comScore

पूर्व सीएम एसएम कृष्णा के दामाद और CCD के मालिक वीजी सिद्धार्थ लापता

July 30th, 2019 17:22 IST
पूर्व सीएम एसएम कृष्णा के दामाद और CCD के मालिक वीजी सिद्धार्थ लापता

हाईलाइट

  • पुलिस ने कहा कि भारतीय कैफे श्रृंखला, कैफे कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ मंगलुरु में नेत्रवती नदी के पास लापता हो गए हैं
  • कैफे कॉफी डे के मालिक वीजी सिद्धार्थ मंगलुरु में नेत्रवती नदी के पास से लापता

डिजिटल डेस्क, मंगलुरु। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा के दामाद और कैफे कॉफी डे (CCD) के संस्थापक-मालिक वीजी सिद्धार्थ मंगलुरु से लापता हो गए हैं। सिद्धार्थ सोमवार शाम मंगलुरु में नेत्रवती नदी के पास से लापता हैं। बताया जा रहा है, सिद्धार्थ 29 जुलाई को मंगलुरु आ रहे थे। बीच रास्ते में सोमवार शाम गाड़ी से उतर गए और टहलने लगे। इसके बाद से वे लापता हैं। CCD पर करीब 7000 करोड़ रुपए का कर्ज था जिसकी वजह से वो काफी तनाव में थे। उनके लापता होने के बाद एक खत भी मिला है जिससे पुलिस आत्महत्या की भी आशंका जता रही है।

कर्नाटक पुलिस ने नदी और आसपास के इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। मंगलुरु पुलिस कमीश्नर संदीप पाटिल ने बताया, नाव और स्थानीय मछुआरों की मदद से नेत्रावती नदी में तलाश जारी है। सिद्धार्थ की खोज में 200 कर्मियों समेत 25 गोताखोरों को लगाया गया है।

सिद्धार्थ के लापता होने की खबर मिलते ही कांग्रेस नेता डी शिवकुमार, पूर्व सीएम एसएम कृष्णा के बेंगलुरु आवास पर पहुंचे। शिवकुमार ने कहा, इस घटना पर यकीन नहीं होता। मैंने जांच की मांग उठाई है। हम नहीं जानते कि वह गायब हैं या फिर कोई उन्हें उठा ले गया है।

इस घटना को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा से मुलाकात की।  

जानकारी के मुताबिक, वीजी सिद्धार्थ बेंगलुरु से यह कहकर निकले थे कि वह सकलेशपुर जा रहे है, लेकिन रास्ते में अपने ड्राइवर से मंगलुरु जाने के लिए कहा। नेत्रावती नदी के पुल पर पहुंचते ही सिद्धार्थ कार से नीचे उतरे और अपने ड्राइवर को जाने के लिए कहा। सूत्रों के अनुसार, लापता होने से पहले सिद्धार्थ ने अपने सीएफओ से बात की थी। बताया जा रहा है, कैफे कॉफी डे पर करीब सात हजार करोड़ का लोन है। पुलिस को शक है, लोन के कारण सिद्धार्थ ने सुसाइड कर लिया।

वीजी सिद्धार्थ को आखिरी बार सोमवार रात मंगलुरु में नेत्रावती नदी के पास देखा गया था। उनके ड्राइवर के बयान के आधार पर यह आशंका जताई जा रही है कि, उन्होंने उल्लल पुल से छलांग लगा दी है। इसके बाद से प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

इसी बीच उनकी एक चिट्ठी भी सामने आई है। इस चिट्ठी में सिद्धार्थ ने लिखा है, मैंने बहुत संघर्ष किया लेकिन एक इक्विटी पार्टनर के दबाव को और बर्दाश्त नहीं कर सकता। वह मुझ पर लगातार शेयर बायबैक करने के लिए दबाव बना रहे हैं, जो ट्रांजेक्शन मैंने आंशिक रूप से 6 महीने पहले एक दोस्त के साथ पूंजी इकट्ठा करने के लिए किया था। सिद्धार्थ ने अपने निवेशकों से माफी मांगते हुए सरेंडर करने की बात लिखी है। 

स्थानीय विधायक और कांग्रेस नेता यूटी अब्दुल खदर भी मंगलवार सुबह खोज अभियान में शामिल हुए। खदर ने यहां कहा, हम बहुत चिंतित हैं कि हमारा दोस्त, एक बहुत अच्छा इंसान और हजारों लोगों को नौकरी देने वाला व्यक्ति कल से लापता है। सिद्धार्थ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और महाराष्ट्र के राज्यपाल एसएम कृष्णा के दामाद हैं।

कमेंट करें
IzAWr