेरिका दोनों देशों के लिए सीमा की सुरक्षा बेहद महत्वपूर्ण है। अवैध प्रवासी एक खतरा है। हम चरमपंथी इस्लामिक आतंकवाद से निर्दोष लोगों को मिलकर बचाएंगे। ट्रंप ने कहा, हम भारतीय-अमेरिकी लोगों को कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद के खतरे से बचाने के लिए गर्व से साथ खड़े हैं। ट्रंप ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी के साथ दोनों देशों को और समृद्ध बनाने के लिए काम करना चाहता हूं, भारतीय कंपनियां अमेरिका में हजारों लोगों को नौकरी दे रही हैं। अमेरिका में अभूतपूर्व निवेश हो रहा है। भारत भी यहां निवेश कर रहा है और हम भारत में ऐसा ही कर रहे हैं।

 भारत-अमेरिका कई नए रक्षा सौदों को अंतिम रूप देंगे 
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिका और भारत एक मजबूत रक्षा साझेदारी स्थापित कर रहे हैं और दोनों पक्ष जल्द ही नए रक्षा सौदों को अंतिम रूप देने के लिए तैयार हैं। एनआरजी स्टेडियम में 50,000 भारतीय-अमेरिकियों की मौजूदगी में राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, पिछले एक दशक में भारत में अमेरिकी रक्षा बिक्री 18 अरब डॉलर तक पहुंच गई है। उन्होंने कहा, हम जल्द ही कई नए रक्षा सौदों को पूरा करना चाहते हैं। इनमें से कईयों पर काम चल रहा है।

ट्रंप ने कहा, हम अमेरिकी अंतरिक्ष बल का निर्माण कर रहे हैं और अंतरिक्ष सहयोग में हाथ मिलाने के लिए भारत के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। नवंबर में भारत और अमेरिका हमारे रक्षा समझौते की प्रगति का प्रदर्शन करेंगे, जिसके तहत सैन्य अभ्यास टाइगर ट्रायंफ आयोजित किया जाएगा। यह बहुत अच्छा नाम है। दोनों पक्ष अपने राष्ट्रों को पहले से कहीं अधिक समृद्ध बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

कमेंट करें
Tl1ze