comScore

शाकाहारी बनने पर विराट ने कहा, अपने जीवन में कभी इतना अच्छा महसूस नहीं हुआ

शाकाहारी बनने पर विराट ने कहा, अपने जीवन में कभी इतना अच्छा महसूस नहीं हुआ

हाईलाइट

  • कोहली ने कहा-शाकाहारी बनने के बाद से मुझे जैसा महसूस हुआ वैसा जीवन में पहले कभी नहीं हुआ
  • विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2008 में जब डेब्यू किया था, तब वह एक गोल-मटोल चेहरे वाले युवा थे
  • विराट अब दुनिया के सबसे फिट खिलाड़ियों में से एक हैं और सभी उनके बदलाव को देख सकते हैं
  • कोहली ने पिछले साल शाकाहारी बनने का निर्णय लिया था।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने के बाद से ही विराट कोहली भारतीय बल्लेबाजी का अहम हिस्सा हैं। भारत के लिए 2008 में पहला इंटरनेशनल मैच खेलते समय कोहली गोल-मटोल चेहरे वाले एक युवा खिलाड़ी थे, लेकिन अब वह दुनिया से सबसे फिट खिलाड़ियों में से एक हैं और सभी उनके बदलाव को देख सकते हैं। वह केवल फिट नहीं हुए हैं बल्कि टीम के अंदर भी फिटनेस कल्चर ले आए हैं और अन्य खिलाड़ियों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। कोहली यह भी मानते हैं कि, वेगन बनने के कारण भी उन्हें बहुत लाभ हुआ है। उन्होंने पिछले साल शाकाहारी बनने का निर्णय लिया था।

कोहली ने बुधवार को नेटफ्लिक्स का शो गेम चेंजर देखने के बाद ट्वीट किया, नेटफ्क्सि पर गेम चेंजर शो देखा। शाकाहारी बनने के बाद मुझे यह पता चला कि इतने वर्षो से डाइट के बारे में मेरी जो सोच थी वो बस एक कल्पना भर थी। क्या बेहतरीन डॉक्यूमेंट्री और हां शाकाहारी बनने के बाद से मुझे जैसा महसूस हुआ वैसा जीवन में पहले कभी नहीं हुआ।

गेम चेंजर पिछले सीजन आई एक डॉक्यूमेंट्री है, जिसे जेम्स कैमरून, जैकी चैन और अर्नाल्ड श्वार्जनेगर ने प्रोड्यूस किया है। इसमें शाकाहारी भोजन से खिलाड़ियों को होने वाले लाभ के बारे में बताया गया है।

कमेंट करें
PIuj6