comScore
Dainik Bhaskar Hindi

कश्मीरी पंडितों ने बताया राहुल गांधी का गोत्र, कहा- हमारे पास है गांधी परिवार की वंशावली

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 04th, 2018 11:53 IST

4.5k
0
0

News Highlights

  • कश्मीरी पंडितों ने बताया राहुल गांधी का गौत्र
  • कश्मीरी पंडिता ने कहा हमारे पास है गांधी परिवार की वंशावली
  • कश्मीरी पंडितों के मुताबिक राहुल गांधी का दावा सही


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजस्थान के पुष्कर में सरोवर घाट पर पूजा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना गोत्र दत्तात्रेय बताया था। उन्होंने कहा था की मैं कौल ब्राम्हण हूं। अब कश्मीर पंडितों ने भी इस बात की पुष्टि की है। कश्मीर पंडित ओमकार नाथ शास्त्री ने कहा कि राहुल गांधी ब्राम्हण हैं, उनका गोत्र दत्तात्रेय है। वहीं पुजारी दीनानाथ कौल ने कहा है कि हमारे पास गांधी परिवार की वंशावली का पूरा ब्यौरा है। पुजारी ने बताया कि राहुल गांधी के पूर्वज पंडित मोतीलाल नेहरू, पंडित जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और परिवार के अन्य सदस्यों को पंडितों ने पुष्कर के सरोवर घाट पर पूजा करवाई थी।                                                                             

बता दें कि राहुल गांधी के गोत्र को लेकर लगातार बीजेपी सवाल खड़े कर रही है। राहुल के गोत्र को लेकर देश की सियासत में मचे बवाल के बीच कश्मीर पंडितों ने कहा है कि राहुल गांधी ने अपने गोत्र को लेकर जो दावा किया था वह सही है। पंडित ओमकर नाथ ने कहा, भारतीय रिवाजों के अनुसार महिला का विवाह के बाद गोत्र परिवर्तन हो जाता है। इंदिरा गांधी का विवाह फिरोज गांधी के साथ हुआ था, लेकिन उन्होंने अपना धर्म कभी नहीं बदला। उनका अंतिम संस्कार भी हिन्दू पंरपराओं के अनुसार हुआ। इंदिरा गांधी कौल गोत्र की थीं। उनके बेटे राजीव गांधी और संजय गांधी का गोत्र भी वहीं था जो इंदिरा गांधी का है। इसलिए राहुल गांधी जिस गोत्र का दावा कर रहे है वही सही है। अगर इंदिरा गांधी विवाह के साथ ही अपना गोत्र परिवर्तन कर लेती है तो उनका गोत्र उसी समय समाप्त हो जाता। 

पंडित ओमकर ने कहा, पूर्व पीएम राजीव गांधी ने इटली की सोनिया गांधी से विवाह किया था। लेकिन राजीव ने भी अपना धर्म परिवर्तन नहीं किया। यही वजह रही की राजीव गांधी को उनकी मां का गोत्र मिला, इसी तरह राजीव का गोत्र उनके बेटे राहुल गांधी को मिला। यही कारण की राहुल गांधी अपने गोत्र को लेकर जो दावा कर रहे हैं। उसे हम सही मान रहे है। पंडित ओमकार के अनुसार शास्त्रों में ऐसा वर्णित है कि जो मां का गोत्र होता है वहीं बच्चों को मिलता है। गौरतलब है कि राहुल गांधी राजस्थान के पुष्कर में चुनाव प्रचार के दौरान ब्राह्मा मंदिर दर्शन के लिए गए थे। वहां उन्होंने पूजा के दौरान पंडितों के पूछने पर अपना गोत्र दत्तात्रेय और खुद को कौल ब्राह्मण बताया था। 

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें