comScore

विश्व सुंदरी के 'सम्मान' को लेकर आमने-सामने हुए खट्टर और हुड्डा

November 25th, 2017 19:24 IST
विश्व सुंदरी के 'सम्मान' को लेकर आमने-सामने हुए खट्टर और हुड्डा

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ। विश्व सुंदरी बनकर इंडिया का नाम रोशन करने वालीं मानुषी छिल्लर को लेकर उन्हीं के ही प्रदेश में वाद-विवाद शुरू हो गया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा मानुषी के मान सम्मान को लेकर आमने-सामने आ गए हैं। बता दें कि दोनों नेताओं के बीच ये शाब्दिक जंग मानुषी को प्रदेश की तरफ से दिए जाने वाले पुरस्कार को लेकर हो रही है।

हुड्डा ने कहा, मानुषी ने राज्य का नाम किया रोशन

दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि राज्य सरकार को मिस वर्ल्ड बनीं मानुषी छिल्लर को भी ओलंपिक खिलाड़ियों की तरह 6 करोड़ रुपए, जमीन और नौकरी देनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि मानुषी ने भी प्रदेश और पूरे देश का नाम रोशन किया है तो यह सम्मान उनको मिलना ही चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री कभी पैसे और जमीन से उठकर ऊपर बढ़ें

हुड्डा के यह सलाह दिए जाने पर मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा, 'पूर्व मुख्यमंत्री ने जो कहा है यह उनकी सोच और उनका मिजाज है क्योंकि उनकी सोच जमीन और नकदी तक ही सीमित है। व्यक्ति को इन सबसे ऊपर उठकर सोचना चाहिए।' खट्टर ने आगे कहा कि प्रतियोगिता में मानुषी ने जो जवाब दिया वो सच में बहुत ही उन्दा था। बता दें कि मानुषी से पूछा गया था कि किस पेशे में सबसे अधिक सैलरी होती है और क्यों। इस पर उन्होंने जवाब दिया था कि, 'सभी मां अपने बच्चों के लिए बहुत त्याग करती हैं। यह सब पैसे के लिए नहीं होता है। मुझे लगता है कि यह सब प्यार और सम्मान के लिए होता है। इसलिए मुझे लगता है कि मां का पेशा ही सबसे अधिक सैलरी के योग्य है।' 

मुख्यमंत्री के जवाब के बारे में पूछे जाने पर हुड्डा ने कहा, 'मैं जिस बारे में बात कर रहा हूं वह एक गंभीर मुद्दा है। जो मैंने कहा, मानुषी उस सम्मान के योग्य है। उसने पूरे राज्य और देश को गौरवान्वित किया है। लेकिन आज तक साक्षी मलिक को नौकरी नहीं मिली है। इसके अलावा कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें नौकरी दी जानी चाहिए थी, लेकिन पिछले तीन साल में कुछ नहीं हुआ है।' 

हुड्डा ने कहा, 'मेरा मानना है कि बेटियों को पूरा सम्मान मिलना चाहिए और ऐसी हल्की बातों से उनका अपमान नहीं किया जाना चाहिए। मुझे नहीं लगता है कि खट्टर साहब पर इसका आरोप लगाना चाहिए क्योंकि यह दर्द वही व्यक्ति समझ सकता है जिसकी अपनी बेटी होती है।' इस पर खट्टर ने कहा कि वह पूरे हरियाणा को अपना परिवार समझते हैं।

कमेंट करें
9VLn6