comScore

केंद्र सरकार की अनुमति के बिना भारत-पाक क्रिकेट की कोई संभावना नहीं- IPL चेयरमैन

February 19th, 2019 12:57 IST

हाईलाइट

  • पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर पाकिस्तान की चौतरफा आलोचना हो रही है।
  • इस हमले की जिम्मेदारी पाक द्वारा संरक्षित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।
  • IPL चेयरमैन ने कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों की कोई संभावना नहीं है।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर पाकिस्तान की चौतरफा आलोचना हो रही है। इस हमले में भारत के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी पाक द्वारा संरक्षित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इसी कड़ी में रविवार को क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (CCI) ने BCCI से वर्ल्डकप 2019 में भारत-पाक मैच नहीं करवाने की मांग की थी। इसका जवाब देते हुए IPL के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों की कोई संभावना नहीं है।

राजीव शुक्ला ने कहा, 'हमारी तरफ से सबकुछ स्पष्ट है। जब तक केंद्र सरकार नहीं कहेगी या अनुमति नहीं देती है, तब तक भारत-पाक मैच नहीं होंगे। खेल को राजनीति से अलग रखना चाहिए, लेकिन अगर कोई देश आपके खिलाफ आतंकवाद प्रायोजित कर रहा है, तो जाहिर सी बात है कि यह उस देश के साथ हमारे खेल संबंध को भी प्रभावित होगा।'

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा? शुक्ला ने इस सवाल को यह कहते हुए टाल दिया कि 'हम आपको इस बारे में अभी कुछ नहीं बता सकते। वर्ल्ड कप अभी बहुत दूर है। हम देखेंगे कि आगे क्या होता है।' 

शुक्ला ने कहा, 'लोग इस हमले से नाराज हैं, सभी अलग-अलग तरीके से विरोध जता रहे हैं। यह जाहिर सी बात है कि लोगों का गुस्सा निकलेगा। पाकिस्तान को इन चीजों पर ध्यान देना चाहिए। उन्हें आतंकवाद का समर्थन नहीं करना चाहिए। जबसे हमारी सरकार थी, हम तबसे यह कहते आ रहे हैं। हमने इन आतंकी हमलों में उनकी भागीदारी के बारे में कई दस्तावेज दिए, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुए।'

बता दें कि गुरुवार को जम्मू से श्रीनगर जाते समय CRPF के काफिले पर हुए फीदायीन हमले 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले के बाद देश भर के लोगों ने गुस्सा व्यक्त किया और पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं कुछ लाेगाें ने पाक एक्टर्स और फिल्मों पर बैन लगाने की मांग भी की है। 

कमेंट करें
dEs6I