comScore

अयोध्या के सर्कल ऑ​फिसर बोले, SC के फैसले के बाद एक भी घटना नहीं हई

अयोध्या के सर्कल ऑ​फिसर बोले, SC के फैसले के बाद एक भी घटना नहीं हई

हाईलाइट

  • अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला
  • विवादित जमीन पर बनाया जाएगा राममंदिर
  • मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन सुन्नी वक्फ बोर्ड को दी जाएगी।

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। दशकों से चल रहे अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने जमीन पर मालिकाना हक रामलला को दिया है। वहीं मुस्लिम पक्ष को कहीं और 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाएगी। 5 जजों की बेंच ने सर्वसम्मति से यह फैसला दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुबह 10.30 बजे फैसला पढ़ना शुरू किया, लगभग आधे घंटे में पूरा फैसला पढ़ा गया। कोर्ट ने मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार को देते हुए तीन महीने में स्कीम तैयार करने का आदेश दिया है। सरकार 3 महीने में मंदिर निर्माण और प्रबंधन के लिए ट्रस्ट बनाएगी, उसमें निर्मोही को भी कुछ प्रतिनिधित्व मिलेगा। वहीं सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील ज़फरयाब जिलानी ने कहा कि वो फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन इससे संतुष्ट नहीं हैं।

UPDATE

09:28 PM : एक भी घटना की जानकारी नहीं मिली, ​​स्थिति सामन्य है: आयोध्या सर्कल ऑ​फिसर अमर सिंह ने कहा कि एक भी घटना की जानकारी नहीं मिली है, चाहे वह मुस्लिम भाई हों या हिंदू भाई, सभी ने फैसला स्वीकार कर लिया है। हमने किसी भी चुनौती का सामना नहीं किया है। हम सभी क्षेत्रों में गश्त कर रहे हैं, स्थिति सामान्य है।

07:43 PM : आडवाणी बोले : भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा कि भारत और दुनियाभर में रहने वाले करोड़ों हिंदुस्तानियों के दिल में राम जन्मभूमि के लिए खास जगह है। मैं सभी देशवासियों के लिए खुश हूं। राम और रामायण भारत की संस्कृति, सभ्यता में अहम स्थान रखते हैं। कोर्ट के फैसले से करोड़ों लोगों की भावनाओं का सम्मान हुआ है। मैं कोर्ट के उस फैसले का भी स्वागत करता हूं, जिसमें जजों की बेंच ने मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन देने का फैसला किया है। 

07:00 PM : अयोध्या में सरयू नदी के तट पर शाम की आरती की गई। 

  • 06:00 PM : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का देश के नाम संबोधन- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद टाइटल सूट में सुप्रीम कोर्ट के सर्वसम्मत फैसले के बाद राष्ट्र को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा, 'आज सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐसे महत्वपूर्ण मामले पर फैसला सुनाया है, जिसके पीछे सैकड़ों वर्षों का दीर्घकालीन इतिहास है। दशकों तक चली न्याय प्रकिया का अब समापन हो गया है। पूरी दुनिया ये तो मानती है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतान्त्रिक देश है, लेकिन आज दुनिया ने ये भी जान लिया है कि भारत का लोकतंत्र कितना जीवंत और मजबूत है।'
  • 4.35: 5 एकड़ जमीन के बारे में हम सोचेंगे लें या नहीं : उत्तर प्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जफर फारुकी ने कहा है कि हम सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान करते हैं। यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड का चेयरमैन होने के नाते कहना चाहता हूं कि अब कोर्ट के फैसले के खि​लाफ हम कहीं और कोई रिव्यू अपील नहीं करने जा रहे हैं। पांच एकड़ की जमीन हमने मांगी नहीं थी और जो जमीन मिली है उसपर हम चर्चा करेंगे कि लेना है या नहीं।
  • 4.10: 5 एकड़ : अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बयान जारी कर कहा कि आज का दिन भारत के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। सभी ने फैसला स्वीकार कर लिया है। मैं 24 नवंबर को अयोध्या जाऊंगा। उन्होंने कहा कि मैं लालकृष्ण आडवाणी से मिलने और उनका अभिनंदन करने के लिए भी जाऊंगा। उन्होंने इसके लिए रथ-यात्रा निकाली थी। मैं उनसे जरूर मिलूंगा और उनका आशीर्वाद लूंगा।
  • 3.10: मामला अब समाप्त हो गया : शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा कि हम विनम्रतापूर्वक अदालत के फैसले को स्वीकार करते हैं। मैं भगवान का शुक्रगुजार हूं कि मुसलमानों ने और बड़े लोगों ने इस फैसले को स्वीकार किया है। विवाद अब समाप्त हो गया है। हालांकि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को समीक्षा याचिका दायर करने का अधिकार है, मुझे लगता है कि मामला अभी समाप्त होना चाहिए।  
  • 3.00 PM: कांग्रेस की रैली स्थगित: कांग्रेस ने अयोध्या के फैसले के मद्देनजर और सुरक्षा उपायों को ध्यान में रखते हुए आर्थिक मंदी पर राम लीला मैदान(दिल्ली) में 1 दिसंबर की रैली को स्थगित कर दिया है। नई तारीख जल्द ही घोषित की जाएगी।  
  • 2.41 PM : राहुल गांधी का ट्वीट : सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे पर अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट के इस फैसले का सम्मान करते हुए हम सब को आपसी सद्भाव  बनाए रखना है। ये वक्त हम सभी भारतीयों के बीच बन्धुत्व,विश्वास और प्रेम का  है।
  • 2.00 PM: राम राज्य होना चाहिए: मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने कहा कि मैं आज खुश हूं। पूरे संघर्ष के दौरान बलिदान देने वाले सभी 'कारसेवकों' का बलिदान बेकार नहीं गया। राम मंदिर का निर्माण जल्द से जल्द होना चाहिए। राम मंदिर के साथ-साथ राष्ट्र में राम राज्य ’भी होना चाहिए, यही मेरी इच्छा है। 
  • 01.45 PM: AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा, 'मैं वकीलों की टीम को धन्यवाद देता हूं। मैं मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की इस बात से सहमत हूं कि सुप्रीम कोर्ट सुप्रीम है, लेकिन वह अचूक (INFALLIBLE) नहीं है।मुस्लिम समाज ने अपने वैधानिक हक के लिए संघर्ष किया। हमें 'खैरात' की जरूरत नहीं है। ये मेरा निजी तौर पर मानना है कि हमें 5 एकड़ जमीन के ऑफर को वापस लौटा दिया जाना चाहिए। 'उन्होंने आगे कहा कि फैक्ट्स पर आस्था की जीत हुई है।मुझे इस बात की चिंता है कि संघ अब काशी और मथुरा के मुद्दे के भी उठाएगा।
  • 12.47 PM :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट : देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें। सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है। यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया। यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है।
  • 12.33 PM : गृह मंत्री अमित शाह का ट्वीट - मुझे पूर्ण विश्वास है कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिया गया यह ऐतिहासिक निर्णय अपने आप में एक मील का पत्थर साबित होगा। यह निर्णय भारत की एकता, अखंडता और महान संस्कृति को और बल प्रदान करेगा। श्रीराम जन्मभूमि पर सर्वसम्मति से आये सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का मैं स्वागत करता हूँ। मैं सभी समुदायों और धर्म के लोगों से अपील करता हूँ कि हम इस निर्णय को सहजता से स्वीकारते हुए शांति और सौहार्द से परिपूर्ण ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ के अपने संकल्प के प्रति कटिबद्ध रहें।
  • 12.26 PM : कांग्रेस कार्यसमिति का बयान - भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सम्मान करती है। हम सभी संबंधित पक्षों व सभी समुदायों से निवेदन करते हैं कि भारत के संविधान में स्थापित सर्वधर्म समभाव तथा भाईचारे के उच्च मूल्यों को निभाते हुए अमन चैन का वातावरण बनाए रखें।
  • 11.48 AM : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले - यह ऐतिहासिक फैसला है, जनता शांति और संयम बनाए रखे।
  • 11.38 AM : केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले - सभी को सुप्रीम कोर्ट के फैसला का सम्मान करना चाहिए और शांति कायम रखना चाहिए।
  • 11.00 AM: मुस्लिम पक्ष के वकील जफरयाब जिलानी बोले, हम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन संतुष्ट नहीं हैं।
  • 10.59 AM: विवादित जमीन पर रामलला को मिला मालिकाना हक, मुस्लिम पक्ष को कहीं ओर 5 एकड़ जमीन दी जाए।
  • 10.58 AM: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, विवादित जमीन रामलला को दी जाएगी।
  • 10.57 AM: केन्द्र सरकार 3 महीने में स्कीम बनाए। सरकार को ट्रस्ट बनाकर मंदिर निर्माण के लिए नियम बनाने का आदेश दिया।
  • 10.56 AM: हाईकोर्ट ने तीन हिस्से किये तो तार्किक नहीं। हर मजहब के लोगों को बराबर का सम्मान संविधान ने दिया है। बाहर हिंदुओं की पूजा सदियों तक चलती रही। 
  • 10.55 AM: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, सुन्नी वक्फ बोर्ड को वैकल्पिक जमीन देना जरूरी।
  • 10.54 AM: नमाज की जगह को मस्जिद मानने के हक मना नहीं करते। बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी। 6 दिसंबर को स्टेटस का ऑर्डर होने के बाद भी ढांचा गिरा।
  • 10.53 AM: जमीन के तीन हिस्से किये जाने के फैसले को सही नहीं माना।
  • 10.52 AM: 1856-57 तक नमाज पढ़ने के सबूत नहीं। 
  • 10.51 AM: यात्रियों के वृत्तांत और पुरातत्विक सबूत हिंदुओं के हक में। 
  • 10.50 AM: 1856 से पहले अंदरुनी हिस्से में हिंदू भी पूजा करते थे। रोकने पर बाहर चबूतरे पर पूजा करने लगे। 
  • 10.49 AM: ढांचे के नीचे पुरानी रचना से हिंदू दावा माना नहीं जा सकता। अंग्रेजों ने दोनों हिस्से अलग रखने के लिए रेलिंग बनाई थी। 
  • 10:48 AM: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ASI रिपोर्ट में मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाने का जिक्र नहीं
  • 10:47 AM: सुन्नी ने जगह को मस्जिद घोषित करने मांग की है।
  • 10:46 AM: ढांचे के नीचे पुरानी रचना से हिंदू दावा माना नहीं जा सकता।
  • 10:46 AM: हिंदू मुख्य गुंबद को ही जन्म का सही स्थान मानते है। 
  • 10.45 AM: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, चबूतरा, भंडारा और सीता रसोई से भी राम के होने की पुष्टि होती है। 
  • 10.44 AM: विवादित जगह पर हिंदू पूजा करते थे। 
  • 10.43 AM: रामलाल में ऐतिहासिक ग्रंथों के विवरण रखे।
  • 10.42 AM: कोर्ट ने कहा, मस्जिद की मुख्य गुंबद ही रामलला का जन्म स्थान।
  • 10.41 AM: जमीन का विवाद का फैसला कानूनी आधार पर। 
  • 10.40 AM: हिंदुओं की आस्था है कि राम का जन्म हुआ था। 
  • 10.40 AM: अयोध्या में राम के जन्म के दावे का किसी ने विरोध नहीं किया।
  • 10.39 AM: विवादित ढांचे में पुराने पत्थर, खंभे का इस्तेमाल हुआ।
  • 10.38 AM: सुन्नी वक्फ बोर्ड को बड़ा झटका बाबरी मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनी थी।
  • 10.37 AM: रामलला को कानूनी मान्यता दी। कोर्ट ने कहा, खुदाई में मिले सबूतों की अनदेखी नहीं कर सकते।
  • 10.36 AM: कोर्ट ने कहा है कि कोर्ट हदीस की व्याख्या नहीं कर सकता। नमाज पढ़ने की जगह को मस्जिद मानने के हक को हम मना नहीं कर सकते। 1991 का प्लेसेस ऑफ वरशिप एक्ट धर्मस्थानों को बचाने की बात कहता है। एक्ट भारत की धर्मनिरपेक्षता की मिसाल है। 
  • 10.34 AM: सुप्रीम कोर्ट ने निर्मोही अखाड़े का दावा खारिज किया।
  • 10.34 AM: चीफ जस्टिस फैसला पढ़ रहे है। आधे घंटे में पूरा फैसला पढ़ लिया जाएगा
  • 10.33 AM: शिया और सुन्नी केस में एक मत से फैसला आया है। ध्यान रहे ये मामला आयोध्या केस से अलग है।
  • 10:32 AM: शिया वक्फ बोर्ड का दावा खारिज।
  • 10.30 AMकोर्ट रूम में पहुंचे चीफ जस्टिस समेत सभी जज।
  • 10.29 AM: फैसले की फाइल कोर्ट में पहुंची।
  • सुप्रीम कोर्ट: राम लल्ला देवता वकील, सीएस वैद्यनाथन (चरम अधिकार), डॉ। राजीव धवन के साथ बातचीत में, सुन्नी वक्फ बोर्ड के वरिष्ठ वकील, सीजेआई कोर्ट रूम के बाहर
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई सुप्रीम कोर्ट पहुंचे चुके हैं। 
  • जस्टिस बोबड़े अपने आवास सुप्रीम कोर्ट के लिए रवाना।
  • सुप्रीम कोर्ट परिसर में सुरक्षा कर्मियों को ब्रीफ किया जा रहा है। अयोध्या जमीन मामले में आज सुबह 10:30 बजे फैसला सुनाने वाली सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच।
  • सुप्रीम कोर्ट के गेट के बाहर पुलिस और अर्धसैनिक बलों का फ्लैग मार्च, इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट के अंदर दाखिल होने वाली तमाम कारों की जबरदस्त चेकिंग की जा रही है।
  • राजस्थान की राजधानी जयपुर में आज सुबह 10 बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी
  • अयोध्या भूमि मामले में फैसले के आगे सुप्रीम कोर्ट के बाहर सुरक्षाकर्मी। पूरे इलाके में धारा 144 लागू है। 
  • भागवत ने की शांति की अपीलअयोध्या केस पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। भागवत आज दोपहर 1 बजे प्रेस कांफ्रेंस करेंगे।
  • कर्नाटक में अयोध्या पर फैसले से पहले पूरे राज्य में धारा 144 लागू। हुबली-धारवाड़ में शराब की ब्रिकी पर रोक।
  • राजस्थान सरकार ने निर्देश दिए हैं कि आज राज्य भर में सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे।
  • मध्य प्रदेश में सभी स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे। राजधानी भोपाल में धारा 144 लागू 
  • अयोध्या पर फैसला आने से पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आए, उसे स्वीकार करें और शांति बरकरार रखें।
  • सुप्रीम कोर्ट में शिया-सुन्नी केस पर पहला फैसला आएगा। इस फैसले का मुख्य फैसले पर कई असर नहीं पड़ेगा। ये एक अलग मामला है। शिया-सुन्नी केस में मस्जिद को लेकर विवाद है। 
  • उत्तर प्रदेश पुलिस के एडीजी आशुतोष पांडे ने बताया है कि फैसले को देखते हुए अर्धसैनिक बल, RPF और PAC की 60 कंपनियां और 1200 पुलिस कांस्टेबल, 250 सब-इंस्पेक्टर, 20 उप-एसपी और 2 एसपी तैनात। सुरक्षा निगरानी के लिए डबल लेयर बैरिकेडिंग, सार्वजनिक पता प्रणाली, 35 सीसीटीवी और 10 ड्रोन तैनात किए गए हैं।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की देशवासियों से अपील
  •  कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी की देशवासियों से अपील
  • सुप्रीम कोर्ट आज अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाया जाएगा। इस बार में कल रात 9.30 बजे जानकारी दे दी गई थी।
  • अलीगढ़ जिला मजिस्ट्रेट चंद्र भूषण सिंह ने कहा, 'पूरे जिले में 12 बजे (08.11.2019) से 12 बजे (09.11.2019) तक सभी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित रहेगी।
  • बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त, भास्कर राव ने कहा, 'हमने आवश्यक तैनाती की है। बेंगलुरू में सुबह 7 बजे से 12 बजे के बीच धारा 144 लगा दी गई है। सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। शराब की दुकानें शनिवार को बंद रहेंगी।'
  • 2010 में आया था इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला
  • 2010 में आया था इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसलाअयोध्या विवाद पर 30 सितंबर 2010 को इलाहाबाद हाई कोर्ट का फैसला आया था। इस फैसले में कोर्ट ने 2.77 एकड़ जमीन को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्माही अखाड़ा और रामलला के बीच बांटने का आदेश दिया था। कोर्ट के इस आदेश को ही सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी, जिस पर लंबी सुनवाई के बाद आज सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ अपना फैसला सुनाने जा रही है। 
     
  • 40 दिन लगातार चली सुनवाई
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने अयोध्या मामले में 40 दिनों तक लगातार सुनवाई की। यह सुनवाई 6 अगस्त से शुरू हुई थी, जिसके बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
     
  • अयोध्या में अर्धसैनिक बल के 4,000 जवान तैनात
  • अयोध्या विवाद पर फैसले को लेकर योगी सरकार से लेकर पूरा प्रशासनिक अमला हाई अलर्ट पर आ चुका है। इस कड़ी सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों साथ सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। 
  • संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, गृह मंत्रालय (MHA) ने उत्तर प्रदेश, विशेषकर अयोध्या में सुरक्षा तैनाती के लिए लगभग 4,000 अर्धसैनिक बल के जवानों को तैनात किया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया, 'सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक जनरल एडवाइजरी भेजी गई है, जिसमें सभी संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षाकर्मी तैनात करने और यह सुनिश्चित करने को कहा गया है कि देश में कहीं भी कोई अप्रिय घटना न हो।'
  • क्या है अयोध्या मामला?
  • टाइटल विवाद की कानूनी लड़ाई हिंदू और मुस्लिमों के बीच है, जिसमें दावा किया गया है कि विवादित भूमि वास्तव में भगवान राम की जन्मभूमि है, जहां बाबर के सेनापति मीर बाकई ने 1528 में एक मस्जिद का निर्माण किया था।
  • इलहाबाद हाईकोर्ट ने चार अलग-अलग सिविल केस पर फैसला सुनाते हुए विवादित 2.77 एकड़ जमीन को सभी तीन पक्षों, सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान, के बीच समान बंटवारे को कहा था।
  • इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली अपीलों पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने सुनवाई की। बेंच के सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़, न्यायामूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस ए नजीर शामिल थे।
  • सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले को पहले मध्यस्थता से हल करने की कोशिश की थी। 8 मार्च 2019 को जस्टिस एफएम कलीफुल्ला की अध्यक्षता में 3 सदस्यों की एक समिति भी गठित की गई थी। सुप्रीम कोर्ट चाहता था, समिति आपसी समझौते से सर्वमान्य हल निकाले। इस समिति में आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पांचू शामिल थे।
  • समिति ने बंद कमरे में संबंधित पक्षों से बात की लेकिन हिंदू पक्षकार गोपाल सिंह विशारद ने सुप्रीम कोर्ट के सामने निराशा व्यक्त करते हुए लगातार सुनवाई की गुहार लगाई। 155 दिन के विचार-विमर्श के बाद मध्यस्थता समिति ने रिपोर्ट पेश की और कहा, वह सहमति बनाने में सफल नहीं हुए हैं। जिसके बाद कोर्ट ने रोजाना सुनवाई शुरू की।
  • सीजेआई गोगोई की अगुवाई वाली पांच जजों की संविधान पीठ ने 16 अक्टूबर को मैराथन 40 दिनों की सुनवाई के बाद राजनीतिक रूप से संवेदनशील मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
कमेंट करें
05lqD
NEXT STORY

5 मार्केट ट्रेंड्स से लाभ उठा सकते हैं ओलिंप ट्रेड फॉरेक्स के ट्रेडर्स

5 मार्केट ट्रेंड्स से लाभ उठा सकते हैं ओलिंप ट्रेड फॉरेक्स के ट्रेडर्स

डिजिटल डेस्क। मार्केट में बेहतर तरीके से कार्य कर पाने के लिए दुनिया में चल रहे वित्त से संबंधित रुझानों की जानकारी रखना प्रत्येक ट्रेडर के लिए महत्वपूर्ण है। हालांकि अधिकाधिक लाभ के लिए यह भी नाकाफी है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम 5 मार्केट ट्रेंड्स से आपको रूबरू कराना चाहते हैं जिनका इस्तेमाल करके आप अधिक से अधिक लाभ कमा सकते हैं। चूंकि रुझान तेजी से बदल सकते हैं, ऐसे में समाचार और मार्केट के बीच के संबंध को भी समझना आवश्यक है। इसके चलते एक ट्रेडर अधिक सजग रहता है और उसे यह पता चलता रहता है कि कब मार्केट ट्रेंड धीमे हो रहे हैं या विपरीत दिशा में जा सकते हैं।

1. गोल्ड मार्केट
पिछले कुछ समय से गोल्ड को लेकर लोगो में तेजी से रुचि जागी है। इसने हाल ही में $ 1500 अमरीकी डालर प्रति औंस की वेल्यू तक पहुंचा जिसके चलते बड़ी संख्या में ट्रेडर्स के बीच सोने की मांग बढ़ी ताकि वे सुरक्षित और स्थिर वस्तु में पैसा लगा सकें। मई के बाद से सोना 200 डॉलर प्रति औंस से अधिक प्रति औंस पर कारोबार कर रहा है। यह वर्तमान अमेरिकी / चीन व्यापार युद्ध से प्रभावित है जिसमें चीन द्वारा युआन में हेरफेर कर उसके मूल्य को नीचे लाना भी शामिल है। इसमें चिंता की बात यह भी है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था धीमी हो रही है और हाल ही में अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों को कम करने का निर्णय लिया गया है। 

यहां हम ओलिंप ट्रेड अकाउंट का चार्ट आपको दर्शा रहे हैं जो कि अगस्त 9 से है और 4 घंटे के अंतराल की जानकारी देता है। चार्ट इस वर्ष के मई माह से शुरु होता है। यहां आप स्पष्ट रूप से बढ़ते हुए ट्रेंड देख सकते हैं कि ट्रेडर्स को सोने में निवेश कर लाभ कमाने का अवसर मिल रहा है। लंबी अवधि में ट्रेड करने वाले ट्रेडर्स मार्केट के ऊपर जाते ट्रेंड्स का इंतजार कर सकते हैं और अधिक पैसा कमा सकते हैं। वहीं प्रतिदिन ट्रेड करने वाले ट्रेडर्स बाउंसेज यानी ऊपर जाते मार्केट का लाभ लेकर 4 से कर 10 प्रतिशत का लाभ प्रतिदिन ले सकते हैं।  

2. ब्रेंट ऑयल
पिछले महीने के कई घटनाक्रमों के चलते ब्रेंट ऑयल की कीमतें अपने निचले स्तर पर पहुंच चुकी हैं। यह ज्यादातर वैश्विक मांग की कमी पर आधारित है, लेकिन यह युआन में बदलाव से भी प्रभावित हुआ था क्योंकि चीन के कई तेल आयात युआन में करने पर विचार किया जा रहा है। सउदी ने तब से घोषणा की है कि वे ओपेक के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे ताकि एक डील के तहत उत्पादन में कटौती कर कीमतों को वापस ऊपर लाया जा सके। जैसा कि आप नीचे दिए गए चार्ट से देख सकते हैं, उत्पादन में कटौती के जिक्र से ही मार्केट में ऊपर जाते ट्रेंड्स देखने को मिलने लगते हैं। $ 55 अमरीकी डालर प्रति बैरल मूल्य होते ही ओपेक हमेशा हरकत में आता है और कई ठोस कदम उठाता है जिससे कीमतों को बढ़ाया जा सके। ट्रेडर्स इस अवसर का फायदा उठा सकते हैं। इस साल यह मूल्य रेंज $ 65 - $ 70 USD हो सकती है। ओलिंप ट्रेड ऐसे ही खास अवसर और मौकों को भूनाने का अवसर देता अपने ट्रेडर्स को जिससे वे तेल कीमतें ऊपर जाकर स्थिर होने से पहले अधिक लाभ कमा सकें। 

3. तेल आधारित मुद्राएँ
विदेशी मुद्रा बाजारों में एक दूसरे पर निर्भर करने वाली वस्तुओं में मुद्रा और तेल हैं। इसमें भी तेल के साथ सबसे करीबी संबंध रूसी रूबल का है। चूंकि रूबल कई साल पहले मुक्त मुद्रा बन गया था इसलिए डॉलर/ रूबल और यूरो / रूबल मुद्रा जोड़े तेल की कीमत के साथ घटते और बढ़ते देखे गए हैं। रूसी सेंट्रल बैंक 62 से 65 रूबल प्रति डॉलर का मूल्य रखना पसंद करता है, ऐसे में तेल की कीमतों में किसी भी महत्वपूर्ण गिरावट से 65 से ऊपर की संख्या जाने पर रूसी उत्पादक ओपेक से संपर्क साधना शुरू कर देते हैं ताकि कीमतों को वापस अपने स्थान पर लाया जा सके। हालांकि ऑयल कार्टेल का आधिकारिक सदस्य रूस नहीं है पर यह समूह द्वारा निर्धारित उत्पादन कोटा के साथ अक्सर सहयोग करता है। स्क्रीनशॉट में आप 65 रूबल स्तर पर प्रतिरोध और 63 स्तर पर समर्थन देख सकते हैं। इसका लाभ उठाने के इच्छुक व्यापारी ऑप्शन ट्रेडिंग का उपयोग कर सकते हैं। इस मुद्रा जोड़ी पर कुछ अच्छा मुनाफा कमाने के लिए ब्रेंट ऑयल की कीमत में बदलाव का फायदा उठाया जा सकता है।

4. बिटकॉइन
बिटकॉइन अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है हालांकि कुछ लोगों ने इस साल की शुरुआत में ऐसी भविष्यवाणी की थी। यह अब कुछ महीनों से बढ़त की ओर है। युआन की गिरावट भी एक कारण है कि लोग डॉलर के विकल्प के रूप में बिटकॉइन को  देख रहे हैं। हालांकि यह विश्वास करना कठिन है कि बिटकॉइन इस साल अप्रैल में $ 4,000 पर था और अभी हाल ही में $ 12,000 पर जाकर रुका। ब्लॉकचैन मुद्रा में वृद्धि, थोड़ी गिरावट, और फिर फिर से वृद्धि की प्रवृत्ति दिखाई देती है। बिटकॉइन में ट्रेड के लिए दो चीजें महत्वपूर्ण हैं- विकल्प और फोरेक्स। इसी कारण ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की सलाह दी जाती है जो दोनों का उपयोग करता है। पर यह देखने वाली बात है कि अधिकतर क्रिप्टो एक्सचेंजों में दोनों ऑप्शन्स नहीं मिलते हैं। पर इसमें ओलिंप ट्रेड जैसे ब्रोकर एक बेहतर विकल्प हैं जो दोनों सुविधाएँ देते हैं। 

5. अमेरिकी डॉलर कैनेडियन डॉलर (USD / CAD) के मुकाबले
यूएस डॉलर के मुकाबले कनाडाई डॉलर के दो महीने के ठोस लाभ के बाद ट्रेंड्स विपरीत हो गए हैं। अमेरिकी और कनाडाई सरकारों के आर्थिक आंकड़ों के आधार पर यह बदलाव निकट भविष्य के लिए नया मानदंड होगा। यूएस डॉलर अपने हुए शुरुआती नुकसान की भरपाई संभवत: अगले कई हफ्तों कर लेगा। इससे निवेशकों को अच्छा लाभ होने की उम्मीद है। इसी कारण कनाडाई डॉलर के निवेशक जब अपने स्टॉक बेचना शुरू करेंगे तो यह डॉलर के मजबूती के ट्रेंड को और आगे ले जाएगा।

दोनों सरकारों से आने वाली आर्थिक समाचारों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा त्रैमासिक रिपोर्ट्स न आने से भी निवेशक लंबी अवधि के निवेश में लाभ कमा सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि अमेरिका, मैक्सिको और कनाडा के बीच होने वाले ट्रेड एग्रीमेंट्स पर खान नजर रखी जाए। निवेशक इस मुद्रा जोड़ी से कमाई का लाभ टाइमजोन्स के जरिए भी ले सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि एक ऐसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जाए जो सभी मार्केट्स में निवेश की सुविधा उपलब्ध कराता हो। बाजार की समझ, वित्त से जुड़ी खबरे और बाजार कैसे काम करता है यदि इन कुछ चीजों की जानकारी आपके पास होती है तो आप अच्छे निवेशकर बन अधिक लाभ ले सकते हैं। - 2 Basic Strategies for Trading Forex

Source: ओलिंप ट्रेड

साप्ताहिक राशिफल: कलाशांति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसंबर से 15 दिसंबर तक


मेष लग्नराशि (Aries) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह मेष राशि के जातक एव जातिकाओं की शुरुआत अच्छे लाभ प्राप्ति के साथ हो सकती है। इस हफ्ते कार्यक्षेत्र मैं कार्यो को लेकर दौड़ भाग अधिक बनी रह सकती है। हालांकि उच्चाधिकारियों तथा सहकर्मियों का सहयोग समय-समय पर आपको मिलता रहेगा। इस हफ्ते आप अपने भाई-बहनों की सेहत तथा उनकी किसी परेशानी को लेकर चिंतित हो सकते है। धन प्राप्ति के लिहाज से यह हफ्ता अच्छा कहा जा सकता है। इस हफ्ते के मध्य मैं चिंता तथा तनाव उत्पन्न हो सकते है। छात्र वर्ग को प्रतियोगी परीक्षा मैं सफलता प्राप्त हो सकती है। पारिवारिक तथा दाम्पत्य जीवन सामान्य बना रहेगा।

वृषभ लग्नराशि (Taurus) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह वृषभ राशि के जातको को संतान सुख की प्राप्ति हो सकती है। नौकरी तथा व्यापार को लेकर स्तिथियाँ अच्छी बनी रहेगी। व्यापारी वर्ग के जातको के लिए हफ्ता अच्छा मुनाफा देने वाला बना रह सकता है। हफ्ते के मध्य मैं अपनी सेहत का ध्यान रखे आप मानसिक रूप से परेशान हो सकते है। जीवनसाथी के साथ वैचारिक मतभेद उत्पन्न हो सकते है। हफ्ते के इस भाग मैं अपने क्रोध तथा वाणी व्यवहार पर संयम बनाये रखे अन्यथा दिक्क़ते मिल सकती है। हफ्ते का अंतिम भाग अचानक धन का लाभ करा सकता है। कोई शुभ समाचार आपको प्रसन्न कर सकता है।

मिथुन लग्नराशि (Gemini) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह मिथुन राशि के जातको को कुटुंब के लोगो के साथ प्रेम भाव बढ़ सकता है। भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। इस हफ्ते रुका हुआ धन मिलने से आपकी आर्थिक स्थिति मैं बढ़ोत्तरी हो सकती है। नौकरी वर्ग के लोगो को थोड़ा उतार चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। कार्यक्षेत्र से सम्बंधित यात्राओं के योग रहेंगे। हफ्ते के मध्य में शारीरिक कष्ट तथा मन बेचैन हो सकता है। इस हफ्ते वैवाहिक जीवन मैं थोड़ा संभलकर रहने की सलाह दी जाती है। इस हफ्ते आपके द्वारा की गयी मेहनत का पूर्ण फल आपको प्राप्त होगा। छात्र वर्ग को कुछ अधिक परिश्रम करना पद सकता है।

कर्क लग्नराशि (Cancer) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह कर्क राशि के जातको को अनेक स्त्रोतों से धन लाभ की प्राप्ति मिल सकती है। इस हफ्ते आय के नए साधन आपको प्राप्त हो सकते है। छात्र वर्ग को यह हफ्ता अच्छी सफलता देने वाला सिद्ध हो सकता है। दी गयी परीक्षाओं मैं आपको सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते है। हफ्ते का बीच का भाग आपको सेहत से सम्बंधित कुछ दिक्क़ते दे सकता है। यात्राओं मैं शारीरिक परेशानी मिल सकती है। व्यर्थ के खर्चे आपको परेशान कर सकते है। इस हफ्ते आप अपना पारिवारिक तथा वैवाहिक जीवन बहुत अच्छा व्यतीत करेंगे। संतान सम्बन्धी कोई शुभ समाचार आपको मिल सकता है।

सिंह लग्नराशि (Leo) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह सिंह राशि के जातको को धन तथा सुखों की प्राप्ति होगी। पारिवारिक जीवन सुखद रहेगा अगर कोई समस्या बनी हुई थी तो उसका निराकरण इस हफ्ते हो सकता है। नौकरी तथा व्यापार को लेकर कोई अच्छी खबर इस हफ्ते आपको मिल सकती है। अधिकारी वर्ग इस हफ्ते आप पर मेहरबान बने रह सकते है। छात्र वर्ग इस हफ्ते अपनी पढ़ाई को लेकर कुछ असमंजस मैं बने रह सकते है। संतान से सम्बंधित कोई समस्या आपको परेशान कर सकती है।

कन्या लग्नराशि (Virgo) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह कन्या राशि के जातको के आत्मविश्वास मैं वृद्धि होगी। नौकरी पेशा वर्ग के जातको को अपने कार्यक्षेत्र मैं सफलता की प्राप्त होगी। इस हफ्ते कार्यक्षेत्र मैं अधिकारी वर्ग तथा सहकर्मियों के साथ मधुरता बनाये रखे। इस राशि से सम्बंधित कुछ जातको के कार्यक्षेत्र मैं बदलाव हो सकते है। शारीरिक परेशानिया से छुटकारा मिल सकता है। स्वास्थ्य उत्तम बना रहेगा। माता की सेहत का ध्यान रखे। इस हफ्ते मकान तथा किसी निवेश द्वारा आपको लाभ प्राप्त हो सकता है। जीवनसाथी के साथ स्तिथियाँ अच्छी हो सकती है। धन सम्बन्धी विषयो मैं इस हफ्ते आपको अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते है।

तुला लग्नराशि (Libra) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह तुला राशि के जातको को शुरुआती दिनों मैं कुछ शारीरिक दिक्क़ते बनी रह सकती है। अतः अपने खान-पान का उचित ध्यान रखे। इस हफ्ते आप अपनी वाणी की मधुरता के चलते लोगो से आसानी के अपने कार्य पूर्ण करा सकते है। इस हफ्ते भाइयो के कार्य तथा उनकी सेहत को लेकर चिंतित हो सकते है। कार्यक्षेत्र मैं स्तिथिया आपके अनुरूप बनी रहेगी। नौकरी कर रहे जातको को आगे बढ़ने के नए अवसरों की प्राप्ति हो सकती है। इस हफ्ते आपका पारिवारिक तथा वैवाहिक जीवन अच्छा तथा सुखमय बना रहेगा। धार्मिक कार्यो मैं रूचि बढ़ेगी।

वृश्चिक लग्नराशि (Scorpio) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह वृश्चिक राशि के जातक को कार्यो मैं सफलता हेतु अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। इस हफ्ते कार्यो को लेकर मन में बेचैनी बनी रह सकती है। इस हफ्ते पारिवारिक सदस्यों के साथ प्रेम भाव तथा सामंजस्य बनाये रखे लाभकारी रहेगा। व्यापार कर रहे जातको को कुछ अच्छे लाभ की प्राप्ति हो सकती है। सेहत का ध्यान रखे अधिक दौड़भाग के चलते शारीरिक थकान हो सकती है। इस हफ्ते जीवनसाथी का सहयोग कार्यो मैं आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। छात्रों के लिए हफ्ता सफलता भरा रह सकता है। धन सम्बन्धी दिक्क़ते इस हफ्ते कम हो सकती है।

धनु लग्नराशि (Sagittarius) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:-ॐ इस सप्ताह धनु राशि के जातको को कार्यक्षेत्र मैं कुछ नयी जिम्मेदारियाँ मिल सकती है। इस हफ्ते विरोधीपक्ष आप पर हावी होने की कोशिश कर सकता है, अतः सतर्क रहे। व्यापारी वर्ग के लोगो को इस हफ्ते अपने साझेदारो के साथ कुछ दिक्क्तों का सामना करना पड़ सकता है। वैवाहिक जीवन मैं समस्या बढ़ सकती है अतः जीवनसाथी को उचित समय दे। इस हफ्ते कार्यो को लेकर पूर्ण सोच विचार के उपरांत किसी नतीजे पर पहुंचे। किसी भी प्रकार के नकारात्मक विचारो से दूर रहे। परिजन आपकी मदद के लिए आगे आ सकते है। इस हफ्ते यात्राओं की अधिकता बनी रह सकती है। धन का व्यय भी अधिक रहेगा।

मकर लग्नराशि (Capricorn) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:-ॐ इस सप्ताह मकर राशि के जातको की आय मैं वृद्धि हो सकती है। इनकम के नए मार्ग आपको प्राप्त हो सकते है। छात्र वर्ग को इस हफ्ते अच्छे परिणाम प्राप्त हो सकते है। इस हफ्ते परीक्षाओं के परिणाम आपके पक्ष मैं आ सकते है। व्यापारी वर्ग के लोग इस हफ्ते अच्छे मुनाफे प्राप्त कर सकते है। प्रेम-सम्बन्धो को लेकर इस हफ्ते स्थितियाँ आपके मनोकुल बनेगी। सुखो में वृद्धि हो सकती है तथा उपहार प्राप्ति के योग बनेगे। संतान के कार्यो से प्रसन्न होंगे। हफ्ते के मध्य मैं आपके खर्चो मैं वृद्धि हो सकती है। स्वास्थ्य के लिहाज से हड्डियों तथा मांसपेशियों से सम्बंधित कोई परेशानी उभर सकती है।

कुंभ लग्नराशि (Aquarius) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह कुंभ राशि के जातको को कार्यक्षेत्र मैं अधिक परिश्रम करना पड़ सकता है। कार्यस्थल पर काम का बोझ आप पर अधिक बना रह सकता है। भौतिक सुख सुविधाओं मैं वृद्धि के आसार बन सकते है। अचानक धन प्राप्ति के योग बन सकते है। इस हफ्ते आपका नए लोगो से मिलना जुलना हो सकता है जो भविष्य मैं आपके लिए लाभकारी हो सकता है। छात्र वर्ग के लिए हफ्ता सामान्य तथा कम लाभ वाला रहेगा। इस हफ्ते प्रेम-सम्बन्धो को लेकर स्तिथिया कुछ गड़बड़ा सकती है। जीवनसाथी को इस हफ्ते नौकरी मैं अच्छा लाभ प्राप्त हो सकता है। संतान का ध्यान रखे।

मीन लग्नराशि (Pisces) : ➤ कलाशान्ति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल 09 दिसम्बर से 15 दिसम्बर तक:- ॐ इस सप्ताह मीन राशि के जातको के आत्मविश्वास मैं वृद्धि होगी। नौकरी कर रहे जातको के लिए हफ्ता सामान्य बना रहेगा। व्यापारी वर्ग के लोगो को इस हफ्ते अच्छे लाभ प्राप्त हो सकते है। इस हफ्ते कार्यो को लेकर नयी योजनाए बनाएँगे तथा उन पर अमल भी कर सकते है। विद्यार्थियों के लिए हफ्ता अच्छा बना रह सकता है। प्रेम-सम्बंधो को लेकर ये सप्ताह अच्छा बना रह सकता है। माता का भरपूर सहयोग आपको प्राप्त होगा। हफ्ते के मध्य मैं कुछ चिंताए तथा तनाव प्राप्त हो सकते है अतः सचेत रहे। वैवाहिक जीवन अच्छा बना रहेगा। हफ्ते का अंतिम भाग धन लाभ देने वाला हो सकता है। 

कलाशान्ति ज्योतिष
Call: - +91-6261231618

सनी-सोनाली की अगली फिल्म 'जय मम्मी दी' का पहला पोस्टर हुआ रिलीज

सनी-सोनाली की अगली फिल्म 'जय मम्मी दी' का पहला पोस्टर हुआ रिलीज

डिजिटल डेस्क। सनी सिंह और सोनाली सैगल अभिनीत फिल्म 'जय मम्मी दी' का पहला पोस्टर रिलीज हो गया है और यह अपने नाम की तरह बेहद मज़ेदार नज़र आ रहा है। पोस्टर में सनी और सोनाली दोनों शादी के लिबाज़ में सजे-धजे नज़र आ रहे है जिन्हें उनकी माताएं एक दूसरे से अलग करते हुए विपरीत दिशाओं में खींच रही हैं। पोस्टर से इस बात का अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि यह पारिवारिक कॉमेडी कहानी हँसी से भरपूर होने वाली है।

इससे पहले, दोनों की जोड़ी फ़िल्म 'प्यार का पंचनामा-2' में एक साथ स्क्रीन स्पेस साझा कर चुकी है और उनकी जोड़ी को दर्शकों द्वारा बेहद पसंद किया गया था। जिसके बाद, सनी और सोनाली अब एक अन्य मज़ेदार ड्रामा के साथ सिल्वर स्क्रीन पर वापसी कर रहे है जिसमें उन्हें निर्माता लव रंजन के साथ फिर से सहयोग करने का अवसर प्रदान हुआ है।

फिल्म "जय मम्मी दी" नवजोत गुलाटी द्वारा लिखित और निर्देशित है,और टी-सीरीज़ के भूषण कुमार और कृष्ण कुमार और लव फिल्म्स के लव रंजन और अंकुर गर्ग द्वारा निर्मित है l यह 17 जनवरी 2020 को रिलीज़ हुई।