comScore

सड़क से संसद तक पहुंची हिंसा की आग, विपक्ष ने पीएम से मांगा जवाब

September 25th, 2018 18:12 IST
सड़क से संसद तक पहुंची हिंसा की आग, विपक्ष ने पीएम से मांगा जवाब

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पुणे के महा कोरेगांव भीमा इलाके में दो गुटों के बीच संघर्ष के बाद माहौल तनावपूर्ण है। इसकी आंच अब राजधानी मुंबई तक पहुंच गई है। महाराष्ट्र बंद के आह्वान के बाद अब हिंसा का असर राज्य में दैनिक जनजीवन पर पड़ता दिखाई दे रहा है। मुंबई के मशहूर डब्बावालों ने आज अपनी सर्विस को ठप कर दिया है। वहीं महाराष्ट्र की करीब 4000 स्कूल बसें बंद है। औरंगाबाद में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। डॉक्टर भीमराव आंबेडकर के पोते प्रकाश आंबेडकर ने हिंसा के विरोध में महाराष्ट्र बंद का एलान किया है।

2:30 pm (IST) महाराष्ट्र बंद का असर अब गुजरात में भी देखने मिलने लगा है। गुजरात के वापी में आज दलित सेना के जरिए हाईवे को जाम किया गया, यहां बीच सड़क पर दलित सेना के लोगों ने टायर जलाए।

2:00 pm (IST) संयुक्त पुलिस आयुक्त शिवाजी बोडके ने बताया शहर भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. राज्य रिजर्व पुलिस बल की दो टुकड़ियां और 250 होम गार्ड तैनात किए गए हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस ने प्रदर्शन मार्च करने वाले लोगों से सड़कों को अवरुद्ध ना करने की अपील की है और अपनी मांगों का ज्ञापन पत्र इलाके में पुलिस थानों को देने के लिए कहा है।

1:50 pm (IST)  वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने के बाद पिछले साढ़े तीन वर्षों के दौरान दलितों के खिलाफ अत्याचार के मामले बढ़े हैं। उन्होंने कहा, 'सारे बीजेपी शाषित राज्यों में दलितों को पीटा जा रहा है, उनके साथ ब्लाकात्कार हो रहे हैं, हत्याएं हो रही हैं। आप देख सकते हैं बीजेपी के सत्ता में आने के बाद आपके आसपास क्या हो रहा है।'

1:00 pm (IST)  कुछ दिन पहले ही शुरू हुई एसी लोकल ट्रेन की सर्विस को पूरे दिन के लिए बंद कर दिया गया है। अकोला में पत्थरबाजी भी हुई।

12:45 pm (IST)  मुंबई में अभी तक 15 बेस्ट की बसों को नुकसान पहुंचाया गया है।

12:40 pm (IST) संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा, 'मल्लिकार्जुन खड़गे इस आगे को भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। कांग्रेस यहां फूट डालो और राज करो का खेल खेलने की कोशिश कर रही। वह बस राजनीतिक फायदे के लिए यह मुद्दा उठा रहे हैं।'

12:35 pm (IST) खड़गे ने भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा की सुप्रीम कोर्ट के जज से जांच कराने के साथ पीएम मोदी से इस मुद्दे पर बयान की मांग की। उन्होंने कहा, 'ऐसे मुद्दों पर वह मौनी बाबा बन कर नहीं रह सकते.'

12:30 pm (IST) पुणे हिंसा पर लोकसभा में हंगामा, भीमा कोरेगांव में दलितों पर हुए हमले का मुद्दा लोकसभा में उठाते हुए कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि अभी महाराष्ट्र में हिंसा हुई, इससे पहले गुजरात के उना में भी दलितों पर अत्याचार हुआ था. जहां-जहां बीजेपी की सरकार है, दलितों पर वहां अत्याचार बढ़े हैं। पीएम मोदी से हिंसा पर जवाब देने को कहा।  मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, समाज में बंटवारा करने के लिए कट्टर हिन्दुवादी, जो वहां आरएसएस के लोग हैं... इसके पीछे उनका हाथ है. उन्होंने यह काम करवाया है.

12:05 pm (IST) मुंबई हिंसा की आग राज्यसभा तक पहुंची, 2 बजे तक के लिए कार्यवाही स्थगित

12:00 pm (IST) मुंबई में विरोध प्रदर्शन के चलते असलफा और घाटकोपर के बीच  रोकी गई मेट्रो सेवाएं । इसके अलावा ठाणे में दो सरकारी बसों और एक ऑटो रिक्शे पर प्रदर्शनकारियों ने हमले किया, जिसमें चार यात्रियों के घायल होने की खबर है।

11:31 am (IST) इस बीच महाराष्ट्र और कर्नाटक के बीच चलने वाली 700 से ज्यादा इंटर स्टेट बसें रोक दी गई है। वहीं प्रदर्शनकारियों ने ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे को जाम कर रखा है।

11:15 am (IST) महाराष्ट्र के दलित नेता रामदास अठावले का बयान, शांति बनाए रखने की अपील। रामदास ने कहा 'जिग्नेश मेवाणी की जहां तक बात है, उनकी इन सब में कोई भूमिका नहीं।'

11:10 am (IST) मुंबई में इन रूटों पर बेस्ट की बसें आज नहीं चलेंगी- कांदीवली-अकुर्ली, डिंडोशी-हनुमान नगर, चांदीवली-संघर्ष नगर, खैरानी रोड-साकीनाका, साहर कार्गो, मुलुंड चेक नाका, जीजामाता नगर

11:00 am (IST) मुंबई में सड़कों पर ऑटो रिक्शा और दूसरे वाहन भी दिखाई नहीं दे रहे हैं। महाराष्ट्र बंद का असर इनपर भी दिखाइ दे रहा है।  एक ऑटो ड्राइवर ने कहा कि वो  बंद का समर्थन इसलिए कर  रहे है क्योंकि उन्हें नुकसान का डर है। अगर उन्होंने ऑटो निकाला तो उन पर भी हमले हो सकते हैं।

10:50 am (IST) महाराष्ट्र के नालासोपारा स्टेशन  के पास पदर्शन के कारण रेल सेवाएं बाधित हो गई है। बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी रेल पटरियों पर बैठ गए हैं।  पश्चिम रेलवे का कहना है कि सुरक्षा बल उन्हें वहां से हटाने की कोशिश कर रहे हैं।

10:00 am (IST) स्कूल बस ओनर्स असोसिएशन के अनिल गर्ग ने बच्चों की सुरक्षा से समझौता न करते हुए बस न चलाने का फैसला किया है।उन्होंने बताया कि मुंबई में आज स्कूल बसें नहीं चलेंगी। बच्चों की सुरक्षा को खतरे में नहीं डाल सकते। 11 बजे हालात को देखते हुए सेकेंड हाफ के लिए बसें चलाने या न चलाने का फैसला किया जाएगा।

09:30 am (IST) मुंबई के डिब्बावाला एसोसिएशन ने आज अपनी सेवाएं न देने का फैसला लिया है। एसोसिएशन के प्रमुख सुभाष तालेकर ने कहा, "ट्रांसपोर्ट में परेशानी के कारण टिफिन वक्त से पहुंचाने में मुश्किल होगी।" उन्होंने अपने ग्राहकों से खुद अपना टिफिन लाने को कहा है।

09:10 am (IST) कुछ प्रदर्शनकारियों ने ठाणे रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोककर प्रदर्शन करने की कोशिश की लेकिन उन्हें वहां से खदेड़ दिया गया। सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ ने बताया कि कुछ लोगों ने ठाणे में रेलवे सर्विसों को रोकने की कोशिश की थी लेकिन आरपीएफ और जीआरपी ने उन्हें वहां से हटा दिया। सर्विसें बिना बाधा के चल रही हैं।

09:00 am (IST)महाराष्ट्र के कई जिलों में चल रहे दलितों के विरोध प्रदर्शन के बीच मुंबई पुलिस ने लोगों को किसी भी तरह की अफवाह से बचने की सलाह दी है। पुलिस ने कहा मुंबईकरों से अपने रोजमर्रा के काम जारी रखने की अपील करते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। लोग किसी अफवाह पर ध्यान न दें।

08:40 am (IST) ठाणे इलाके में चार जनवरी की रात तक धारा 144 लागू कर दी गई है। वहीं पुलिस की शुरुआती जांच में हिंसक झड़पों में भगवा झंडा लिए लोगों के शामिल होने की बात कही गई है।  पुलिस के अनुसार विवाद 29 दिसंबर की रात से शुरू हुआ था। हालांकि, आरएसएस समेत अन्य कई संगठनों ने इस हिंसा की कड़ी निंदा की है।

इस मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया उन्होंने लिखा कि, "भारत में आरएसएस/भाजपा की फासीवादी दृष्टि का केंद्र स्तंभ यह है दलित भारतीय समाज में नीचे रहने चाहिए। उना, रोहित वेमुला और अब भीमा-कोरेगांव विरोध के प्रबल प्रतीक हैं।" 

ऐसे भड़की आग

दरअसल 1 जनवरी को भीम कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ मनाने 5 लाख से ज्यादा लोग जुटे थे। हर साल एक जनवरी जयस्तंभ तक मार्च किया जाता हैं। इसी दौरान हुए विवाद के बाद दो गुट आमने-सामने हो गए। पुलिस और प्रशासन ने हवेली और शिरूर तहसील में धारा 144 लगाई है। जिससे स्थिति काबू में बताई जा रही है। सोमवार को दो गुट आपस में भिड़ गए थे। संघर्ष के दौरान एक युवक की मौत हो गई थी। पुलिस के अनुसार राहुल फटांगले नामक युवक की मौत हुई है। जबकि तीन बुरी तरह घायल हुए। पुलिस ने दोनों गुटों के खिलाफ शिक्रापुर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया। जिसके बाद जांच शुरु कर दी गई। संघर्ष के दौरान युवकों ने दर्जनों वाहनों पर पथराव किया। कई वाहन जला दिए। घटना से गांव में तनावपूर्ण माहौल बन गया।

 हवेली और शिरूर तहसील में कर्फ्यू

अतिरिक्त जिलाधिकारी राजेंद्र मुठे ने एहतियात के तौर पर हवेली और शिरूर तहसील में भारी पुलिस बल तैनात कराया। मोबाइल टॉवर बंद करने और आवश्यकतानुसार नेटवर्क जैमर लगाने का आदेश दिया गया है। पिछले दो दिन पूर्व वढू बुद्रुक गांव में समाज के दो गुटों में विवाद हो गया था। इसी विवाद के चलते सोमवार को कोरेगांव भीमा इलाके में जोरदार संघर्ष हुआ। पुलिस ने समय पर पहुंचकर माहौल पर काबू पाया। एहतियातन गांव में अतिरिक्त पुलिस बंदोबस्त तैनात किया गया। राज्य आरक्षित पुलिस बल की टुकड़ियां और दंगे नियंत्रण पथक भी तैनात किया गया है।
 

सरकार ने दिए न्यायिक जांच के आदेश

वहीं इस मामले में सरकार ने न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडनवीस ने कहा कि भीमा-कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं सालगिरह पर करीब तीन लाख लोग आए थे।  हमने पुलिस की 6 कंपनियां तैनात की थी, लेकिन  कुछ लोगों ने माहौल बिगाड़ने के लिए हिंसा फैलाई।  इस तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सरकार ने न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही मृतक के परिवार वालों को 10 लाख के मुआवजा दिया जाएगा। 

कमेंट करें
YqB5J