comScore

पीएम ने ऑफिस से रखी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग पर नजर, ISRO की पूरी टीम को दी बधाई

पीएम ने ऑफिस से रखी चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग पर नजर, ISRO की पूरी टीम को दी बधाई

हाईलाइट

  • लंबे इंतजार के बाद सोमवार को ISRO ने चंद्रयान-2 को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया
  • दुनिया भर की नजरें भारत के इस मिशन पर टिकी हुई थी
  • पीएम मोदी ने भी लॉन्चिंग पर ऑफिस से नजर रखी और ISRO की पूरी टीम को बधाई दी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लंबे इंतजार के बाद सोमवार को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने चंद्रयान-2 को सफलतापूर्वक लॉन्च कर दिया। दुनिया भर की नजरें भारत के इस मिशन पर टिकी हुई थी। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी लॉन्चिंग का लाईव टेलिकास्ट देखा और सफलतापूर्वक लॉन्चिंग के बाद ISRO की पूरी टीम को बधाई दी। पहले चरण के तहत चंद्रयान को पृथ्वी की कक्षा में स्थापित कर दिया गया है। अगर आगे भी सब कुछ ठीक रहा तो भारत दुनिया का पहला ऐसा देश बन जाएगा जो चांद की दक्षिणी सतह पर अपने रोवर को उतारेगा।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण हमारे वैज्ञानिकों और 130 करोड़ भारतीयों के विज्ञान के नए स्तरों को निर्धारित करने के संकल्प को दर्शाता है। आज हर भारतीय को गर्व है!' पीएम ने कहा, 'चंद्रयान-2 पूरी तरह से स्वदेशी मिशन है। इसमें रिमोट सेंसिंग के लिए ऑर्बिटर है और चांद की सतह के विश्लेषण के लिए लैंडर-रोवर मॉड्यूल भी है। चंद्रयान-2 यूनीक है क्योंकि यह चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र को एक्सप्लोर करेगा। आज तक किसी भी देश ने इस जगह पर अपना यान नहीं उतारा है। यह मिशन चंद्रमा के बारे में नया ज्ञान प्रदान करेगा।' पीएम ने कहा, 'चंद्रयान-2 जैसे प्रयास युवाओं को विज्ञान, टॉप क्वालिटी रिसर्च और इनोवेशन की ओर प्रोत्साहित करेंगे।'

ट्वीट करने के साथ-साथ पीएम ने एक ऑडियो मैसेज भी जारी किया। पीएम ने कहा, 'चंद्रयान-2 की सफलतापूर्वक लॉन्चिंग के लिए डॉ. सिवन आपको और आपकी पूरी टीम को बधाई। सफल लॉन्च पूरे देश और पूरे भारतीयों के लिए गर्व का विषय है। पिछले हफ्ते तकनीकि खराबी के कारण लॉन्च को रोकना पड़ा था, लेकिन आपकी टीम ने तत्परता से इसे दूर कर सफलतापूर्वक लॉन्च किया। इसके लिए आप सभी विशेष बधाई के पात्र है। यह एक शानदार उदाहरण है कि हमारे वैज्ञानिकों में सभी चुनौतियों का सामना करने की क्षमता है।

पीएम ने कहा, 'जितनी बड़ी चुनौती हो आपका इरादा उतना पक्का हो जाता है। मुझे बताया गया है कि लॉन्च में देरी के बाद भी चंद्रयान की लैंडिंग की तारीख वहीं रहेगी जो पहले थी। आप सभी वैज्ञानिकों ने पहले से भी कम समय में चांद पर पहुंचने का इरादा किया। चंद्रयान-2 अपने मिशन में पूरी तरह कामयाब होगा। यह चंद्रमा पर उतरने वाले भारत का पहला स्पेसक्राफ्ट बनेगा और भारत दुनिया का चौथा देश बनेगा। चंद्रयान 2 की सफलता भारत को और भी आगे ले जाएगा। मैं इस मिशन की पूर्ण सफलता के लिए आप सभी को शुभकामनाएं देता हूं।'

कमेंट करें
e7DqF