comScore

कानूनी दांव पेंच में उलझा जाकिर नाइक, मलेशिया के 4 मंत्रियों को भेजा नोटिस

कानूनी दांव पेंच में उलझा जाकिर नाइक, मलेशिया के 4 मंत्रियों को भेजा नोटिस

हाईलाइट

  • जाकिर की बढ़ने वाली हैं दिक्कतें
  • रद्द हो सकती है स्थायी नागरिकता
  • पुलिस कर रही बयान की जांच

डिजिटल डेस्क, कुआला लंपुर। विवादित इस्लामिक प्रचारक डॉ. जाकिर नाइक की मलेशिया में दिक्कतें बढ़ने वाली हैं। मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मुहम्मद तीन दिन पहले कह चुके हैं कि नाइक कि गतिविधियां मलेशिया के लिए नुकसानदेह साबित होने पर स्थायी निवासी (परमानेंट रेजिडेंट) दर्जा वापस लिया जा सकता है। मलेशिया की पुलिस अल्पसंख्यकों के खिलाफ दिए गए जाकिर के बयान की जांच कर रही है।

मलेशया के स्थानीय मीडिया के मुताबिक जाकिर ने एक लॉ फर्म के जरिए मलेशिया के पेनांग राज्य के उपमुख्यमंत्री पी रामासामी, बगान डलाम असेंबली के सदस्य सतीस मुनिआंदी, पूर्व राजदूत दातुक डेनिस इगनेटियस और कलांग के सांसद चार्ल्स सेंटियागो के खिलाफ नोटिस भेजा  है। नोटिस में कहा गया है कि मलेशिया के चारों नेता जाकिर से मुआवजे के साथ माफी मांगे, नहीं तो दो दिन में अवमानना का केस दर्ज कर दिया जाएगा।

इससे पहले नाइक ने मानव संसाधन मंत्री एम कुलासेगरन और 4 अन्य के खिलाफ भी पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। नाइक ने दर्ज रिपोर्ट में कहा था कि पांचों ने उसके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया है। सभी को नोटिस लॉ फर्म अकबेरदीन एंड कंपनी की तरफ से भेजे गए हैं। नाइक ने रामासामी, मुनिआंदी, इगनेटियस और सेंटियागो को लॉ कंपनी के जरिए नोटिस भेजे हैं, उसमें उनके कुछ लेखों और प्रेस रिलीज का हवाला दिया गया है।

बता दें कि मलेशिया में जाकिर नाइक की जमकर आलोचना की जा रही है। मलेशिया के अल्पसंख्यकों के लिए दिए गए बयान पर जाकिर के खिलाफ 115 पुलिस रिपोर्ट दर्ज की जा चुकी है। इससे पहले जाकिर की तरफ से पुलिस में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में उसने दावा किया था कि अपने भाषण में जाकिर ने मलेशिया की तारीफ की थी कि यहां अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा की जाती है।

Loading...
कमेंट करें
ckeJP