comScore

मोदी की शपथ में शामिल होंगे बंगाल में मारे गए BJP कार्यकर्ताओं के परिवार

मोदी की शपथ में शामिल होंगे बंगाल में मारे गए BJP कार्यकर्ताओं के परिवार

हाईलाइट

  • 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे नरेंद्र मोदी
  • प्रोटोकॉल के तहत सभी प्रदेशों के सीएम को भी निमंत्रण
  • बंगाल में बीजेपी को मजबूत करने उठाया कदम

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में मास्टर स्ट्रोक खेला है। बीजेपी ने पश्चिम बंगाल की राजनीतिक  हिंसा में मारे गए कार्यकर्ताओं को शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली बुलाया है। पार्टी के इस कदम को बंगाल में बीजेपी को मजबूत करने के कदम की तरह देखा जा रहा है।

राष्ट्रपति भवन में नरेंद्र मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे, जिसमें बिम्सटेक देशों के प्रमुख शामिल होने वाले हैं। इसके अलावा देश की अहम शख्सियतों और राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को भी शपथ ग्रहण में बुलाया गया है। सभी सांसदों के अलावा प्रोटोकॉल के तहत सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों को भी बुलाया गया है। इसके अलावा बड़े उद्योगपति, खिलाड़ी और फिल्म स्टार भी पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल हो सकते हैं। 

 

पश्चिम बंगाल में बीजेपी को आगे बढ़ाने के लिए अपनी जान गंवाने कार्यकर्ताओं के परिवार को भी शपथ ग्रहण में बुलाया है, ऐसे 54 लोग प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे। इन परिवारों के लिए दिल्ली में ठहरने और खाने पीने की व्यवस्था भी पार्टी ने ही की है। बीजेपी ने 16 जून 2016 से 26 मई 2019 तक राजनीतिक हिंसा का शिकार हुए कार्यकर्ताओं के परिवारों को निमंत्रण भेजा है, इसमें 16-06-2013 को मृत नृपेन मंडल का नाम भी शामिल है, बीजेपी का आरोप है कि इनकी हत्या टीएमसी के गुंडों ने की थी। बीजेपी के रिकॉर्ड के मुताबिक 23 मई 2019 को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भी दो कार्यकर्ताओं की हत्या की गई थी, जिनका नाम शांतू घोष और चंदन साव है। बीजेपी ने इनके परिवार को भी शपथ ग्रहण में बुलाया है। 

कमेंट करें
EpBbm