comScore
Dainik Bhaskar Hindi

'One Man Band' ये अकेले ही बजा लेते हैं 45 इंस्ट्रूमेंट्स, देखें VIDEO

BhaskarHindi.com | Last Modified - November 16th, 2017 11:15 IST

1.5k
0
1

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। वो कहते हैं न कि ये अकेला ही दस के बराबर है लेकिन हम आज आपको मिलाने जा रहे हैं मुम्बई में रहने वाले एक ऐसे शख्स से जो एक नहीं बल्कि 45 लोगों के बराबर है। जो एक बार में 1, 2 या 3 नहीं बल्कि 45 म्युजिक इंस्ट्रूमेंट्स बजा लेता है। अक्सर हम किसी एक इंस्ट्रूमेंट को बजाने वाले के हुनर के दीवाने हो जाते हैं और उसकी वाहवाही करने से नही थमते तो अगर आप इनके टैलेंट को एक बार देख लें तो यकीनन ही आप उनके दीवाने हो जाएंगे। ये हैं मायानगरी में रहने वाले मात्र 24 साल के ग्लैडसन पीटर जो बिना किसी मुश्किल से एक साथ 45 इंस्ट्रूमेंट्स को बजा सकते है।

'वन मैन बैंड' के नाम से जाने जाते हैं 
वैसे तो पीटर के नाम से सभी उन्हें पहचानते हैं लेकिन उनके इस हुनर ने उन्हें एक नया नाम दे दिया है, जो उनकी पहचान बन गया है। पीटर को सभी लोग 'वन मैन बैंड' के नाम से जानते हैं। देखा जाए तो पीटर 45 म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाने में माहिर हैं लेकिन एक बार में वो एक साथ एक किट के माध्यम से 13 वोकल और दूसरे यंत्रो को बजा सकते हैं। इसके लिए उन्होनें एक स्पेशल किट बनाया हुआ है जिसमें 13 यंत्र आपस में जुड़े हैं जिन्हें पीटर अपने हाथ, पैर और मुंह से कंट्रोल करते हैं। इस किट का वजन लगभग 25 किलो है जिसे वो अपनी कमर पर पहनते हैं।

आज सबको इंस्पायर करने वाले कभी थे इतने बीमार

समाज में आज अपनी एक अलग पहचान बना चुके पीटर उर्फ 'वन मैन बैंड' एक सोशल कैंपेन से जुड़े हुए हैं जिसमें वो पैसिव स्मोकिंग के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। दरअसल पैसिव स्मोकिंग से उनको कॉलेज के दिनों में काफी नुकसान उठाना पड़ा था, कॉलेज के आखिरी दिनों में फेफड़ों में हुई टीबी की वजह से पीटर के दिल में दो छेद हो गए थे, जिस पर डॉक्टरों ने उन्हें पैसिव स्मोकिंग के लिए अवेयर किया था कि पेसिव स्मोकिंग से उनकी हालत काफी खराब हो चुकी है। यहीं से उनको अपनी लाइफ में एक मोटिव या सलमान खान के अंदाज मे कहें तो जिंदगी जीने के लिए 'किक' मिली। इसलिए उन्होंने पिछले साल यानी 2016 में तय किया कि वो कम से कम 11 इंस्ट्रूमेंट्स को एक साथ बजाकर कैंपेन के जरिए लोगों को सिगरेट-तंबाकू छोड़ने के लिए प्रेरित करेंगे।

500 मीटर भी नहीं दौड़ सकते पीटर

3 साल की उम्र में ही पीटर को म्यूजिक से लगाव हो गया था। और अब मुंबई में रहने वाले पीटर देशभर में 200 से ज्यादा कॉन्सर्ट कर चुके हैं। अपनी यहां तक की जर्नी के बारे में पीटर बताते हैं कि लम्बी बीमारी के बाद उनका शरीर काफी कमजोर हो गया है। वो आधा किलोमीटर दौड़ने में ही बुरी तरह हांफने लग जाते हैं, लेकिन म्यूजिक के प्रति अपने लगाव के चलते न सिर्फ इतने भारी इंस्ट्रूमेंट्स लेकर चलते हैं बल्कि उन्हें बखूबी बजाते भी हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर