comScore

कॉलेज में युवक की हत्या, जिला अस्पताल में हंगामा

कॉलेज में युवक की हत्या, जिला अस्पताल में हंगामा

डिजिटल डेस्क, जलगांव। बाइक छू जाने को लेकर मुलजी जेठा महाविद्यालय में हुए विवाद में एक टोली के युवकों ने दो भाइयों को पहले बुरी तरह से पीटा। बाद में उनमें से एक व्यक्ति ने एक भाई की सीने में चॉपर घुसाकर हत्या कर दी। घटना शनिवार, 29 जून को दोपहर एक बजे मुलजी जेठा महाविद्यालय की वाहन पार्किंग में घटित हुई जिसके उपरांत परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा कर हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की। इस संदर्भ में रामानंद नगर पुलिस स्टेशन में हत्या का अपराध दर्ज कर फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

जानकारी के अनुसार मुकेश मुलजी जेठा महाविद्यालय में बी.कॉम (तृतीय वर्ष) का छात्र है। शनिवार को वह नियमित रूप से सुबह 10 बजे महाविद्यालय आया। उसका छोटा भाई रोहित (19) सेतु सुविधा केंद्र में काम करता है। वर्तमान में महाविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने के कारण रोहित बड़े भाई मुकेश व छोटे भाई सौरभ के साथ गांव के कुछ युवकों के प्रवेश कागजात तैयार कर उन्हें देने के लिए दोपहर 12.45 बजे महाविद्यालय आया था। इस समय एक मोटरसाइकिल पर ट्रिपल सीट युवक उसके आगे जा रहे थे। 

अचानक ब्रेक दबाने पर रोहित ने भी अपनी मोटरसाइकिल रोकी। इसी दौरान सामने से मोटरसाइकिल आने से दोनों बाइक छू गईं। इस बात को लेकर ट्रिपल सीट वाले युवक रोहित से उलझ गए और देखते ही देखते मारपीट शुरू कर दी। इस पर रोहित ने फोन कर बड़े भाई मुकेश को बुला लिया। तभी मारपीट करने वाले युवकों के कुछ और साथी भी वहां आ गए। उन्होंने रोहित एवं मुकेश को बुरी तरह पीटा। इसी समय उनमें से एक युवक ने कमर में रखा चॉपर निकाला और मुकेश के सीने में घुसा दिया। इसके बाद उसके सिर व सीने पर और एक-एक वार किया, जिसके कारण मुकेश बेहोश होकर जमीन पर गिर गया। यह देख मारपीट करने वाले युवक घटनास्थल से भाग खड़े हुए। रोहित ने दोस्तों की मदद से खून से लथपथ मुकेश को शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय एवं अस्पताल में दाखिल किया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

एक सीसीटीवी कैमरा बंद, एक का फुटेज अस्पष्ट
दो दिन पहले मुलजी जेठा महाविद्यालय में बिजली गिरने से महाविद्यालय के कुछ कम्प्यूटर एवं सीसीटीवी कैमरे बंद हो गए थे। इसमें से एक सीसीटीवी कैमरा घटनास्थल पर ही था, जिससे फुटेज उपलब्ध नहीं हो सके। घटना के समय जोरदार बारिश होने के कारण दूसरे कैमरे के फुटेज भी अस्पष्ट हैं। पुलिस अधीक्षक डाॅ. पंजाबराव उगले ने मुलजी जेठा महाविद्यालय में जाकर सीसीटीवी फुटेज प्राप्त किए। इसके बाद आरोपियों की पहचान कराई गई। 
 

कमेंट करें
MqP8x