comScore

दैनिक भास्कर की इंग्लिश में निबंध स्पर्धा 17 को, बच्चों की कल्पना शक्ति को मिलेगा प्लेटफॉर्म

February 12th, 2019 17:39 IST
दैनिक भास्कर की इंग्लिश में निबंध स्पर्धा 17 को, बच्चों की कल्पना शक्ति को मिलेगा प्लेटफॉर्म

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बच्चों के दिमाग में कई कल्पनाएं होती हैं, साथ ही उनके दिमाग में नए-नए विचार आते हैं। उन्हें अपने विचार और कल्पना शक्ति सभी तक पहुंचाने के लिए प्लेटफॉर्म की आवश्यकता होती है। दैनिक भास्कर द्वारा स्टूडेंट्स को प्लेटफाॅर्म उपलब्ध कराने तथा उनके विचारों को समाज तक पहुंचाने के उद्देश्य से निबंध स्पर्धा का आयोजन 17 फरवरी को सुबह 8 बजे से ललिता पब्लिक स्कूल रिंग रोड वाठोड़ा में किया जाएगा। इस दौरान पैरेंट्स के लिए फन-फूड, विभिन्न गेम्स, स्पर्धा और सरप्राइज गिफ्ट भी होंगे। 

तीन वर्ग में निबंध स्पर्धा 
निबंध प्रतियोगिता तीन वर्ग में होगी। ए-वर्ग में 5वीं से 7वीं क्लास के स्टूडेट्स के लिए विषय ‘रोल ऑफ पैरेंट्स इन टीनेजर्स वियू’, बी-वर्ग में 8वीं से 10वीं के स्टूडेंट्स के लिए ‘टेक्नोलॉजी एंड टीनेजर्स’ तथा सी-श्रेणी में 11वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स के लिए ‘हायर एजुकेशन ब्रेन ड्रेन’ विषय रखा गया है। निबंध प्रतियोगिता में  इवेंट पार्टनर ललिता पब्लिक स्कूल, सिराफी अपेरेल्स एंड यूनिफॉर्म तथा सपोर्टेड बाय जेसीआई नागपुर शिखर हैं। 

सभी वर्गों के लिए शब्दों की संख्या भिन्न
निबंध प्रतियोगिता अंग्रेजी भाषा में है। ए-वर्ग के स्टूडेंट्स को 150 से 200 शब्द, बी-वर्ग को 200 से 250 शब्द तथा सी-वर्ग को 250 से 300 शब्दों में निबंध लिखना है।

स्पर्धाओं से स्टूडेंट्स को मिलता है मंच
हर व्यक्ति के जीवन में एक अलग दृष्टिकोण होता है। साथ ही निश्चित लक्ष्य भी होता है। निबंध प्रतियोगिता स्टूडेंट्स के लिए अच्छा प्लेटफॉर्म है। इसे जीतने के लिए स्टूडेंट हर संभव प्रयास करते हैं। इस तरह की  प्रतिस्पर्धा स्टूडेंट्स को एक मंच प्रदान करती है, जो उनके भविष्य के लिए बेहतर होती है
- पुष्पा परमार, प्राचार्य प्री मीडिल स्कूल तेजस्विनी विद्या मंदिर

बढ़ता है आत्मविश्वास

दैनिक भास्कर द्वारा आयोजित होने वाली निबंध प्रतियोगिता काबिले तारीफ है। सबसे पहले मैं संस्था का धन्यवाद करती हूं। इससे स्टूडेंट्स की इनोवेटिव पॉवर बढ़ेगी। स्टूडेन्ट्स का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। ऐसे आयोजनों से स्टूडेंट्स कठिनाइयों और परेशानियों का आंकलन खुद ही कर सकते हैं। 
- वर्षा तारे, प्राचार्य तेजस्विनी विद्या मंदिर

परीक्षाओं की तैयारी में मिलेगी मदद

निबंध प्रतियोगिता हम स्टूडेंट्स के लिए बढ़िया कॉन्सेप्ट है। इससे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद मिलेगी। प्रतियोगिता के विषय बहुत ही अच्छे हैं। स्टूडेंट्स को इन प्रतियोगिताओं में पार्ट लेना चाहिए, ताकि उनका कॉन्फिडेंस डेवलप हो सके। 
- संस्कृति धोटे, कक्षा-7

अनुभव शेयर कर सकेंगे

मैं निबंध प्रतियोगिता में भाग लेने वाली हूं, ताकि मैं अपने अनुभवों को शेयर कर सकूं और दूसरों के अनुभवों को अपना सकूं। इससे हमारा नॉलेज और कॉन्फिडेंस दोनों ही बढ़ेगा। 
- ताजश्री रोकडे, कक्षा-7

सीखने का मौका मिलता है 

निबंध स्पर्धा का आयोजन ऐसा अवसर है, जहां पर हम कई लोगों से मिलते हैं। ताकि हम उन्हें कुछ बता सकें और उनसे कुछ नया सीख सकें। स्पर्धाओं में हमेशा स्टूडेंट्स को पार्ट लेना चाहिए। इससे हम खुद ही अपना आकलन कर सकते हैं। 
- संचित मुधोलकर, कक्षा-5

तकनीक के दो पहलू 

आजकल के युवा की लाइफ सिर्फ इंटरनेट के इर्द-गिर्द ही घूमती रहती है। जिस तरह सिक्के के दो पहलू होते हैं, उसी तरह तकनीक के भी दो पहलू गुण और अवगुण होते हैं। स्टूडेंट्स को इस तरह की स्पर्धाओं में हिस्सा लेना चाहिए, ताकि उनका आत्मविश्वास बढ़ने के साथ ही उन्हें सीखने का भी मौका मिले। 
- प्राची लचुरिया, कक्षा-10

टेक्नोलॉजी पर डिपेंड हैं युवा

युवा आज पूरी तरह से टेक्नोलॉजी पर डिपेंड हो चुके हैं। इंटरनेट के बिना तो जैसे जीवन ही रुक जाता है। निबंध प्रतियोगिता में टेक्नोलाॅजी और टीनेजर्स बहुत ही अच्छा विषय रखा गया है। इससे हर कोई टेक्नोलाॅजी को अपनी-अपनी तरह डिफाइन कर सकेगा। 
- श्रेयांश मदारकर, कक्षा-10

सब कुछ हुआ डिजिटल

21वीं सदी में सब कुछ डिजिटल हो गया है। सभी के पास स्मार्टफोन हैं। बिना फोन के तो जैसे जिंदगी है ही नहीं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भारत को डिजिटल इंडिया बनाने के सपने को हम सभी को साकार करना है, ताकि हमारा देश भी अन्य देशों की तरह आगे बढ़े। 
- सुबोध चांदपुरकर, कक्षा-9

कमेंट करें
HIDPo