comScore

घर में लगातार 11 टेस्ट सीरीज जीतने वाला पहला देश बना भारत, अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराया

घर में लगातार 11 टेस्ट सीरीज जीतने वाला पहला देश बना भारत, अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराया

हाईलाइट

  • भारत ने टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में साउथ अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराया
  • भारतीय टीम ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है
  • भारतीय टीम की घरेलू मैदान पर ये लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीत

डिजिटल डेस्क, पुणे। भारत ने महाराष्ट्र क्रिकेट संघ (एमसीए) स्टेडियम में खेले गए टेस्ट सीरीज के दूसरे मैच में साउथ अफ्रीका को पारी और 137 रन से हराया। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। भारतीय टीम की पारी के लिहाज से साउथ अफ्रीका के खिलाफ यह सबसे बड़ी जीत है। पिछली बार भारत ने साउथ अफ्रीका को 2008 में पारी और 90 रन से हराया था। वहीं भारतीय टीम की घरेलू मैदान पर ये लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीत है। भारतीय टीम आखिरी बार 2012 में इंग्लैंड से टेस्ट मैचों की सीरीज हारी थी। 

मैच में भारत ने पहली पारी में 5 विकेट पर 601 रन बनाकर पारी घोषित की थी। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका पहली पारी में 275 पर ऑलआउट हुई। फॉलोऑन खेलते हुए दूसरी पारी में अफ्रीकी टीम 189 रन ही बना सकी। दोनों टीमों के बीच सीरीज का आखिरी मैच 19 अक्टूबर से रांची में होगा। पहला टेस्ट भारत 203 रन से जीता था।

दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका के लिए सबसे ज्यादा 48 रन डीन एल्गर ने बनाए। टेम्बा बवुमा ने 38, वर्नोन फिलैंडर ने 37 और केशव महाराज ने 22 रन का योगदान दिया। भारत के लिए उमेश यादव और रविंद्र जडेजा ने 3-3 विकेट लिए। अश्विन को 2, इशांत शर्मा और मोहम्मद शमी को 1-1 सफलता मिली।

इससे पहले दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन शनिवार को साउथ अफ्रीका को उसकी पहली पारी में 275 रन पर ऑल आउट कर दिया था। मेजबान भारत ने अपनी पहली पारी शुक्रवार को 5 विकेट पर 601 रनों पर घोषित कर दी थी। इस लिहाज से भारत के पास 326 रनों की बढ़त है। मेहमान टीम के ऑल आउट होते ही स्टंप्स की घोषणा कर दी गई थी।

साउथ अफ्रीका की पहली पारी में निचले क्रम के बल्लेबाज केशव महाराज ने सर्वाधिक 72 रन बनाए। उनके अलावा कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने 64, वॉर्नोन फिलेंडर ने नाबाद 44 , थ्यूनिस डी ब्यून ने 30 और क्विंटन डी कॉक ने 31 रन बनाए। साउथ अफ्रीका ने चायकाल तक 8 विकेट पर 197 रन बना लिए थे और उसके लिए अब फॉलोऑन से बचना लगभग नामुमकिन हो गया था। लेकिन चायकाल के बाद महाराज और फिलेंडर ने 9वें विकेट के लिए 109 रनों की साझेदारी करके साउथ अफ्रीका को कुछ हद तक मजबूत स्थिति में पहुंचाया।

अश्विन ने महाराज को रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराके भारत को अहम सफलता दिलाई। महाराज ने 132 गेंदों पर 12 चौके लगाए। उनका यह पहला अर्धशतक है। अश्विन ने इसके बाद कगिसो रबादा (2) को भी आउट करके साउथ अफ्रीका को 275 रनों पर समेट दिया। फिलेंडर ने 192 गेंदों की नाबाद पारी में 6 चौके लगाए।

भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन ने 4, तेज गेंदबाज उमेश यादव ने 3, मोहम्मद शमी ने 2 और रविंद्र जडेजा ने 1 विकेट हासिल किया। अश्विन ने इसके साथ ही साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने 50 विकेट पूरे कर लिए हैं। अश्विन से पहले अनिल कुंबले 84, जवागल श्रीनाथ 64 और हरभजन सिंह 60 विकेट हासिल कर चुके हैं।

इससे पहले भारत की ओर से पहली पारी में कोहली ने नाबाद दोहरे शतक के अलावा मयंक अग्रवाल ने 108 और रविंद्र जडेजा ने 91 रन बनाए थे।

टीमें

भारत: रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), रविंद्र जडेजा, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, इशांत शर्मा, उमेश यादव, मोहम्मद शमी।

साउथ अफ्रीका: डीन एल्गर, एडेन मार्कराम, थिउनिस डी ब्रुईन, टेम्बा बवुमा, फाफ डुप्लेसिस (कप्तान), क्विंटन डीकॉक (विकेटकीपर), सेनुरान मुथुसामी, वर्नोन फिलैंडर, केशव महाराज, कगिसो रबाडा, एनरिच नोर्त्जे।

कमेंट करें
3SEmf